Breaking Tube
Business Police & Forces

यूपी: इस तरीके से हजारों के जुर्माने पर देने होंगे मात्र 800 रूपये, मोबाइल में एम परिवहन और डिजीलॉकर एप से कागजात दिखाने पर नहीं होगा चालान

7500 Vehicle Invoice riots only 800 rupees in Motor Vehicle Act new Fine in Uttar Pradesh

1 सितंबर से पूरे देश भर में मोटर व्हीकल एक्ट (Motor Vehicle Act) लागू हो गया है. जिसके बाद से वाहन चालान (Vehicle Invoice) में बढ़े जुर्माने को लेकर लोगों में आक्रोश भी नजर आ रहा है. बता दें कि अगर वाहन चेकिंग (Vehicle Checking) के समय रजिस्ट्रेशन पेपर, ड्राइविंग लाइसेंस और बीमा के पेपर न होने पर अगर चालान हो जाए तो घबराएं नहीं बल्कि 12 दिन में सारे कागजात ट्रैफिक पुलिस के आफिस पहुंचाने पर जुर्माने की राशि कम हो जाएगी.


Also Read: यूपी: हेलमेट को लेकर लोग बना रहे मजेदार बहाने, चालान कटा तो गुस्साए इंस्पेक्टर ने छोड़ी बाइक, महिला बोली- जानते हो… मेरे पति दारोगा है


दरअसल, सीओ ट्रैफिक का कहना है कि चालान के समय पुलिस, फोटो स्टेट और सोशल मीडिया पर मौजूद दस्तावेजों को नहीं मानेगी. लिहाजा, अपने साथ ओरिजनल दस्तावेज रखें तो बेहतर होगा. उन्होंने बताया कि वाहन स्वामी अपने मोबाइल में डिजीलॉकर या एम परिवहन एप पर अपने दस्तावेजों को अपलोड कर लें. चेकिंग के दौरान पुलिस उसे देखने के बाद आपका चालान नहीं करेगी.


एएसपी ट्रैफिक पुर्णेन्दु सिंह का कहना है कि ‘यदि कोई बाइक सवार हेलमेट नहीं पहने हैं तो 500 रुपये, रजिस्ट्रेशन पेपर न रखने पर 2000, लाइसेंस न होने पर 2500 रुपये और प्रदूषण सर्टिफिकेट नहीं है तो 2500 रुपये यानी कुल 7500 रुपये का चालान कटेगा. लेकिन, वाहन चालक 12 दिन में ये सभी पेपर ट्रैफिक पुलिस को दिखा देता है तो इन तीनों की चालान राशि न्यूनतम 100-100 रुपये ही ली जायेगी. हेलमेट चालान की फीस तो 500 रुपये ही रहेगी. यानी अब उसे 800 रुपये (500+100+100+100) का ही जुर्माना भरना पड़ेगा’.


Also Read: लखनऊ: दर्द से कराह रही थी सड़क दुर्घटना में घायल युवती, रास्ते से गुजर रहे DGP ने रोकी गाड़ी और सिपाहियों की मदद से पहुंचाया अस्पताल


एएसपी ने कहा कि सभी लोग यातायात नियमों का पालन करें. पालन करने से आपकी जान तो बचती ही है, साथ ही आपको चालान कटने का भी डर नहीं रहेगा. इसलिए ट्रैफिक नियमों का पालन करें.


वहीं, वाहन चालान राशि बढ़ाए जाने के विरोध में आर्यन पार्टी ने रविवार को प्रदर्शन किया. पार्टी अध्यक्ष पंकज द्विवेदी ने कहा कि चालान के नए नियम जन विरोधी हैं. देश का एक बड़ा हिस्सा जीवन यापन के लिए 10 से 15 हजार रुपए की नौकरी कर रहा है. यदि भूलवश भी कोई गलती हो जाए तो पूरे माह का वेतन चालान में ही चला जाएगा.


Also Read: संपर्क खोने के बाद कश्मीरी युवक ने ISRO प्रमुख को लिखा पत्र, कहा- हम दोनों चाँद को लेकर परेशान है, आपके पास गले लगाने को PM मोदी थे…



( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

बलरामपुर: SP अनुराग आर्य के राज में कानून से खिलवाड़, रिश्वत लेकर धाराएं कम करता है चौकी प्रभारी

Jitendra Nishad

कंडोम से लेकर कॉफी तक की डिलीवरी करती है ये कंपनी, 24 घंटे सेवा उपलब्ध

Satya Prakash

दसवीं में फेल होने पर स्कूल से निकाला गया था, आज हैं अलीगढ़ के एसएसपी

S N Tiwari