Business Government

पाक के खिलाफ मोदी सरकार का एक और फैसला, MFN छीनने के बाद बेची जाएगी करोड़ो की शत्रु संपत्ति

modi government

बीते गुरुवार को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ जवानों के काफिले पर आत्मघाती हमला हुआ था. इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे. इस हमले की जिम्‍मेदारी पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने ली है. इस आतंकी हमले के बाद देशभर में पाकिस्‍तान को लेकर ग़म, आक्रोश और गुस्‍से का माहौल है. हर कोई पाकिस्‍तान को सबक सिखाने की मांग कर रहा है. इस माहौल में भारत सरकार की ओर से आर्थिक मोर्चे पर पाकिस्‍तान के विरोध में कई फैसले लिए गए हैं. भारत सरकार के द्वारा पाकिस्‍तान से मोस्‍ट फेवर्ड नेशन (MFN) का दर्जा छीना गया. इसके बाद पाकिस्‍तान से आने वाले प्रोडक्‍ट पर आयात शुल्‍क बढ़ा दिया गया. अब मोदी सरकार ने एक ऐसा फैसला लिया है. जिसके बाद पाकिस्‍तान को 3 हजार करोड़ का नुकसान हो सकता है.


Also Read: Pulwama Attack: शहीदों के लोन माफ़ करेगा स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, जल्द देगा बीमा राशि


बेंचे जायेंगे 3000 करोड़ रुपये के शत्रु शेयर

केंद्र की मोदी सरकार शत्रु संपत्ति अधिनियम के तहत 3 हजार करोड़ रुपये के शत्रु शेयरों को बेचने की तैयारी में है. य‍े वो शेयर हैं जो लोग पाकिस्‍तान में हैं और उनका शेयर भारतीय बाजार में बेकार पड़ा है तो उसे भारत सरकार बेच सकती है. सरकार का यह फैसला काफी अहम माना जा रहा है क्योंकि अब दशकों से बेकार पड़ी शत्रु संपत्ति को बेचा जा सकेगा. इसके लिए भारत सरकार की ओर से एक उच्चस्तरीय समिति का गठन किया गया है. यह समिति शत्रु शेयरों की बिक्री के लिए शेयरों की संख्‍या और कीमत की सिफारिश करेगी. इस समिति में शीर्ष सरकारी अधिकारी शामिल हैं. गृह मंत्रालय की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक इस समिति के प्रमुख संयुक्त रूप से गृह सचिव और निवेश एवं लोक संपत्ति प्रबंधन विभाग के सचिव होंगे.


Also Read: Pulwama Terror Attack: शहीद जवानों के परिवार की मदद के लिए आगे आया अंबानी परिवार, बच्चों की पढ़ाई से लेकर नौकरी तक का ख्याल रखेगा रिलायंस फाउंडेशन


तमाम चीजों पर लगा 200 प्रतिशत आयात शुल्क

हाल ही में मोदी सरकार ने पाकिस्‍तान से मोस्‍ट फेवर्ड नेशन का दर्जा छीन लिया है. इसका मतलब ये हुआ कि सरकार अब पाकिस्‍तान के व्यापारिक मामले में किसी भी तरह का रियायत नहीं करेगी. वहीं इस्लामाबाद से आने वाली सभी तमाम चीजों पर 200 प्रतिशत आयात शुल्क लगा दिया गया है. भारत और पाकिस्तान के बीच कुल द्विपक्षीय व्यापार 2017-18 में  2.41 अरब डॉलर रहा. इस दौरान भारत ने 48.85 करोड़ डॉलर का सामान पाकिस्तान से आयात किया, जबकि 1.92 अरब डॉलर का सामान निर्यात किया गया.



Also Read: वाराणसी: जब दिव्यांग युवक के जज्बे को देख पीएम मोदी ने लगा लिया गले, वीडियो वायरल


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


41 total views, 3 views today

Related news

सावधान: Google Store से ध्यान से करे एप डाउनलोड, कई भारतीय बैंकों के फर्जी एप मौजूद

Satya Prakash

17 गोलियां खाकर भी योगेंद्र करते रहे, देश की रक्षा

Satya Prakash

मोदी सरकार के कार्यकाल में “स्विस बैंकों” में भारतीयों का काला धन 80% घटा

Ambuj

Leave a Comment