Breaking Tube
Business Lifestyle

FSSAI ने किया चौकाने वाला खुलासा, वेजिटेरियन का लेबल चिपका धड़ल्ले से बेचे जा रहे नॉन वेजिटेरियन पदार्थ

फूड रेगुलेटर FSSAI ने चौकाने वाला खुलासा करते हुए कहा है कि, मार्केट में वेजिटेरियन के नाम पर वेजिटेरियन पदार्थ बेचे जा रहे है. FSSAI ने कहा कि, हेल्थ सप्लीमेंट जैसी चीजों में जिलेटिन शेल नाम की चीज मिलाई जा रही है जो नॉन वेजीटेरियन है. FSSAI ने इस मामले को लेकर सभी राज्यों को चिट्ठी लिखी है. और कहा है कि, इसकी जांच होनी चाहिए साथ ही इसके लिए एक अभियान चलाया जाए और देखा जाए कि प्रोडक्ट पर सही लेबलिंग का इस्तेमाल हो रहा है या नहीं.


Also Read: Satellites Advertisement: शहर में लगे होर्डिंग्स हुए पुराने, अब आसमान में चमकेगा आपका विज्ञापन


क्या है जिलेटिन शेल


जिलेटिन शेल जानवरों के हिस्सों से बनता है. कई बार मछलियों और अन्य जानवरों से बनता है. FSSAI का कहा है कि क्योंकि ये जानवरों से बनता है, इसलिए हेल्थ सप्लीमेंट पर रेड डॉट होना चाहिए यानी नॉन वेजिटेरियन लेबलिंग होनी चाहिए. इसके बजाय ये प्रोडक्ट्स ग्रीन डॉट से बेचे जा रहे हैं जो लेबलिंग कानून का उल्लंघन है.


Also Read: तेल खपत के मामले में चीन को पछाड़ सकता है भारत, पढ़ें मैकेंजी की यह रिपोर्ट


सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल होता है जिलेटिन


सौंदर्य प्रसाधनों में जिलेटिन हाईड्रोलाइज्ड कोलाजन के नाम से शामिल किया जाता है. जिलेटिन का उपयोग नेलपॉलिश रिमूवर तथा मेकअप के सामानों में भी किया जाता है. जिलेटिन को किसी मॉडल की प्राकृतिक त्वचा टोन से मेल खाने के लिए अक्सर विभिन्न रंगों में रंगा गया होता है.


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

इस लेडी पुलिस से अरेस्ट होने के लिए तरसते हैं लोग, देखें वायरल फोटोज

Satya Prakash

दसॉल्ट के CEO ने राफेल डील पर कांग्रेस के आरोपों को नकारा, बोले- राहुल गाँधी झूठ फैला रहे हैं

BT Bureau

बेली फैट को करना है कम तो रोजाना सिर्फ 60 सेकेंड तक करें ये काम

Satya Prakash