Business

मुश्किल समय में भाई ही भाई के आया काम, जेल जाने बचे अनिल अंबानी

कहते है मुश्किल समय में परिवार ही आपके काम आता है, और इसका उदाहरण अंबानी परिवार है जहां मुकेश अंबानी ने अनिल अंबानी की मदद को जेल जाने से बचा लिया. मुकेश अंबानी ने एरिक्सन के 550 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान कर दिया है. भाई-और भाभी द्वारा सही समय पर मदद मिलने पर अनिल ने उनका धन्यवाद किया और आभार भी जताया.


इतने बड़े संकट से उभरने के बाद आरकॉम के प्रवक्ता ने अनिल के हवाले से एक बयान में कहा, ”मैं अपने आदरणीय बड़े भाई मुकेश और भाभी नीता के इस मुश्किल वक्त में मेरे साथ खड़े रहने और मदद करने का तहेदिल से शुक्रिया करता हूं. समय पर यह मदद करके उन्होंने परिवार के मजबूत मूल्यों और परिवार के महत्व को रेखांकित किया है. मैं और मेरा परिवार बहुत आभारी है कि हम पुरानी बातों को पीछे छोड़ कर आगे बढ़ चुके हैं और उनके इस व्यवहार ने मुझे अंदर तक प्रभावित किया है.


Also Read: PF अकाउंट में जानिए अपना बैलेंस बस एक मिस्ड कॉल में, SMS के जरिए भी सेवा उपलब्ध


क्या है मामला


दरअसल यह मामला अनिल की यह मामला अनिल के नेतृत्व वाली रिलायंस कम्युनिकेशंस पर दूरसंचार उपकरण बनाने वाली स्वीडन की कंपनी एरिक्सन के करीब 550 करोड़ रुपये के बकाया का निपटारा करने से जुड़ा है. उच्चतम न्यायालय के आदेश के मुताबिक अनिल को मंगलवार तक एरिक्सन का बकाया चुकाना था अन्यथा उन्हें न्यायालय की मानहानि के मामले में जेल जाना पड़ता. बहरहाल, आरकॉम ने सोमवार को तय समयसीमा खत्म होने से एक दिन पहले ही एरिक्सन को 550 करोड़ रुपये के बकाये का भुगतान कर दिया. अनिल अंबानी के साथ-साथ आरकॉम की दो इकाइयों के चेयरमैन छाया विरानी और सतीश सेठ पर जेल जाने का खतरा मंडरा रहा था.


ख़त्म किया करार


कंपनी के बयान में कहा गया है कि आरकॉम ने एरिक्सन का 550 करोड़ रुपये और उसके ब्याज का पूरा भुगतान कर दिया है. एरिक्सन को भुगतान करने के तुरंत बाद आरकॉम ने रिलायंस जियो के साथ दूरसंचार संपत्तियों की बिक्री के लिये दिसंबर 2017 में किया गया करार समाप्त करने की घोषणा कर दी. यह सौदा 17,000 करोड़ रुपये का था.


Also Read: एटीएम कार्ड के बगैर भी निकाल सकेंगे पैसा, ऐसी सुविधा देने वाला देश का पहला बैंक बना एसबीआई


करीब 15 माह पहले अनिल अंबानी ने रिलायंस कम्युनिकेशंस की संपत्तियों की बिक्री अपने बड़े भाई मुकेश अंबानी की कंपनी को करने का करार किया था. दोनों समूहों ने सोमवार को इस करार को निरस्त करने की घोषणा करते हुए कहा कि सरकार और ऋणदाताओं से मंजूरी मिलने में देरी और कई तरह की अड़चनों यह समझौता समाप्त किया जाता है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

196 total views, 1 views today

Related news

सरकार की इस योजना के तहत कमा सकेंगे हर महीने 30 हजार, मिलेगा 2.5 लाख का अनुदान

Shivam Jaiswal

LPG के दामों में बढ़ोतरी, फिर बिगड़ा रसोई का बजट

Satya Prakash

JIO की तरफ से न्यू ईयर का तोहफा, इस रिचार्ज में मिलेगा पूरा पैसा वापस

BT Bureau

Leave a Comment