Breaking Tube
Business Government

यूपी वालों को योगी सरकार का तोहफा! सस्ती जमीन के साथ मिलेगा 50 हजार लोगों को रोजगार

Yogi Government will give jobs to 50 thousand people in Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार (Yogi Government) बहुत जल्द प्रदेश वासियों को बड़ा तोहफा देने वाली है. जिसका फायदा युवाओं को होगा. दरअसल, प्रदेश की सरकार ने इलेक्ट्रिक वाहनों को प्रोत्साहन देने के लिए यूपी में 600 इलेक्ट्रिक बसें (Electric Buses) चलाने के प्लान को मंजूरी दी है. इलेक्ट्रिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए सरकार बहुत समय से इस काम प्रयास कर रही थी. इसी के मद्देनजर सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स (Electric Vehicles Scheme) की यूनिट लगाने वाली कंपनियों को जमीन के सर्किल रेट और टैक्स में भी बड़ी छूट देने की योजना शुरू की है.


Also Read: अब घर पर ही देखें मूवी का फर्स्ट डे फर्स्ट शो, Reliance लांच करेगा JIO Giga Fiber, जानें 10 बड़ी घोषणाएं


इसी कड़ी में यूपी की राजधानी लखनऊ समेत प्रदेश के 11 शहरों में 600 इलेक्ट्रिक सिटी बसें चलाई जाएंगी. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक लखनऊ, कानपुर, आगरा में 100-100 बसें चलाने की योजना है. मथुरा, वाराणसी, गाजियाबाद और प्रयागराज में 50-50 बसें चलाने की योजना है. इसके अलावा बरेली, अलीगढ़, झांसी, मुरादाबाद में 25-25 बसें चलाई जाएंगी.


Also Read: बकरीद के मौके पर सूअर और गाय का मांस जबरन डिलीवर करवा रहा Zomato, न करने पर मिल रहीं धमकियां, हड़ताल पर बैठे सैकड़ों कर्मचारी


खबरों की माने तो पिछले महीने उद्योग मंत्रालय को 11 शहरों के लिए 1100 इलेक्ट्रिक सिटी बसें कॉन्ट्रैक्ट पर चलाने का प्रस्ताव भेजा गया था. इसमें से अभी सिर्फ 600 बसों को मंजूरी मिली है. बता दें कि मंत्रालय की ओर से एक बस के एवज में 45 लाख रुपये के मूल्य से 270 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद भी मिलेगी.


योगी सरकार ने इलेक्ट्रिक व्हीकल्स योजना पर 5 साल में 40 हजार करोड़ रुपये का इन्वेस्टमेंट करने का फैसला किया है. सरकार का मानना है कि इस योजना से 50 हजार लोगों को रोजगार मिलेगा. सरकार इलेक्ट्रिक व्हीकल्स की मेगा यूनिट लगाने वाले को जमीन खरीदने पर मार्केट या सर्किल रेट का 25 फीसदी रिबेट सहित कई सुविधाएं देगी. इसके साथ ही चार्जिंग स्टेशन के लिए प्राइवेट निवेशक को कैपिटल सब्सिडी दी जाएगी.


Also Read: 65 बिलियन डॉलर हुआ रिलायंस पर ऋण, क्रेडिट सुइस विश्लेषकों ने किया खुलासा


बताया जा रहा है कि सभी शहरों में इन बसों को कॉन्ट्रैक्ट पर चलाया जाएगा और इन ऑपरेटर्स का चयन टेंडर के जरिए होगा. बस संचालन करने वाली कंपनी को नगरीय परिवहन निदेशालय डिपो में करोड़ों की लागत से बनने वाले चार्जिंग शेड, रूट पर चार्जिंग प्वाइंट और बिजली उपकेंद्र समेत सभी संसाधन मुहैया कराएगा. बता दें कि रक्षाबंधन पर परिवहन निगम की बसों की तरह महिलाएं लखनऊ, कानपुर, आगरा, वाराणसी, मथुरा, प्रयागराज, मेरठ की सिटी बसों में भी नि:शुल्क सफर कर सकेंगी.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

यूपी: मानवाधिकार आयोग ने मुख्य सचिव को अदालत में पेश होने का दिया आदेश, ये है वजह

BT Bureau

7th Pay Commission: मोदी सरकार का बड़ा ऐलान, इन केंद्रीय कर्मचारियों की बढ़ेगी बंपर सैलरी

BT Bureau

शौचालय में टमाटर की दुकान देख मंत्री का चढ़ा पारा, गड़बड़ी पर सचिव की लगा दी क्लास

Ambuj