Breaking Tube
Crime

Shocking: आरोपी को छोड़ने के बदले पुलिसवालों ने मांगी डेढ़ करोड़ की फिरौती, 3 पुलिसकर्मी बर्खास्त, SHO लाइन हाजिर

delhi Police

जब पुलिसकर्मियों की खुद अपराधों में संलिप्तता पाई जाने लगती है तो लोगों का कानून के ऊपर से विश्वास डगमगाने लगता है। एक ऐसे ही अपराध में चार पुलिसकर्मियों की संलिप्तता पाए जाने पर तीन पुलिसवालों को बर्खास्त कर दिया गया है। वहीं, इसी मामले में एसएचओ को लाइन हाजिर कर दिया गया है। इन सभी पुलिसवालों पर एक आरोपी को किडनैप कर फिरौती मांगने का आरोप लगा है।

 

पुलिस ने छह आरोपियों को किया गिरफ्तार 

जानकारी के मुताबिक, इस हैरान कर देने वाले मामले में पुलिस ने कुल छह आरोपियों में से पाच आरोपियों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, प्रदीप पुलिस की पकड़ से बाहर था। बताया जाता है कि उत्तम नगर में प्रापर्टी डीलर सचिन का परिचय छत्तीसगढ़ पुलिस के साथ ही रणहौला थाने से भी था। पूरा मामला बाहरी दिल्ली के रणहौला थाना इलाके का है, जहां से तीन पुलिसवालों को मौर्य एनक्लेव पुलिस थाना ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं, तीनों पुलिसवालों को तत्काल प्रभाव से बर्खास्त कर दिया गया है।

 

Also Read : BHU छात्रा से किया बेटे ने दुष्कर्म, मिर्जापुर CO और उनकी पत्नी के खिलाफ SC/ST एक्ट में मामला दर्ज

सूत्रों ने बताया कि दिल्ली के मौर्या इंक्लेव पुलिस ने मंगलवार को एक युवक का अपहरण कर परिजनों से फिरौती मांगने के मामले में तीन पुलिसकर्मियों समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं इस मामले में रणहौला थाने के एसएचओ जसमोहिंदर सिंह को लाइन हाजिर कर जांच के भी आदेश दे दिए गए हैं। जांच से जुड़े वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि कंझावला निवासी प्रदीप के खिलाफ आनलाइन ठगी की एफआईआर छत्तीसगढ़ के धर्मतला इलाके में दर्ज है।

 

पुलिसकर्मियों ने प्रदीप को किया था किडनैप

बताया जा रहा है कि जानकारी के समझौते के तहत छत्तीसगढ़ पुलिस प्रदीप को पकड़ने दिल्ली पहुंची थी। इसी दौरान रणहौला थाने में तैनात एएसआई सूबे सिंह, हेड कांस्टेबल इंदू परमार और कांस्टेबल अजय ने रविवार को प्रदीप को कंझावला से किडैनप कर लिया और उसे उत्तम नगर स्थित सचिन के ऑफिस में बंधक बना दिया।

 

Also Read : बुलंदशहर हिंसा: योगेश राज के बाद सामने आया दूसरा आरोपी, इंस्पेक्टर पर लगाया पैसे लेकर गोकशी कराने का आरोप

 

इस दौरान इन पुलिसवालों ने दोनों राज्यों की पुलिस से बचाने और छोड़ने के लिए प्रदीप से डेढ़ करोड़ रुपये की मांग की। यही नहीं,  रणहौला थाने के पुलिसकर्मियों ने प्रदीप को रुपये नहीं देने पर झूठे मुकदमों में फंसाने तक की धमकी दी थी। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, प्रदीप से पुलिसकर्मियों ने एक करोड़ रूपए में डीलिंग कर ली, जिसके बाद सोमवार को प्रदीप ने 11 लाख रुपए पुलिसवालों तक पहुंचवा दिए।

 

Also Read : सामने आया बुलंदशहर हिंसा का पूरा Video, पत्थरबाजी कर रहे सुमित को गोली लगने के बाद हुई सुबोध कुमार की हत्या

 

खास बात ये रही कि 11 लाख मिलने के बाद पुलिसकर्मियों ने प्रदीप को पूरी रकम देने पर ही छोड़ने की बात कही। ऐसे में  प्रदीप ने अपनी पत्नी को फोन कर खुद के किडनैपिंग का मामला बताया और मंगलवार को बैंक से रुपए निकालने के लिए कहा। सूत्रों ने बताया कि प्रदीप की पत्नी नेहा अपने तीन चार रिश्तेदारों के साथ मंगलवार को मौर्या इंक्लेव स्थित द बनारस स्टेट बैंक में रुपये निकालने के लिए गई थी।

 

राहगीर की सूचना से सामने आया मामला

सूत्रों के मुताबिक, इस दौरान बैंक के सामने हेड कांस्टेबल इंदू परमार पहले से खड़ा था और उसने नेहा से रुपये मांगे। लेकिन नेहा ने पहले अपने पति से बात करने फिर रुपये देने की बात कही। ऐसे में पुलिसवाले ने पैसों की जिद की तो नेहा के साथ आए रिश्तेदारों ने पुलिसकर्मी को पीटना शुरू कर दिया।

 

Also Read: Video: बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज ने वीडियो जारी कर खुद को बताया बेक़सूर

 

इसी दौरान वहां से गुजर रहे एक राहगीर ने 100 नम्बर पर फोन कर पुलिस को सूचना दे दी। सूचना पर पहुंची पुलिस ने मामले की जांच की तो पूरी घटना सबके सामने आ गई। इसके बाद पुलिस ने इंदू परमार, सूबे सिंह एवं अजय को सचिन के साथ गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने जब उत्तम नगर स्थित सचिन के दफ्तर पर छापा मारा तो वहां पर छत्तीसगढ़ पुलिस भी मौजूद थी। वहीं, एसएसचओ की भूमिका पर सवाल उठाए जा रहे हैं। फिलहाल पुलिस पूरे मामले की जांच कर रही है।

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पहचान छुपाकर आसिफ खान बन बैठा आशु गुरु, आश्रम बुला बच्चियों से करता था दुष्कर्म

BT Bureau

नोएडा: सट्टेबाजी का विरोध करने पर VHP कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या, आरोपी फरार

BT Bureau

अंडरवर्ल्‍ड डॉन दाऊद के साथी मुन्‍ना झिंगाड़ा को थाईलैंड से भारत भेजने की तैयारी

Aviral Srivastava

Leave a Comment