Government

यूपी: सीएम योगी का सख्त निर्देश, सड़क पर मिला गोवंश तो मालिक भरेंगे 10 हजार का जुर्माना

yogi

आवारा गोवंशों की सुरक्षा को लेकर अब यूपी की योगी सरकार सख्त होती जा रही है और लगातार कठोर कदम उठा रही है. पहले अलीगढ़ शहर में पुलिस वालों को गाय पालने के बाद अब मेरठ शहर की सड़कों पर गोवंश छोड़ना पशुपालकों को काफी महंगा पड़ेगा. क्योंकि नगर निगम की टीम अब सड़क पर आवारा घूमते हुए गोवंशों को पकड़ेगी और पशु वापस करते समय इनके मालिकों से 10 हजार रुपये का जुर्माना भी वसूला जाएगा. जुर्माने से एकत्र होने वाली धनराशि पशुओं के चारे और पकड़ने वाले टीम में शामिल कर्मचारियों पर खर्च होगी.

 

Also Read: शिवपाल ने दिया अखिलेश को तगड़ा झटका, सपा का ये बड़ा मंत्री प्रसपा में शामिल

 

नगर निगम प्रशासन करेगी गोवंश रखने की व्यवस्था, विरोध करने वालों के खिलाफ होगी FIR

सीएम योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर नगर निगम ने इन गोवंशों को पकड़कर कांजी हाउस और गोशाला भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी है. नगर निगम प्रशासन ने 100 गोवंश को रखने की व्यवस्था कर ली है और सभी गोवंशों के लिए चारे की उपलब्धता भी की गई है. साथ ही शहर के साथ ही देहात में भी आवारा छोड़े गए गोवंश पकड़े जाएंगे और गोवंश को छोड़ने वाले उनके मालिकों से जुर्माना भी वसूला जाएगा. शहर की सड़कों पर घूमने वाले गोवंश को पकड़ने के लिए नगर निगम ने 1 ट्रक और 12 कर्मचारियों की तैनाती की है. जो दिन-रात शहर की सड़कों पर घूमने वाले गोवंश को पकड़ेंगे. गोवंश को पकड़ने का विरोध करने वालों के खिलाफ एफआईआर (FIR) भी दर्ज करायी जाएगी.

 

Also Read: दिल्ली सरकार गायों के लिए बनाएगा ‘पीजी हॉस्टल’, पशुओं पर लगेगा माइक्रोचिप

 

दुर्घटनाओं के मद्देनज़र की गयी वैकल्पिक व्यवस्था

शहर की डेयरियों में पल रहे पशुओं को अक्सर सुबह के समय दूध निकालने के बाद सड़कों पर छोड़ दिया जाता है. यह दिनभर सड़कों पर घूमते रहते हैं जिससे सड़क दुर्घटनाओं का भी खतरा बना रहता है. पूर्व में पशुओं के कारण कई बड़ी दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं. इसके अलावा आवारा पशुओं के कारण शहर की सड़कों पर जाम की समस्या भी बनती है. फ़िलहाल गोवंश को पकड़ने, चारा, पानी की व्यवस्था कर ली गई है. सड़क पर मिलने वाले गोवंश के मालिक से 10 हजार रुपये प्रति पशु जुर्माना वसूला जाएगा. फिलहाल 3 स्थानों पर वैकल्पिक व्यवस्था की है और स्थाई व्यवस्था परतापुर के बराल में की जा रही है.

 

Also Read: सीएम योगी की 75 परियोजनाओं में स्टूडेंट्स के लिए बहुत कुछ, UP के मेधावियों को बांटेगी लैपटॉप

 

गांवों के गोवंश को पकड़ेंगे ग्राम प्रधान

देहात में खड़ी फसलों को नुकसान पहुंचाने वाले और गली मोहल्लों में बेसहारा घूमने वाले गोवंश को पकड़कर आश्रय स्थल तक पहुंचाने, भरणपोषण की व्यवस्था ग्राम प्रधानों को करनी होगी. इसके लिए सीडीओ आर्यका अखौरी ने सभी ग्राम प्रधानों को निर्देश जारी कर दिए हैं और साथ ही पशुपालकों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने पशुओं को घर या घेरे में ही बांधकर रखें. पूरे प्रदेश में बेसहारा गोवंश की सुरक्षा और उनको उचित स्थान पर रखकर चारे आदि की व्यवस्था कराने के लिए अभियान शुरू हो गया है और इन सबके लिए सीएम योगी ने 10 जनवरी तक का समय दिया हुआ था. आज 10 जनवरी है तो सभी अधिकारी हरकत में आ गए हैं. जहां नगर निगम प्रशासन ने शहर की सड़कों पर घूमने वाले बेसहारा गोवंश को पकड़ने और उनके रखने की व्यवस्था कर दी है.

 

आवारा गोवंश यहां रखे जाएंगे

  • सूरजकुंड पर कांजी हाउस
  • सूरजकुंड वाहन डिपो और महापौर कार्यालय के बीच निगम की चार दीवारी के बीच
  • अछरोंडा में

 

Also Read: Video: कांग्रेसियों ने काले गुब्बारे उड़ाकर किया पीएम मोदी का विरोध, लगे ‘मोदी वापस जाओ’ के नारे

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अलवर लिंचिंग : पहले से गौ तस्करी के आरोप में वांछित था अकबर खान

Aviral Srivastava

हाईकोर्ट की ‘हमदर्दी’ से ‘पुरानी पेंशन बहाली’ आंदोलन को मिली नई ताकत, विधिक इकाई का गठन कर रहा मंच

Jitendra Nishad

भगोड़ा आर्थिक अपराधियों की अब ख़ैर नहीं, ‘भगोड़ा आर्थिक अपराधी विधेयक’ को मिली राष्ट्रपति की मंजूरी

BT Bureau