Breaking Tube
International Social

ईराक: खुदाई के दौरान मिली भगवान श्रीराम और हनुमान की 6 हजार साल पुरानी प्रतिमाएं, भारत सरकार को दी जानकारी

6 thousands years old Lord Rama and Lord Hanuman statues in Iraq

अयोध्या में भगवान श्रीराम का मंदिर बनवाने का मुद्दा लेकर भाजपा सरकार सत्ता में आयी थी. जिसके बाद से आज भी अयोध्या में किसी तरह का कोई भी मंदिर नहीं बना है. जिसके बाद से सत्ता के गलियारों में राम नाम की खूब राजनीति हुई. विपक्षियों ने तो भगवान श्रीराम के वजूद तक पर सवाल खड़े कर डाले. लेकिन भारत से हजारों किलोमीटर दूर ईराक में कुछ ऐसा हुआ है जिसने ये प्रमाण दिया है कि भगवान श्रीराम और उनके भक्त हनुमान जी की कथा सत्य है.


Also Read: पाकिस्तान पर PM मोदी का रुख कायम, जिनपिंग से कहा- आतंकवाद खत्म होने तक कोई बातचीत नहीं


हाल ही में मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार ईराक के सिलेमानिया इलाके में मौजूद बैनुला बाईपास के पास खुदाई में भगवान राम और हनुमान जी की दुर्लभ प्रतिमाएं पायीं गयी हैं. इन प्रतिमाओं के पाए जाने की पुष्टि खुद ईराक सरकार ने भारत द्वारा इस मामले पर मांगी गयी जानकारी के जवाब में पत्र लिखकर दी है. इतना ही नहीं ईराक सरकार के पुरातत्व विभाग का दावा है कि ये प्रतिमाएं करीब 6 हजार साल पुरानी हैं. प्रतिमाओं के मिलने के बाद भारत सरकार ने भी इन प्रतिमाओं से जुड़ी और जानकारी प्राप्त करने की इच्छा जाहिर की है. उत्तर प्रदेश के संस्कृति विभाग ने भी खासतौर पर अयोध्या शोध संस्थान ने इन प्रतिमाओं पर शोध करने की जरुरत बतायी है.


Also Read: अमेरिकी विदेश मंत्री करेंगे भारत का दौरा, दौरे से पहले पोम्पियो ने कहा- ‘मोदी है तो मुमकिन है’


भारत के लिए अच्छी बात ये है कि भारत के मित्र राष्ट्र ईराक ने इस विषय के महत्व को समझते हुए भारत के शोधकर्ताओं संस्कृति विभाग और अयोध्या शोध संस्थान को को इस विषय पर शोध करने के लिए ईराक आमंत्रित किया है और इस संबंध में पत्र भी लिखा है. उम्मीद जताई जा रही है कि जल्द ही शोधकार्ताओं का दल ईराक पहुंचा कर भगवान राम से जुड़े और तथ्य तलाश करेंगे. प्रतिमाओं के मिलने से भगवान राम का अस्तित्व और पुख्ता होता नजर आ रहा है, वैसे तो ये पूरे देश के लिये खुशी की बात है कि हमारी संस्कृति पूरी दुनिया में फैली हुई है.


Also Read: पाकिस्तान: महिला यात्री ने शौचालय समझकर खोला हवाई जहाज का आपातकालीन द्वार, आनन फानन में कराई गयी इमरजेंसी लैंडिंग


इस खबर की जानकारी जब अयोध्या पहुंची तो वहां के साधू-संतों में खुशी की लहर दौड़ गयी. अयोध्या संत समिति के अध्यक्ष महंत कन्हैया दास ने कहा कि ‘इसमें कोई चौकने वाली बात नहीं है कि ईराक में भगवान राम की प्रतिमा मिली है, ईराक ही नहीं और देशों में भी भगवान श्रीराम के अस्तित्व के प्रमाण मिलेंगे. जगदगुरु रामदिनेशाचार्य ने कहा कि ‘ये जानकारी प्रसन्नता देने वाली है. ये उन लोगों के गाल पर तमाचा है जो भगवान राम को काल्पनिक बताते चले आये और उनके अस्तित्व पर सवाल उठाते आये हैं, भारत सरकार को इस पर शोध कराना चाहिए’.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

अलीगढ़: पीड़ित परिजनों से मिलने जा रहीं साध्वी प्राची को जेवर में रोका, हिंदूवादियों ने यमुना एक्सप्रेस वे पर लगाया जाम

BT Bureau

अयोध्या के बाद अब काशी की धर्म संसद से गूंजेगी ‘मंदिर वहीं बनायेंगे’ की गूंज

BT Bureau

अमेरिका ने अपने नागरिकों से कहा- पाकिस्तान बिल्कुल मत जाइये, आतंकवाद से है खतरा

S N Tiwari