Breaking Tube
International

यूरोपियन संघ से लगी पाकिस्तान को ज़बरदस्त दुत्कार, कहा- भारत में आतंकी चाँद से नहीं पाकिस्तान से ही आ रहे हैं

पाकिस्‍तान (Pakistan) को कश्‍मीर मुद्दे (Kashmir Issue) पर एक के बाद एक झटके मिल रहे हैं. बावजूद इसके पाकिस्‍तान के पीएम इमरान खान (PM Imran Khan) समेत वहां के छोट-बड़े नेता इस मुद्दे को तूल देने से बाज नहीं आ रहे हैं. पाकिस्‍तान कश्‍मीर मुद्दे को लेकर कभी घुटने टेक देता है तो कभी इमरान खान पाक अधिकृत कश्‍मीर (PoK) के युवाओं को भारत में घुसपैठ के लिए उकसाते हैं. तमाम कोशिशों के बाद भी पाकिस्‍तान को अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय (International Community) से इस मुद्दे पर समर्थन नहीं मिल रहा है. इस बार यूरोपीय संघ (European Union) की संसद (Parliament) ने कश्‍मीर मुद्दे पर पाकिस्‍तान की किरकिरी कर दी है.


यूरोपीयन कंजरवेटिव्‍स एंड रिफॉर्मिस्‍ट समूह ने कहा – हमें भारत का समर्थन करना चाहिए

यूरोपीयन कंजरवेटिव्‍स एंड रिफॉर्मिस्‍ट समूह (European Conservatives and Reformists Group, Poland) के रिस्‍जार्द कजार्नेकी ने कहा कि भारत दुनिया के महान लोकतंत्रों में एक है. पोलैंड ने कहा कि हमें भारत (India) और खासकर जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकी हमलों (Terrorist Attack) को देखना होगा.  उन्‍होंने नाम लिए बिना पाकिस्‍तान पर निशाना साधते हुए कहा कि भारत में हमला करने वाले आतंकी चांद से नहीं उतरते हैं. ये आतंकी भारत के पड़ोसी मुल्‍क से ही आते हैं. ऐसे में हमें भारत का समर्थन करना चाहिए.


यूरोपीय पीपुल्‍स पार्टी के समूह के नेता फल्वियो मार्शिलो ने भी पाकिस्तान पर आतंकवाद को बढ़ावा देने के आरोप लगाए. उन्होंने यूरोपीय संघ की संसद में कहा, ”पाकिस्‍तान ने परमाणु युद्ध की धमकी दी है. पाकिस्‍तान ऐसा देश है, जहां बैठकर आतंकवादी बिना किसी डर के यूरोप में आतंकी हमले की साजिश रच सकते हैं. वहीं, पाकिस्‍तान में मानवाधिकारों का खुलेआम उल्‍लंघन हो रहा है और पाकिस्तान इस बात का जिक्र तक नहीं करता है.”


यूरोपीय आयोग की उपाध्यक्ष फेडेरिका मोघरिनी की तरफ से चर्चा की शुरुआत करते हुए यूरोपीय संघ की मंत्री त्यत्ती तप्पुरैनेन ने कहा, ‘‘कोई भी कश्मीर में और तनाव बढ़ने का जोखिम मोल नहीं ले सकता.’ यूरोपीय संघ की मंत्री ने भारत और पाकिस्तान से वार्ता के जरिए कश्मीर मुद्दा हल करने की मांग करते हुए नियंत्रण रेखा के दोनों तरफ की कश्मीरी आबादी के हितों के सम्मान में शांतिपूर्ण और राजनीतिक हल निकालने का आह्वान किया. उन्होंने भारत से घाटी में संचार के माध्यम बहाल करने की अपील की.


परमाणु युद्ध की धमकी देने पर उतर आए थे इमरान खान

आपको बता दें कि इसी साल पांच अगस्त को मोदी सरकार ने अनुच्छेद 370 खत्म किए जाने का एलान किया था. जिसके बाद से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. इमरान खान ने भारत से राजनयिक संबंध कम करने तक की बात कही. उन्होंने कश्मीर पर भारत के फैसले के बाद दिए गए इंटरव्यू और भाषणों में परमाणु युद्ध तक की बात ही. साथ ही उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय कश्मीर की स्थिति को देखे. तमाम अपील के बावजूद पाकिस्तान को हर तरफ मुंह की खानी पड़ी.


पाकिस्‍तान को नहीं मिल रहा अंतरराष्‍ट्रीय समुदाय का साथ

पाकिस्‍तान संयुक्त राष्ट्र के अलावा अन्‍य अंतरराष्‍ट्रीय मंचों पर जम्‍मू कश्‍मीर के मुद्दे का उठा चुका है, लेकिन कोई उसका साथ नहीं दे रहा है. यहां तक कि उसका हमेशा का मित्र राष्‍ट्र चीन (China) भी इस मामले पर खुलकर कुछ नहीं बोल रहा है. वहीं, अमेरिका (US) में पाकिस्‍तान के पूर्व राजनयिक हुसैन हक्‍कानी ने हाल में आरोप लगाया कि पाकिस्‍तान की खराब होती छवि के लिए इमरान सरकार और पाकिस्‍तान की सेना (Army) जिम्‍मेदार है.


Also Read: पाक मंत्री का टैलेंट देख लोग कर रहें हैं थू-थू, अपनी चैट को PM मोदी की बताकर बुरे फंसे फवाद हुसैन


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पाकिस्तान की नापाक हरकत, मोस्ट वांटेड फारुक देवड़ीवाला को फर्जी दस्तावेज दिखाकर अपने कब्ज़े में लिया

Aviral Srivastava

स्विट्जरलैंड: पब्लिक प्लेस पर ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोलना मुस्लिम युवक को पड़ा भारी, पुलिस ने लगाया 178 पाउंड का जुर्माना

BT Bureau

Google पर सर्च कीजिये ‘भिखारी’ तो आ रही है पाक पीएम इमरान खान की फोटो, पाकिस्तान ने जताई आपत्ति

Satya Prakash