Breaking Tube
International

पाकिस्तान ने हिंदू धार्मिक स्थल पंज तीर्थ को दिया राष्ट्रीय विरासत का दर्जा, क्षतिग्रस्त किया तो होगी 5 साल की जेल

हिंदू प्राचीन मंदिरों में एक पाकिस्तान के पेशावर स्थित प्राचीन हिंदू धार्मिक स्थल पंज तीर्थ को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार ने राष्ट्रीय विरासत घोषित किया है. इस मंदिर की खासियत यह की ये पांच सरोवरों में स्थित है इसलिए इसका नाम नाम पंज तीरथ पड़ा. इसके अलावा यहां मंदिर और खजूर के पेड़ों वाला उद्यान है ब विरासत स्थल के पांचों सरोवर चाचा युनूस पार्क और खैबर पख्तूनख्वा चैंबर ऑफ कामर्स एंड इंडस्ट्री के दायरे में आते हैं.

 

Also Read: ‘खतने’ के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने उठाई आवाज़

 

इस मंदिर के बारे में कहा जाता है कि, इस मंदिर का संबंध महाभारतकालीन राजा पांडू से है. जो इस क्षेत्र से ताल्लुक रखते थे. लेकिन बाद में 1747 में अफगान दुर्रानी राजवंश के शासनकाल के दौरान यह स्थल क्षतिग्रस्त हो गया, जिसके बाद 1834 में सिख शासन के दौरान स्थानीय हिंदुओं ने इसका फिर से निर्माण किया. हिंदू समुदाय के लोग इन सरोवरों में स्नान करने के लिए कार्तिक के महीने में आते थे और पेड़ों के नीचे दो दिनों तक पूजा करते थे.

 

Also Read: 30 साल पुराना चर्च मंदिर में होगा तब्दील, पढ़ें पूरी खबर

 

क्षतिग्रस्त किया तो होगी 5 साल की जेल

 

खैबर पख्तूनख्वा पुरातत्व एवं संग्रहालय निदेशालय ने अधिसूचना जारी करके केपी ऐंटिक्वीटीज एक्ट 2016 के तहत पंज तीरथ पार्क की भूमि को विरासत स्थल घोषित किया है. सरकार ने बड़ी सख्ती से यह फरमान सुनाया है की इस ऐतिहासिक स्थल को क्षतिग्रस्त करने का दोषी पाये जाने वाले व्यक्ति को 20 लाख रुपये का जुर्माना और पांच साल तक की सजा होगी.

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दिल्ली: IGI एयरपोर्ट पर पकड़ा गया एक और आतंकी

Ambuj

पाकिस्तान की आर्थिक मदद के सहारे चीन ने की भारत को घेरने की तैयारी!

Satya Prakash

Video: सांता क्लॉज बनकर बीमार बच्चों के पास पहुंचे बराक ओबामा, अस्पताल के स्टाफ को कहा धन्यवाद

BT Bureau

Leave a Comment