Breaking Tube
International Social Media

मलेशिया के PM को सोशल मीडिया पर लगी जमकर लताड़, ट्रेंड हुआ #BoycottMalaysia, कश्मीर पर की थी विवादित टिप्पणी

मलेशियाई (Malaysian) प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद (PM Mahathir Mohamad) ने संयुक्त राष्ट्र में कश्मीर का मुद्दा उठाते हुए आरोप लगाया कि भारत ने जम्मू-कश्मीर पर ‘आक्रमण करके कब्जा’ किया है. उन्होंने कहा कि भारत को इस मुद्दे के समाधान के लिये पाकिस्तान के साथ काम करना चाहिये. मलेशियाई प्रधानमंत्री ने शुक्रवार को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने संबोधन में कहा कि जम्मू-कश्मीर में भारत की कार्रवाई के कारण हो सकते हैं ‘लेकिन इसके बावजूद यह गलत है. अपने बयान को महातिर ने ट्वीटर पर पोस्ट किया जिसके बाद यूजर्स ने उनको जमकर लताड़ लगायी महातिर की टिप्पणी पर ट्वीटर पर कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिली.


भारतीय यूजर्स ने मलेशियाई कि एसी क्लास ली कि BoycottMalaysia ट्विटर पर ट्रेंड करने लगा. एक यूसर्स सुनीता गुप्ता @Sunitagupta__ लिखती हैं, “60% मुस्लिम जनसंख्या होने पर मलेशिया इस्लामिक राष्ट्र बन गया… और वो सेकुलरिज्म पर 80% हिन्दू जनसंख्या वाले भारत को ज्ञान दे रहा है कि भारत धार्मिक आधार पर भेदभाव ना करे”.



एक यूजर्स श्रीराम @bjplao लिखते हैं, “हंसी तब आती है जब मलेशिया, पाकिस्तान और तुर्की जैसे देश विश्वमंच पर खड़े होकर भारत को सेकुलरिज्म का लेक्चर देते हैं. पाकिस्तान का पूरा नाम इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ पाकिस्तान है, क्या वो खुद सेकुलर देश है? दुनिया के 57 इस्लामिक देशों में से कौन सा सेकुलर देश है, कोई बताए ? “



इंडिया टीवी के न्यूज एंकर अर्चना सिंह लिखती हैं, ” मलेशिया 2020 तक 10 लाख भारतीय पर्यटकों के आने कि उम्मीद कर रहा है और उसके पीएम @chedetofficial कश्मीर के बारे में #UNGA में पाकिस्तान का प्रोपोगंडा फैला रहे हैं, अगर आपके टूरिस्ट डेस्टिनेशन में अगली जगह #Malaysia है तो उसे हटा दीजिए. #BycottMalaysia#NoMalaysia



एक यूजर्स अर्पिता जाना @arpitajtweets लिखती हैं, “मलेशिया जिसने 60% मुस्लिम जनसंख्या होनेके कारण देशको इस्लामी राष्ट्र घोषित कर दिया। उसके PM UN में कश्मीरके विषयमें भारत को आक्रमणकारी बता रहा है। दोगलापन ये है कि वो चाहता है भारत 80% हिंदू जनसंख्याके बाद भी सेकुलर देश ही बना रहें, खुद सेकुलर देश क्यों नहीं बने?”



मलेशियाई प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने संयुक्त राष्ट्र में कहा कि संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों के बावजूद जम्मू-कश्मीर पर ‘आक्रमण और कब्जा’ किया गया. उन्होंने कहा, ‘संयुक्त राष्ट्र की अनदेखी से अन्य द्वारा संयुक्त राष्ट्र और कानून के शासन की अवहेलना के मामले सामने आएंगे. उन्होंने कहा, ‘भारत को इस समस्या को हल करने के लिए पाकिस्तान के साथ काम करना चाहिए.


महातिर ने बाद में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि जब प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने रूस में मुलाकात के दौरान उन्हें यह बताया कि उनकी सरकार ने जम्मू-कश्मीर से विशेष दर्जा क्यों वापस लिया तो उन्होंने अपने भारतीय समकक्ष को कश्मीर मुद्दे को आक्रमण के बजाय बातचीत के जरिये हल करने की सलाह दी थी.


भारत ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय को स्पष्ट रूप से कहा है कि अनुच्छेद 370 को खत्म करना उसका एक आंतरिक मामला है. भारत कश्मीर को लेकर भारत-पाकिस्तान के बीच तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की किसी भी गुंजाइश को यह कहते हुए अस्वीकार कर चुका है कि दोनों देश द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा कर उन्हें हल कर सकते हैं.


Also Read: Video: पाक समर्थकों ने किया पाकिस्तान मूल के लेखक तारेक फतेह पर हमला, PM मोदी का समर्थन करने पहुंचे थे न्यूयॉर्क


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अदनान सामी का पाकिस्तानी ट्रोलर्स को करारा जवाब, बोले- तुम्हारी सोच पर हंसी आती है…

admin

बस कुछ दिनों में पूरी दुनिया में हो जायेगा Wi-Fi मुफ्त, तेज स्पीड इंटरनेट का उठा सकेंगे फायदा

Satya Prakash

IMF ने मोदी सरकार के आर्थिक सुधारों को सराहा, बोली- मोदी राज में ‘बेहद ठोस’ रहा भारत का विकास

BT Bureau