Breaking Tube
International

अमेरिकी विदेश मंत्री करेंगे भारत का दौरा, दौरे से पहले पोम्पियो ने कहा- ‘मोदी है तो मुमकिन है’

Mike Pompeo travel in india

आने वाली 24 जून काे अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का भारत दौरा होगा. अपने दौरे से पहले उन्होंने भाजपा के चुनावी स्लोगन ‘मोदी है तो मुमकिन है’ का जिक्र करते हुए भारत के पीएम नरेंद्र मोदी और विदेश मंत्री एस जयशंकर प्रसाद की तारीफ की. पोम्पियो का भारत दौरा ओसाका में 28 और 29 जून की जी-20 समिट से पहले होगा. इस दौरान मोदी-ट्रंप की मुलाकात को लेकर जमीन तैयार की जाएगी. पोम्पिओ 24 से 30 जून तक भारत, श्रीलंका, जापान और दक्षिण कोरिया की यात्रा करेंगे.


Also Read: PM मोदी को मिला मालदीव का सर्वोच्‍च नागर‍िक सम्‍मान, कहा- मालदीव और भारत की दोस्‍ती अमर रहे


बुधवार को भारत-अमेरिका व्यापार परिषद की बैठक में पोम्पियो ने कहा कि ‘मैं देखना चाहता हूं कि मोदी दोनों देशों के रिश्तों को और मजबूत कैसे बनाते हैं. मैं अपने समकक्ष जयशंकर से मिलने के लिए भी उत्साहित हूं, वे एक मजबूत साथी हैं’.


Image result for माइक पोम्पियो and modi

पोम्पियो ने कहा कि ‘हम भारत की नई सरकार के साथ बातचीत जारी रखेंगे. मोदी ने अपने चुनाव अभियान में कहा था- ‘मोदी है तो मुमकिन है’. अब देखना है कि वह दुनिया के साथ रिश्तों और भारत की जनता से किए वादों को कैसे संभव बनाते हैं. उम्मीद है कि वे अमेरिका के साथ रिश्तों को और मजबूत करेंगे. भारत यात्रा के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप प्रशासन के ‘महत्वाकांक्षी एजेंडे’ पर बातचीत होगी’.


Also Read: पाकिस्तान: महिला यात्री ने शौचालय समझकर खोला हवाई जहाज का आपातकालीन द्वार, आनन फानन में कराई गयी इमरजेंसी लैंडिंग


उन्होंने कहा कि ‘भारत के चुनाव नतीजों से आश्चर्यचकित नहीं हुआ, बल्कि मैं जानता था कि पीएम मोेदी नए तरीके के नेता हैं. उन्होंने एक राज्य को 13 साल दिए. चायवाले के बेटे हैं और गरीब से गरीब का विकास उनकी प्राथमिकता में है. उन्होंने भारत के करोड़ों घरों में बिजली और गैस चूल्हे पहुंचाए हैं’.


पोम्पिओ ने कहा कि ‘ट्रंप के नेतृत्व में अमेरिका रक्षा सहयोग को एक नए आयाम पर लेकर गया है, उन्होंने हिंद-प्रशांत के लिए साझे दृष्टिकोण को मजबूत किया है और आतंकवाद के लिए पाकिस्तान के अस्वीकार्य सहयोग के खिलाफ कड़ा रुख अपनाया है’.


Also Read: UK becomes favourite safe haven for fugitives


आगे उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच रिश्तों में बीते कुछ समय में गिरावट देखी गई है. कुछ दिन पहले ट्रंप ने भारत को जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रेफरेंसेज (GSP) से बाहर करने का फैसला किया था. जीएसपी के तहत भारत जो उत्पाद अमेरिका भेजता है उन पर वहां आयात शुल्क नहीं लगता. हालांकि, अमेरिका का आरोप है कि भारत अपने यहां पहुंचने वाले अमेरिकी उत्पादों पर भारी आयात शुल्क लगाता है, जिससे उसे नुकसान होता है.


इसके अलावा भारत के रूस से एस-400 मिसाइल डिफेंस सिस्टम खरीदने पर भी अमेरिका ने नाराजगी जताई. अमेरिका ने भारत पर प्रतिबंध लगाने की धमकी भी दी. वहीं, ईरान और वेनेजुएला से तेल आयात पर भी अमेरिका ने रोक लगाई है.


Also Read: एलियंस के मौजूद होने पर वैज्ञानिकों का बड़ा खुलासा, आज भी स्पेस में हैं @#$..


पोम्पिओ ने कहा कि ‘अब ट्रंप और मोदी प्रशासन के पास इस विशेष साझेदारी को और आगे ले जाने का ‘अद्वितीय अवसर’ है. उन्होंने कहा कि उनके पास अपने नए समकक्ष जयशंकर के रूप में मजबूत साझीदार है. जयशंकर अमेरिका में भारत के राजदूत भी रहे हैं’.


उन्होंने कहा कि ‘अप्रैल में अपने एक भाषण में पीएम मोदी ने कहा था कि वह अमेरिका के साथ और अच्छे संबंध बनाना चाहते हैं और यह भावना दोनों ओर से है. हम आगे बढ़ना चाहते हैं’. पोम्पिओ ने कहा कि इसके लिए दोनों देशों को अब तक के सबसे मजबूत संबंध बनाने होंगे.


Also Read: विदेश मंत्री के बाद अब पीएम इमरान की गुहार, प्लीज! हमसे बातचीत करे हिंदुस्तान


पोम्पिओ ने कहा कि ‘यह स्वाभाविक है कि दुनिया में सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश को दुनिया के सबसे पुराने लोकतंत्र के साथ हाथ मिलाना चाहिए ताकि वे हिंद-प्रशांत के लिए अपनी साझी सोच को आगे ले जा सकें और हमें यह करके दिखाना होगा’.


उन्होंने कहा कि ‘ये बड़ी उपलब्धियां हैं, लेकिन हम और हासिल करना चाहते हैं. रक्षा, ऊर्जा और अंतरिक्ष में हमारे स्पष्ट रूप से साझे हित हैं’.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

आखिरकार डोनाल्ड ट्रंप को आई अकल, कहा- भारत-पाक का आपसी मामला है कश्मीर, किसी भी तरह की दखलअंदाजी हम नहीं करेंगे

S N Tiwari

ब्रिटेन: बोरिस जॉनसन की कैबिनेट में भारतीय मूल की पहली गृहमंत्री बनीं प्रीति पटेल, PM मोदी की हैं प्रशंसक

S N Tiwari

पाकिस्‍तान के नए राष्‍ट्रपति डॉक्‍टर आरिफ अल्‍वी जिनके पिता थे जवाहर लाल नेहरु के ‘डेंटिस्‍ट’

BT Bureau