International

भारत में बढ़ती भीड़ हिंसा को लेकर पाकिस्तान ने पीएम मोदी पर ऐसे साधा निशाना

पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान को इन दिनों अपने देश से ज्यादा दूसरे देशों की चिंता सता रही है. अभी कुछ दिन पहले नासिरुद्दीन शाह मामले में अल्पसंख्यकों के साथ कैसे व्याहार करने पर उन्होंने टिप्पड़ी दी थी, जिसके बाद उनकी खूब किरकिरी हुई थी. इस बार पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) ने एक ट्वीट करके फिर से भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी सरकार पर सवाल उठाएं है. पीटीआई के ट्विटर हैंडल से लिखा गया कि दो देशों की सरकारें (भारत और पाकिस्तान) अल्पसंख्यकों के साथ कैसा बर्ताव करती हैं. इस ट्वीट में पीटीआई ने पीएम इमरान खान की तुलना पीएम नरेंद्र मोदी से की है जो खुद में एक मजाक है.

 

Also Read: ‘खतने’ के खिलाफ मुस्लिम महिलाओं ने उठाई आवाज़

 

गौरतलब है की पाकिस्तान ने हालही में हिंदू धार्मिक स्थल पंज तीरथ को राष्ट्रीय विरासत घोषित किया है. ऐसे में वो खुद को अल्पसंख्यक समाज का हितैषी बता भारत में कथित गो हत्या की बढ़ती घटनाओं पर मोदी सरकार पर निशाना साध रहा है. PTI की इस ट्वीट में कहा गया कि, ‘प्रधानमंत्री इमरान खान मानवता और अल्पसंख्यक को अधिकार देने में विश्वास करते हैं. करतारपुर बॉर्डर के बाद पंज तीरथ को राष्ट्रीय धरोहर करार देना इस बात का प्रमाण है कि भारत में सिर्फ धर्म के नाम पर अल्पसंख्यकों की रोज हत्या की जाती है और यही फर्क इमरान खान को एक महान नेता बनाता है.’ जानना चाहिए कि ट्वीट के साथ इमरान और नरेंद्र मोदी की तस्वीर भी शेयर की गई है.

 

 

Also Read: पाकिस्तान ने हिंदू धार्मिक स्थल पंज तीर्थ को दिया राष्ट्रीय विरासत का दर्जा, क्षतिग्रस्त किया तो होगी 5 साल की जेल

 

PTI की इस ट्वीट में एक तस्वीर के माध्यम से पाकिस्तान को इमरान खान का नया पाकिस्तान बताते हुए लिखा गया, ‘पाकिस्तान ने हिंदू धार्मिक स्थल पंज तीरथ को राष्ट्रीय धरोहर घोषित किया.’ दूसरी तस्वीर में मोदी का इंडिया बताते हुए लिखा, ‘भारत में गाय की चोरी के आरोप में एक मुस्लिम शख्स की हत्या कर दी गई.’ ट्वीट को दो देश, दो नेता और दो दिन, दो खबर नाम दिया गया है.

 

बिहार भीड़ हिंसा का उठाया मामला

गौरतलब है की जिस मामले का जिक्र PTI कर रही है वो बिहार के अररिया जिले की है, जहां मवेशी चुराने के शक पर 55 साल के बुजुर्ग की भीड़ ने पीट-पीट कर हत्या कर दी. घटना के वक्त काबुल मियां पर लगभग 300 लोग टूट पड़े थे. सबसे हैरत की बात है कि हमलावरों ने तब घटना का वीडियो भी बनाया, जो कि बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हुआ. इस मामले के बाद बिहार की राजनीती काफी गरमा गई थी, साथ ही इस मुद्दे पर पूरे देश में बयान बाजी हुई थी.

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

36 total views, 1 views today

Related news

Pulwama Attack: अमेरिका, रूस सहित सभी बड़े देशों ने की पुलवामा आतंकी हमले की कड़ी निंदा

Shivam Jaiswal

भारतीय फुटबॉल टीम को चीयर करना फैंस को पड़ा महंगा, शेख ने किया पिंजड़े में बंद, वीडियो वायरल

BT Bureau

पूर्व राष्ट्रपति मुशर्रफ ने माना पुलवामा हमले में जैश का हाथ, बोलें- मुझपे भी जैश ने हमला किया था

Shivam Jaiswal

Leave a Comment