Breaking Tube
Business International

भारत का अमेरिका को करारा जवाब, 29 US उत्पादों पर दोगुनी होगी इंपोर्ट ड्यूटी

अमेरिका (US) को उसी की भाषा में जवाब देने के लिए भारत अमेरिका से इंपोर्ट होने वाले कई कृषि उत्पाद समेत 29 आइटम पर इंपोर्ट ड्यूटी (Import Duty) बढ़ाने जा रहा हैं. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मोदी सरकार एग्री प्रोडक्ट, स्टील उत्पाद पर इंपोर्ट ड्यूटी डबल करने की तैयारी कर ली है. हालांकि, 800 सीसी की क्षमता वाली मोटरसाइकिल पर ड्यूटी नहीं बढ़ेगी. इसका मतलब साफ है कि अमेरिका को अब अपने प्रोडक्ट भारत में बेचने के लिए ज्यादा टैक्स चुकाना होगा. इसको लेकर सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जल्द जारी हो सकता है.


भारत को मिलेगा सालाना 21.7 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त रेवेन्यू

भारत सरकार के इस फैसले 29 आइटम्स का निर्यात करने वाले अमेरिकी निर्यातकों पर असर पड़ेगा. भारत को इनके इंपोर्ट से सालाना 21.7 करोड़ डॉलर का अतिरिक्त रेवेन्यू मिलेगा. हालांकि भारत पिछले एक साल से टैरिफ लगाने के फैसले को टालता आ रहा है. यह टैरिफ बीते साल मई में लगाया गया था. इस बार यह डेडलाइन 16 जून को खत्म हो रही है. अमेरिका द्वारा चुनिंदा स्टील और एल्युमीनियम उत्पादों पर भारी कस्टम ड्यूटी लगाने के फैसले के बाद जून में भारत में अमेरिका के कई उत्पादों पर ड्यूटी लगाने का ऐलान किया था.


अमेरिका के अड़ियल रुख के बाद भारत का करारा हमला

भारत को उम्मीद थी कि अमेरिका के साथ बातचीत के क्रम में एक ट्रेड पैकेज पर सहमति बन सकती है, लेकिन इस बातचीत को हाल में तब झटका लगा था, जब अमेरिका ने अपने जनरलाइज्ड सिस्टम ऑफ प्रिफरेंस (जीएसपी) प्रोग्राम के अंतर्गत भारत निर्यातकों को दिए जा रहे एक्सपोर्ट इंसेंटिव वापस ले लिए थे. ये बेनिफिट्स 5 जून से वापस ले लिए गए. इससे भारत से अमेरिका को होने वाले 5.5 अरब डॉलर के इंपोर्ट पर असर पड़ेगा.


क्या है जीपीएस स्कीम

जीपीएस स्कीम के तहत अमेरिका चुनिंदा देशों के हजारों उत्पादों को शुल्क से छूट देकर आर्थिक वृद्धि को बढ़ावा देने का काम करता है. इसमें ज्यादातर विकासशील देश आते हैं. लगभग 120 विकासशील देशों को जीपीएस का लाभ मिलता है.


इन प्रोडक्ट पर बढ़ सकती हैं ड्यूटी


  • काबूली चने पर 30 फीसदी से बढ़ाकर ड्यूटी 70 फीसदी करने की तैयारी है.
  • चने पर ड्यूटी 30 फीसदी से से बढ़ाकर 70 फीसदी हो सकती है.
  • वहीं, मसूर दाल पर 30 फीसदी से बढ़ाकर 70 फीसदी हो सकती है.
  • सेब पर 50 फीसदी की जगह अब 75 फीसदी टैक्स लगेगा.
  • साबूत अखरोट पर 30 फीसदी की बजाय 120 फीसदी टैक्स लगेगा
  • आयरन के फ्लैट रोल्ड प्रोडक्ट 15 फीसदी  से बढ़कर 27.5 फीसदी करने की तैयारी है
  • स्टील के फ्लैट रोल्ड प्रोडक्ट 15 फीसदी से बढ़कर 22.5 फीसदी हो सकता है.

Also Read: वर्ल्ड बैंक का दावा- भारत 7.5 फीसदी की रफ्तार से करेगा विकास, चीन रहेगा फिसड्डी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मुसलमानों को ‘देशभक्त’ बनाने के लिए जबरन ट्रेनिंग कैम्पों में ठूस रही चीनी सरकार

BT Bureau

नीरव मोदी को ब्रिटेन कोर्ट से एक और झटका, अदालत ने खारिज की जमानत याचिका

BT Bureau

अगर क्रिसमस को बनाना है हमेशा के लिए यादगार तो जायें ये जगह

Satya Prakash