Breaking Tube
International

आतंक के पोस्‍टर ब्‍वॉय बुरहान वानी के मारे जाने पर कलप रहा पाकिस्तान, पाक सेना के प्रवक्ता ने कहा- ‘बेहतर कल के लिए हीरो अपने आज का बलिदान करते हैं’

Pakistan hangs at the death of Poster Boy Burhan Wani at Jammu Kashmir

जम्‍मू-कश्‍मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकवादियों का पोस्‍टर ब्‍वॉय (Postar Boy) कहा जाने वाला कुख्यात आतंकी बुरहान वानी (Burhan Wani) को पाकिस्‍तान (Pakistan) ने हीरो बताते हुए सलाम किया है. पाकिस्‍तान सेना (Pakistan Army) के प्रवक्‍ता आसिफ गफूर (Asif Ghafoor) ने आतंकी बुरहान वानी (Burhan Wani) को हीरो बताते हुए ट्वीट किया कि ‘हीरो बेहतर कल के लिए अपनी जान की बाजी लगा देते हैं. 3 साल पहले आज ही के दिन भारतीय सेना (Indian Army) ने बुरहान वानी को मार गिराया था’. आसिफ गफूर ने इसके साथ ही कहा कि ‘प्रतिबद्धता, समर्पण और बलिदान के बिना कुछ हासिल नहीं होता. आने वाली पीढि़यों की बेहतरी के लिए हीरो अपने आज का बलिदान करते हैं’.



Also Read: Video: मूर्ख पाकिस्तानी मीडिया, एप्पल फ़ोन की जगह सेब समझ कर डिबेट करती रही एंकर, चौतरफ़ा थू-थू


हिजबुल कमांडर बुरहान वानी की बरसी पर अलगाववादियों द्वारा आहूत विरोध प्रदर्शन को रोकने के लिए सोमवार को श्रीनगर शहर के कई हिस्सों और घाटी के अन्य स्थानों पर प्रतिबंध लागू किए गए हैं. दुकानें, व्यवसाय और परिवहन के साथ इंटरनेट सेवाएं भी बंद कर दी गई हैं और यहां तक कि वार्षिक अमरनाथ यात्रा के लिए तीर्थयात्रियों के जत्थे को भी रवाना होने से रोक दिया गया.


अलगाववादी समूह, सईद अली गिलानी, मीरवाइज उमर फारूक और यासीन मलिक की अगुवाई वाले ज्वाइंट रेजिस्टेन्स लीडरशीप (Joint Registrar Leadership) ने लोगों से अपील की है कि बुरहान वानी की तीसरी बरसी पर घाटी में बड़े पैमाने पर विरोध प्रदर्शन करें और आहूत बंद का समर्थन करें. बता दें बुरहान वानी अपने 2 साथियों के साथ 8 जुलाई, 2016 को अनंतनाग जिले के कोकेरनाग इलाके में सुरक्षा बलों के साथ एक मुठभेड़ में मारा गया था.


Also Read: अब इस मुस्लिम देश ने ‘बुर्क़ा’ पर लगाया ‘बैन’, आतंकी हमलों से सुरक्षा बताई वजह


जिसके बाद बुरहान वानी जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकवादियों के लिए एक पोस्‍टर ब्‍वॉय (Postar Boy) बन गया था. पुलिस सूत्रों ने बताया कि नौहट्टा, खानयार, रैनावारी, एम.आर. गंज और सफाकदल आदि इलाकों में प्रतिबंध लगाए गए हैं. भड़काऊ पोस्ट और तस्वीरों के प्रसार को रोकने के लिए प्रशासन ने दक्षिण कश्मीर के 4 जिलों पुलवामा, कुलगाम, अनंतनाग और शोपियां में मोबाइल इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी है.


कानून और व्यवस्था की स्थिति के मद्देनजर अमरनाथ यत्रियों को जम्मू से घाटी की ओर रवाना होने की अनुमति नहीं दी गई. श्रीनगर शहर और घाटी के अन्य हिस्सों में दुकानें, सार्वजनिक परिवहन, अन्य व्यवसाय और शैक्षणिक संस्थान बंद रहे. किसी भी घटना से निपटने के लिए पर्याप्त संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए गए हैं.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

‘चायवाले’ को जनता जनता ने चुन लिया सांसद, पाकिस्‍तानी सांसद निकला ‘करोड़पति’

BT Bureau

रिकॉर्ड हुई मंगल गृह पर चलने वाली हवाओं की आवाज़, NASA के ‘इनसाइट’ की बड़ी कामयाबी

Satya Prakash

अमेरिका की पहली हिंदू सांसद ने PM मोदी को दी बधाई, कहा- बदलते भारत को देख हूं

BT Bureau