Lifestyle

शोध में खुलासा, धूम्रपान की लत युवकों को बना रही है नपुंसक

लाइफस्टाइल: आज कल के ज़माने में धूम्रपान लोगों के लिए बहुत ही आम बात हो गई है. न ही सिर्फ लड़के बल्कि लड़कियां भी इसका सेवन खूब करती हैं. धूम्रपान की लत की वजह से न सिर्फ कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी का खतरा कई गुना बढ़ जाता है बल्कि स्मोकिंग, लोगों को नपुंसकता यानी इन्फर्टिलिटी की ओर भी तेजी से ले जा रही है। इस समस्या की चपेट में युवा भी तेजी से आ रहे हैं। किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (केजीएमयू) के यूरॉलजी विभाग की एक स्टडी में इसका खुलासा हुआ है। रिसर्च के मुताबिक, स्मोकिंग के कारण युवाओं में स्पर्म काउंट कम होने के साथ स्पर्म की गुणवत्ता भी कम हो रही है। विभाग में ऐसे मरीजों की संख्या में दो साल में दोगुने का इजाफा हुआ है।


यूरॉलजी विभाग के हेड प्रफेसर एस एन शंखवार ने बताया कि 2012 से 2018 तक चली यह स्टडी 150 मरीजों पर की गई। स्टडी में सामने आया कि स्मोकिंग करने से इनकी कोशिकाएं डैमेज हो रही हैं, जिनसे फ्री रैडिकल निकलते हैं। ये फ्री रैडिकल अन्य कोशिकाओं को डैमेज करते हैं, जिससे धमनियां सिकुड़ने लगती हैं और इनका लचीलापन कम होता जाता है। इसका सीधा असर स्पर्म काउंट पर पड़ता है और ये जल्दी खराब भी हो जाते हैं।


प्रफेसर शंखवार ने बताया कि विभाग में इन्फर्टिलिटी क्लीनिक भी चलाई जा रही है। इसमें इन्फर्टिलिटी से पीड़ित 20 से 45 साल के औसतन 10 मरीज हर दिन आ रहे हैं। इनमें 70 से 80 प्रतिशत लोग ऐसे हैं, जिन्हें स्मोकिंग की वजह से यह समस्या हुई है। दो साल पहले ऐसे मरीजों की संख्या तीन से चार हुआ करती थी। 


लत छुड़वाने के लिए भी क्लिनिक 


केजीएमयू के रेस्पिरेटरी मेडिसिन विभाग में स्मोकिंग जैसी बुरी आदत से छुटकारा दिलवाने के लिए धूम्रपान निषेध क्लिनिक चलाया जा रहा है। यहां के डॉ. आर ए एस कुशवाहा ने बताया कि हर दिन ओपीडी से 100 से अधिक लोगों को क्लीनिक में भेजा जाता है। इसमें दो तरह से दवाइयों और काउंसलिंग के जरिए इलाज होता है। लगभग 5 % लोगों पर ही दवाओं का इस्तेमाल किया जाता है, बाकी की स्मोकिंग काउंसलिंग के जरिए छुड़वाई जाती है।


Image result for smoking

यूपी में धूम्रपान का जहर


13.5% लोग करते हैं धूम्रपान 
23.1% पुरुष स्मोकिंग करते हैं 
3.2% महिलाएं करती हैं धूम्रपान 


Also Read: अगर चेहरे को रखना है हमेशा बेदाग और ग्लोइंग तो पानी में करें इन चीजों का सेवन


सिगरेट पीने वाले


4% अडल्ट 
7.3% पुरुष 
0.6% महिलाएं 


बीड़ी पीने वाले 


7.7% अडल्ट 
14% पुरुष 
1.2% महिलाएं 


Also Read :जिंदगी में स्ट्रेस फ्री और पॉजिटिव रहने के लिए डाइट में शामिल करें ये 5 सुपरफूड


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


126 total views, 1 views today

Related news

नॉनवेज खाने वाले हो जाएं सावधान, बीमारी में यह दवाएं नहीं करेंगी असर

BT Bureau

जब खुलेआम पार्क में ही होने लगी लेस्बियन पोर्न मूवी की शूटिंग, सुनकर रह जायेंगे दंग

Satya Prakash

अब whats app users नहीं कर पाएंगे 5 से ज्यादा मेसेजेस फोरवोर्ड

Satya Prakash

Leave a Comment