Breaking Tube
Lifestyle

पानी पीना भी हुआ ख़तरनाक, इतनी मात्रा में रोजाना पी रहें हैं आप प्लास्टिक

लाइफस्टाइल: ‘जल ही जीवन है’ लेकिन कभी आपने सोचा है की यही जल आपके लिए जानलेवा बन जाए तो आप क्या करेंगे. बिना जल के जीवन की कल्पना करना भी मुश्किल है. लेकिन आपको यह जानकार हैरानी होगी की हर हफ्ते आपके शरीर में एक क्रेडिट कार्ड जितना प्लास्टिक पानी जाता है. यह प्लास्टिक आपके शरीर के लिए नुकसानदेह और आपके लिए जानलेवा साबित हो सकता है.


एक स्टडी के दौरान पता चला है की एक हफ्ते में हमारा शरीर करीब 5 ग्राम प्लास्टिक निगल जाता है. इन सभी में बोतलबंद और नलों से आने वाले पानी इसका सबसे बड़ा स्त्रोत है. इसमें प्लास्टिक के छोटे-छोटे कण पाए जाते हैं. वर्ल्ड वाइड फंड फॉर नेचर की रिपोर्ट में पानी में प्लास्टिक होने का दावा किया गया है.


Image result for water drinking

WWF की यह रिपोर्ट यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूकैसल और ऑस्ट्रेलिया से लेकर दुनियाभर के 52 शोधों पर आधारित है. WWF के इंटरनेशनल डायरेक्टर जनरल मार्को लैंबरटिनी ने दावा किया कि प्लास्टिक से महासागर से लेकर इंसान तक दूषित हो रहे हैं.


यूनिवर्सिटी ऑफ न्यूकैसल के शोधकर्ता पानी में प्लास्टिक के पीछे कई और चीजों को भी जिम्मेदार मानते हैं. समुद्र में रहने वाली शैलफिश भी इसमें एक वजह है. शैलफिश खाने की वजह से शरीर में प्लास्टिक जा रहा है. बीयर और नमक में भी प्लास्टिक होने का दावा किया गया है.


Also Read: ज्यादा अंडा खाने वाले हो जाएं सावधान, वरना जा सकती है आपकी जान


पानी में सबसे ज्यादा प्लास्टिक अमेरिका में पाया जाता है. अमेरिका में नल के पानी में बहुत ज्यादा प्लास्टिक फाइबर होता है. यहां 130 माइक्रोंस से भी छोटे 45000 पार्टिकल्स हर साल इंसान के पेट में प्रवेश करते हैं. यूनिवर्सिटी ऑफ ईस्ट अंगालिया के प्रोफेसर ऐलेस्टर ग्रांट ने बताया कि पानी में प्लास्टिक होने की बात साबित है, इससे इंसानों के स्वास्थ्य पर बहुत ज्यादा फर्क पड़ेगा.


Also Read: इस तपती गर्मी में रहना है चुस्त-तंदरुस्त तो डाइट में शामिल करें सौंफ, होंगे चमत्कारी लाभ


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

अगर आप भी हैं आम खाने के शौकीन तो हो जाएं सावधान, वरना हो सकती हैं ये गंभीर बीमारियां

Satya Prakash

इस ट्रिक के इस्तेमाल से सेक्स में होगी परम-आनंद की अनुभूति, कामसूत्र का सैकड़ों साल पुराना अद्भुत राज़

Satya Prakash

डिप्रेशन सेहत के लिए है हानिकारक, भूलने की गंभीर बीमारी के साथ दिमाग वक्त से पहले हो जाता है बूढ़ा

admin