Lok Sabha 2019 Politics

अखिलेश यादव को मायावती ने दिया तगड़ा झटका, जौनपुर से उतारा बसपा प्रत्याशी

BSP chief Mayawati

बसपा सुप्रीमो मायावती ने रविवार को अप्रत्याशित फैसला करते हुए जौनपुर से प्रत्याशी उतारकर अपने सहयोगी समाजवादी पार्टी को तगड़ा झटका दिया है। मायावती के इस फैसले से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को खासी दिक्कते होंगी। दअरसल, अखिलेश यादव जौनपुर से अपने भाई तथा मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप सिंह यादव उर्फ तेजू को उतारना चाहते थे।


मायावती नहीं दे रही अखिलेश को तवज्जो

मिली जानकारी के मुताबिक, मायावती ने जौनपुर से अपना प्रत्याशी श्याम सिंह यादव को घोषित कर दिया है। बसपा ने पीसीएस अधिकारी श्याम सिंह यादव को जौनपुर लोकसभा से उम्मीदवार बनाया गया है। 65 वर्ष श्याम सिंह यादव रानी पट्टी, ब्लाक मडिय़ाहूं, जौनपुर के निवासी हैं।


Also Read: BJP की एक और लिस्ट जारी, बेटे को मिला टिकट तो मोदी सरकार के मंत्री ने तुरंत दे दिया इस्तीफा


बताया जा रहा था कि जौनपुर से समाजवादी पार्टी अपना प्रत्याशी उतारना चाहती थी, लेकिन बसपा ने यहां से अपना प्रत्याशी घोषित कर दिया है। समाजवादी पार्टी चाहती थी कि बसपा यहां से अपना प्रत्याशी न उतारे। वह इस सीट के बदले सपा बलिया की सीट बसपा को देने को तैयार थी। समाजवादी पार्टी जौनपुर में तेज प्रताप सिंह यादव को एडजस्ट करना चाहती थी। मायावती ने एसपी प्रमुख की इस मांग को कोई तवज्जो नहीं दी।


Also Read: भीमराव आंबेडकर के मुताबिक- इस्लाम राष्ट्रवाद तोड़ने वाला मजहब, एक सच्चा मुसलमान भारत को कभी मातृभूमि नहीं मानेगा


समाजवादी पार्टी ने तेज प्रताप की सीट मैनपुरी से इस बार सपा ने मुलायम सिंह यादव को अपना प्रत्याशी बनाया है। मुलायम सिंह यादव वहां से नामांकन भी कर चुके हैं। अब तेज प्रताप के पास कोई भी सुरक्षित सीट नहीं है। एसपी प्रमुख ने मैनपुरी से टिकट अपने पिता मुलायम सिंह यादव को दिया है। यही नहीं यहां से एसपी के दिग्गज नेता पारसनाथ यादव भी चुनाव लडऩा चाहते थे।


Also Read: महागठबंधन का आक्रामक कैंपेन, ‘वीर सम्मान यात्रा’ खोलेगी भाजपा की पोल


समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव जौनपुर से अपने चचेरे भाई तेज प्रताप यादव को टिकट देना चाहते थे, क्योंकि तेज प्रताप मैनपुरी से टिकट काटे जाने से नाराज हैं। उनके समर्थकों ने यहां प्रदर्शन भी किया था। इसके बाद उनके समर्थक जिला इकाई को भी सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने भंग कर दिया है।


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

1,824 total views, 3 views today

Related news

5 राज्यों के Exit Poll: जानें किसका होगा राजतिलक, यहां पढ़ें सभी सर्वे

BT Bureau

राहुल का गडकरी के बयान पर तंज, बोले- ‘हर भारतीय यही पूछ रहा है, नौकरियां कहां हैं?’

Aviral Srivastava

बरेली: BJP विधायक की जिला पुलिस को धमकी, झंडे उतारने वाले पुलिसकर्मी को छोड़ा नहीं जाएगा

Jitendra Nishad

Leave a Comment