Breaking Tube
  • Home
  • Lok Sabha 2019
  • 2019 लोकसभा चुनाव: बिहार में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेगी बीजेपी-जेडीयू, ये है सीट फार्मूला
Lok Sabha 2019 Politics

2019 लोकसभा चुनाव: बिहार में बराबर सीटों पर चुनाव लड़ेगी बीजेपी-जेडीयू, ये है सीट फार्मूला

शुक्रवार को दिल्ली में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मुलाक़ात की. अमित शाह ने मुलाक़ात के बाद बताया कि बिहार में जेडीयू और बीजेपी ने आगामी 2109 के लोकसभा चुनाव बराबर सीटों पर लड़ने का फैसला किया है. सीटों को दो-तीन दिनों में ऐलान किया जाएगा जबकि गठबंधन की बाकी सीटें लोजपा और रालोसपा को साझा करेंगे.

 

Also Read : भाजपा सांसद बोले- मायावती दलितों के घर खाना खा लें तो राजनीति छोड़ दूंगा

 

अमित शाह ने कहा कि तीन-चार दिन से बिहार के लोकसभा के लिए सभी साथियों से चर्चा चल रही थी. नीतीश कुमार के साथ विस्तार से चर्चा के बाद इस नतीजे पर पहुंचे हैं कि जेडीयू और बीजेपी एक साथ मिलकर बराबर सीटों पर लड़ेगी. बाकी जितने भी सहयोगी दल है उन्हें भी सम्मान जनक सीटें मिलेंगी. दो-तीन दिनों में नंबर की घोषणा की जाएगी और इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा और रामविलास पासवान भी साथ होंगे.

 

Also Read: Audio: ‘नारी सम्मान’ भूला ‘योगी का विधायक’, शराब व्यापारी को दी बेटी से बलात्कार की धमकी

 

बता दें, कि जनता दल (यूनाइटेड), लोक जनशक्ति पार्टी (एलजेपी) और राष्ट्रीय लोक समता पार्टी (आरएलएसपी) ये तीनों एनडीए के सहयोगी हैं. लेकिन इन घटक दलों में सीटों को लेकर रस्साकशी चल रही है. माना जा रहा है कि नीतीश और शाह के बीच मुलाकात के दौरान बिहार में सीट बंटवारे की संभावनाओं पर मंथन होगा. बिहार में सीट बंटवारे को लेकर एनडीए में खींचतान है. राम विलास पासवान की एलजेपी सात सीटों से कम पर मानने को तैयार नहीं है. इन सबके बीच उपेन्द्र कुशवाहा की आरएलएसपी भी झुकने के मूड में नहीं दिख रही. बिहार में लोकसभा की कुल 40 सीट हैं.

 

Also Read: देश भर के मुख्यमंत्रियों में सीएम योगी सबसे लोकप्रिय, Google Trends में टॉप पर

 

सूत्रों की मानें तो बीजेपी और जेडीयू 16-16 सीटों पर चुनाव लड़ सकती है. बटवारे में 5 सीटें रामविलास पासवान की एलजेपी को दी जाएंगी जबकि बची हुई तीन सीटों पर उपेन्द्र कुशवाहा की पार्टी आरएलएसपी को मिलने के आसार हैं.

 

Also Read: शिवपाल की विधानसभा सदस्यता खत्म नहीं करेंगे अखिलेश, बताया ये बड़ा कारण

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मानसून सत्र से पहले सपा विधायकों का विधानसभा के बाहर प्रदर्शन

Aviral Srivastava

चुनाव के लिए TRS ने की उम्मीदवारों की घोषणा, राव बोले- राहुल गाँधी हैं सबसे बड़े ‘जोकर’

BT Bureau

मायावती को मिला ‘चुनावी मुद्दा’, भाजपा को पड़ेगा भारी

Jitendra Nishad

Leave a Comment