Breaking Tube
Crime

दरगाह आला हजरत के मौलाना ने ही कराया था कमलेश के कातिलों का इलाज, फंडिंग का शक, पाक कनेक्शन आया सामने

हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के राष्ट्रीय अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या के चार दिन बाद गुजरात एटीएस (Gujarat ATS) ने दोनों मुख्‍य आरोपियों को राजस्थान बॉर्डर के शामलजी से गिरफ्तार कर लिया. एटीएस और पुलिस की पूछताछ में दोनों हत्यारोपी शेख अशफाक हुसैन और पठान मोइनुद्दीन अहमद ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है. उन्होंने बताया कि कमलेश तिवारी के विवादित बयानों के चलते उनकी हत्या की गई. उन्हें मंगलवार सुबह एसआईटी लखनऊ लेकर आई. यहां पूछताछ में कई खुलासे हुए. एसआईटी सूत्रों का दावा है कि बरेली निवासी दरगाह आला हजरत के मौलाना मौलाना सैय्यद कैफी अली रिजवी (Bareilly Maulana Sayyed Kaifi Ali Rizvi) ने ही घायल हत्यारे की बरेली में मरहम-पट्टी करायी थी. एसआईटी को शक है कि हत्यारों को आगे की यात्रा के लिए पैसा भी मुहैया कराया है.


कमलेश तिवारी की हत्या के आरोपितों के मददगार प्रेमनगर निवासी मौलाना सैय्यद कैफी अली रिजवी को बीती रात एक बजे लखनऊ से आई एसटीफ़ ने हिरासत में लिया. रात में ही टीम उसको लखनऊ ले गई. शुक्रवार रात को बरेली आए आरोपित मौलाना के घर कुछ देर रुके थे. लखनऊ में कमलेश तिवारी की हत्या के बाद आरोपितों की लोकेशन लखनऊ के बाद शाहजहांपुर, बरेली व मुरादाबाद के बाद अम्बाला मिलने की सूचना पर पुलिस की टीमें बेहद सक्रिय हैं. इस मामले में मंगलवार को यूपी एटीएस की टीम ने बरेली में मौलाना को हिरासत में लिया है. यह टीम इस मौलाना को लेकर लखनऊ के लिए रवाना हो चुकी है. जानकारी के अनुसार लखनऊ में 18 अक्टूबर को कमलेश तिवारी की हत्या करने के बाद दोनों आरोपी मौलाना से मिलने बरेली आए थे. मौलाना पर आरोपियों की मदद करने का आरोप है.


एटीएस की हिरासत में लिए गए 26 वर्षीय मौलाना सैय्यद कैफी अली रिजवी दरगाह से लेकर बड़ी-बड़ी कॉन्फ्रेंस में अपने नातिया कलाम पढ़कर युवाओं को दीवाना बनाता है. देश-विदेश से लेकर यूट्यूब और सोशल मीडिया पर उसके नातिया कलाम की धूम है. एटीएस मौलाना के पाकिस्तान में कराची से लेकर बगदाद तक के कनेक्शन खोजने में लगी है. कमलेश तिवारी हत्याकांड के साजिशकर्ता और सूत्रों से संपर्क के बाद लगातार पूछताछ की जा रही है.


मौलाना कैफी अली नातिया कलाम पढ़ता है युवाओं में उसके नथिया कलाम की दीवानगी है. बरेली से लेकर विदेशों तक नातिया कलाम पढ़ने जाता है. 3 साल पहले व उमरा करने के लिए मक्का गया था. 2 साल पहले पाकिस्तान के कराची में अपनी बहन के पास गया था. सोमवार रात को ही शहर के एक खास शादी समारोह में उसने नातिया कलाम पड़ा था. वह नातिया कलाम के प्रोग्राम के सिलसिले में बगदाद जाने की तैयारी में था. इससे पहले ही कमलेश तिवारी हत्याकांड में साजिशकर्ता सूत्रों की मदद के आरोप के रूप में मौलाना पकड़ा गया. सूरत के साजिशकर्ता के संपर्क में मौलाना कैसे आया, उसकी क्या बातचीत हुई उन्होंने किस तरह से मदद की. इसका पता लगाया जा रहा है कि उसके साथ बरेली में और कौन कौन लोग शामिल हैं. एटीएस पूरे नेटवर्क को खंगालने में जुटी है.


Also Read: कमलेश तिवारी के साथ प्रदेश अध्यक्ष की हत्या का भी था प्लान, अशफाक रोहित बनकर गुजरात में बन चुका था पार्टी का प्रचारक


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

कबीर शर्मा बनकर हिंदू युवती को प्रेमजाल में फंसाया, फिर फर्जी बारात और नकली माँ-बाप लेकर इमरान खान ने लिए 7 फेरे

S N Tiwari

आजम के करीबी पूर्व CO आले हसन समेत सपा के 8 कार्यकर्ताओं के खिलाफ केस दर्ज, छेड़छाड़, मारपीट, लूट और फायरिंग का आरोप

BT Bureau

मुरादाबाद: देवर नहीं पंसद तो ससुर से करो ‘हलाला’, तभी होगा निकाह

BT Bureau