Breaking Tube
Crime Social

Video: गोमांस की अफवाह पर 3 लोगों को बेरहमी से पीटा, जबरन लगवाए ‘जय श्रीराम’ के नारे!

gaurakshak beaten the muslim people in madhya pradesh

मामला मध्य प्रदेश के सिवनी जिले का है. जहां खुद को गोरक्षक बताने वाले कुछ लोगों ने 3 लोगों को गोमांस ले जाने के अफवाह में बेरहमी से पीटा है. इस पूरी घटना का वीडियो भी सामने आया है. वीडियो में साफ दिख रहा है कि भगवा गमछा पहने हुए कुछ युवक एक महिला सहित 3 लोगों को बंधक बनाकर पीट रहे हैं. पीड़ितों का कहना है कि उनकी पिटाई करने वालों ने ‘जय श्री राम’ के नारे लगाने के लिए मजबूर किया. वीडियो में दिख भी रहा है कि पिटाई करने वाले जय श्री राम के नारे लगाने के लिए कह रहे हैं.


Also Read: लव जेहाद: पहले प्यार, फिर बलात्कार और अब धर्म न बदलने पर दे रहा जान से मारने की धमकी


पीड़ितों ने बताया कि खुद को गोरक्षक बताने वाले कुछ लोगों की नोकझोंक उनसे हुई थी. उनका कहना था कि ऑटो में यात्रा कर रहे 2 मुस्लिम युवक और एक मुस्लिम महिला गोमांस ले जा रहे थे. एक रिपोर्ट के मुताबिक पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. साथ ही एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार किया गया है. अन्य आरोपियों की तलाश जारी है.


In Madhya Pradesh’s Seoni 3 Muslims thrashed by gau rakshaks, made to shout Jai Shree Ram slogans

वीडियो में साफतौर पर देखा जा सकता है कि 2 युवक मिलकर एक युवक पर लाठी-डंडे बरसा रहे हैं. युवक चिल्ला रहा है, गिड़गिड़ाता रहा है, रहम की भीख मांग रहा है लेकिन कथित गोरक्षक उसे पीट रहे हैं. युवक को पहले पेड़ से बांधकर पीटा गया. फिर जमीन पर गिराकर पीटा गया. दूसरे युवक के साथ भी वैसा ही सलूक किया गया और जमकर पीटा गया. इतना ही नहीं इन गुंडों ने महिला को भी नहीं बख्शा. उसके साथियों के हाथों ही उस पर चप्पल चलवाई. जबरन ‘जय श्रीराम’ के नारे लगवाए.



Also Read: मेरठ: मुस्लिम समुदाय के लोगों ने दुकान में घुसकर व्यापारी सहित कई लोगों को पीटा, इलाके में सांप्रदायिक तनाव


यह घटना 22 मई की बताई जा रही है लेकिन वीडियो वायरल होने के बाद 24 मई को पुलिस को इसका पता चला. डुंडा सिवनी पुलिस स्टेशन के प्रभारी गणपत उइके ने बताया कि शुभम बघेल, एक आदतन अपराधी, योगेश उइके, दीपेश नामदेव, रोहित यादव और श्याम डेहरिया को मारपीट के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पांचों के खिलाफ आईपीसी की धारा 143, 148, 149, 341, 294, 323 और 506 के तहत मामला दर्ज किया गया है. साथ ही उन पर हथियार अधिनियम की धाराएं भी दर्ज की गई हैं.


Also Read: लोकसभा चुनाव के नतीजों के दिन मुस्लिम परिवार में जन्मा बच्चा, नाम रखा ‘नरेंद्र दामोदर दास मोदी’


बीते 22 मई को गोरक्षकों ने पुलिस को सूचित किया था कि कुछ लोग गोमांस लेकर जा रहे हैं. इसके बाद पुलिस ने तौफीक, अंजुम शमा और दिलीप मालवीय को गोहत्या अधिनियम के तहत गिरफ्तार कर लिया. मांस को परीक्षण के लिए प्रयोगशाला में भेज दिया गया. सिवनी के एसपी ललित शाक्यवार ने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है. गणपत ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि तीन में से एक व्यक्ति के रिश्तेदार ने वीडियो सामने आने के बाद एफआईआर दर्ज कराई है.


इस घटना पर एआईएमआईएम (AIMIM) प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट कर कहा कि ‘मोदी के मतदाताओं द्वारा चुने गए गोरक्षक, मुसलमानों के साथ किस तरह का व्यवहार करते हैं, देख लीजिए. न्यू इंडिया में आपका स्वागत है जो कि सबको साथ लेकर चलने की बात करता है और मोदी कहते हैं कि सेक्युलरिज्म का नकाब उतर गया है, अब कोई सेक्युलरिज्म की बात नहीं करता’.



Also Read: जीत के बाद सपा प्रत्याशी सफीकुर रहमान बर्क बोले- नहीं गाऊंगा ‘वंदे मातरम’


गौरतलब है कि मध्य प्रदेश में कांग्रेस की सरकार है और कमलनाथ मुख्यमंत्री हैं. लॉ एंड ऑर्डर राज्य सरकार की जिम्मेदारी है. अब सवाल ये है कि आखिर इस तरह की घटनाएं कब बंद होंगी? राज्य कोई भी हो, सरकार किसी की भी हो, इस तरह के लोगों की हिम्मत बढ़ क्यों रही हैं. ऐसे लोग कानून को अपने हाथ में क्यों ले रहे हैं. अगर आरोपी गोमांस ले जा रहे थे तो कथित गोरक्षकों को ये अधिकार किसने दे दिया कि उन्हें पीटा जाए और जबरन जय श्री राम के नारे लगवाए जाएं.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

इस करवाचौथ पर करें चन्द्रमा के साथ गणपति जी की पूजा, हर मनोकामना होगी पूरी

Satya Prakash

7 साल की मासूम के साथ रेप के बाद साम्प्रदायिक तनाव, मो. अमानीशाह गिरफ्तार

BT Bureau

लखनऊ: मृतक विवेक तिवारी की बेटी ने कहा- ‘कुढ़-कुढ़ कर मरे मेरे पिता का हत्यारा’

Jitendra Nishad