Breaking Tube
Crime

हरदोई: दलित युवक को ऊंची जाति की लड़की से प्यार करना पड़ा महंगा, परिजनों ने चारपाई से बांधकर जिंदा जलाया, सदमे में मां की मौत

उत्तर प्रदेश के हरदोई (Hardoi) जिले में दलित युवक की हत्या का सनसनीखेज मामला सामने आया है. दावा है कि सामान्य बिरादरी की लड़की से प्रेम प्रसंग के चलते पहले तो दलित युवक (Dalit Man) की पिटाई की गई, फिर उसके बाद कमरे में बंद कर चारपाई से बांधकप पेट्रोल डालकर उसे जला दिया गया (Burnt alive) और बाहर से ताला बंद कर दिया गया. इस बात की जानकारी जब युवक की मां को मिली तो सदमे में उसकी मां की भी मौत हो गई.


जानें पूरा मामला

जानकारी के मुताबिक मामला कोतवाली शहर इलाके के भदैचा गांव का है, जहां का रहने वाला मोनू राधेश्याम की भतीजी से प्यार करता था. बीते शनिवार रात को मोनू अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर गया था, जहां उसे लड़की के घरवालों ने रंगे हाथों पकड़ लिया. उसके बाद सबने मिलकर मोनू को चारपाई से बांध दिया और उसे जिंदा जला दिया. मोनू की चीख सुनकर गांववालों ने डायल 100 को इसकी सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मोनू को प्रेमिका के घरवालों से आजाद कराकर जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत को गंभीर देखते हुए लखनऊ रेफर कर दिया गया. लेकिन रास्ते में ही मोनू ने दम तोड़ दिया. बेटे की मौत की खबर सुनते ही अस्पताल में भर्ती उसकी बीमार मां की भी सदमे से मौत हो गई.


6 साल पहले भी फरार हुए थे दोनों प्रेमी युगल

फिलहाल पुलिस ने आरोपी पक्ष को हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ शुरू कर दी है. पुलिस अधीक्षक (एसपी) आलोक प्रियदर्शी ने बताया कि गांव का ही मोनू राधेश्याम की भतीजी से प्रेम करता था. लगभग 6 साल पहले प्रेमी जोड़ा घर से फरार हो गया था, लेकिन तब लड़की के घरवाले उन्हें ढूंढकर वापस ले आए थे. शनिवार रात मोनू अपनी प्रेमिका से मिलने उसके घर पहुंच गया. जिसके बाद घरवालों ने उसको रंगे हाथों पकड़ लिया और फिर घर की कोठरी में चारपाई से बांध कर आग के हवाले कर दिया. लगभग 50 प्रतिशत जले मोनू की चीख-पुकार सुनकर इलाके के लोगों ने पुलिस को इसकी सूचना दी. इसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने मोनू को वहां से छुड़ाया और जिला अस्पताल में भर्ती कराया.


वहीं इस मामले पर पुलिस ने दावा किया है कि बाहर जमा भीड़ से बचने के लिए युवक ने खुद को आग लगाकर आत्महत्या कर ली. उत्तर पुलिस का यह दावा युवक के मत्यु पूर्व दिए बयान के विपरीत है. वहीं मृतक के परिवार ने जोर देकर कहा है कि यह ऑनर किलिंग का मामला है. मौत से पहले दिए गए बयान में मोनू ने पुलिस को बताया था कि वह लड़की के परिवारवालों की दुकान से तंबाकू खरीदने गया था, जहां उसे अगवा करके आग लगा दी गई. यह खबर सुनते ही मोनू की मां की सदमे से मौत हो गई थी. लेकिन हरदोई के एसपी आलोक प्रियदर्शी ने फरेंसिक रिपोर्ट और प्रथम दृष्‍टया सबूतों के आधार पर दावा किया है कि पीड़‍ित ने खुद ही आग लगा ली थी.


तीन आरोपी गिरफ्तार

एसपी आलोक प्रियदर्शी ने कहा कि गांववालों का आरोप है कि मोनू के साथ घटित हुई घटना के बाद उसकी मां की सदमे से मौत हो गई. दावा है कि उसकी मां लंबे वक्त से बीमार चल रही थी. बुखार के चलते देर रात उनकी हालत बिगड़ गई जिसके बाद उन्हें जिला अस्पताल रेफर किया गया जहां ले जाते वक्त रास्ते में उसकी मौत हो गई. मोनू की मां की मौत और इस वारदात के बीच समय का आकलन किया जा रहा है. अगर ऐसा कुछ पाया जाता है तो इस मामले में आगे धाराएं भी बढ़ाई जाएंगी. फिलहाल पुलिस तीन आरोपियों को गिरफ्तार कर मामले में उनसे पूछताछ कर रही है.


Rajan Shukla

Also Read: PM मोदी के 69वें जन्मदिन पर 69 हजार शिक्षक भर्ती के अभ्यर्थियों का छलका ट्विटर पर दर्द, ट्रेंड हुआ ‘69000 योग्य शिक्षक लाचार’



( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

हरदोई: माँ को गैर मर्द की बांहों में देख बौखलाया, पिता और भाई के साथ मिलकर किया ये घिनौना काम

BT Bureau

रायबरेली: पुलिस चौकी है या परचून की दुकान, दारोगा बोले- लाओ सुबह-सुबह कुछ बोहनी बट्टा कराओ, घूस लेते हुए Video वायरल

S N Tiwari

मुजफ्फरपुर कांड: नाबालिग बच्चियों को अश्लील गानों पर डांस करने को मजूबर करती थी शाइस्ता परवीन

Jitendra Nishad