Breaking Tube
Crime

ये है योगी की पुलिस: 15 साल की नाबालिग को पिता के सामने उठा ले गए दबंग, 4 दिन बाद पुलिस ने दर्ज किया केस

Kanpur dehat police

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सूबे में बच्चियों की सुरक्षा को लेकर कितने ही जतन क्यों न कर लें पर इनकी पुलिस का निक्कमेपन की वजह से पीड़ित के परिजनों को इंसाफ के लिए भटकना ही पड़ता है। घटना प्रदेश के कानपुर देहात जिले का है, जहां 21 जून को एक 15 साल की नाबालिग को दबंग पिता के सामने ही उठा ले जाते हैं और जब मजबूर पिता तहरीर लेकर थाने पहुंचता है तो वहां उसकी कोई सुनवाई नहीं होती, उसे थाने से भगा दिया जाता है।


रसूलाबाद कोतवाली पुलिस ने नहीं दर्ज किया मुकदमा

यह पूरी घटना कानपुर देहात जिले के रसूलाबाद कोतवाली की है, जहां सुदर्शन नाम का व्यवक्ति 21 जून को अपने परिवार के साथ शादी समारोह में पहुंचा था। वहां से लौटते वक्त अचानक रास्ते में इलाके के ही दबंग जयवीर, लालू, गुलशन, हेमंत और उसके तीन अन्य साथियों ने मिलकर सुदर्शन की 15 साल की बेटी को असलहे के दम पर बोलेरो में जबरन उठा ले गए।


Also Read: सिपाही से लेकर SP और DIG तक की हो रही छटनी, DGP मुख्यालय ने मांगी लिस्ट


इस दौरान जब पिता ने विरोध किया तो दबंगों ने तमंचे के बट से मारकर 2 लोगों को लहूलुहान कर दिया और सुदर्शन की नाबालिग बेटी का अपहरण कर फरार हो गए। वहीं, जब घटना के बाद पीड़ित परिवार रसूलाबाद कोतवाली में बेटी की अपहरण होने की तहरीर लेकर पहुंचा तो वहां रिपोर्ट लिखने के बजाय पुलिसवालों ने उन्हें वापस लौटा दिया।


एएसपी अनूप कुमार ने खुद दर्ज कराया मुकदमा

पीड़ित परिवार चार दिनों से रसूलाबाद कोतवाली के चक्कर काटता रहा और अपनी नाबालिग बेटी को वापस लाने के लिए पुलिस के सामने गिड़गिड़ाता रहा लेकिन पुलिस कान में तेल डालकर बैठी रही। ऐसे में जब थाने में सुनवाई नहीं हुई तो पीड़ित परिवार जिले के वरिष्ठ अधिकारी के पास पहुंचे। इसके बाद मामले को संज्ञान में लेते हुए एएसपी अनूप कुमार ने मुकदमा दर्ज करवाकर गिरफ्तारी के आदेश दिए हैं।


एएसपी अनूप कुमार

Also Read: वाराणसी: कम्यूनिटी पुलिसिंग की जगह पुलिस ने ई-रिक्शा चालक की कनपटी कर दी गरम, SSP ने किया निलंबित


एएसपी अनूप कुमार का कहना है कि मामले में मुकदमा दर्ज किया जा चुका है, विवेचना की जा रही है। उन्होंने बताया कि पीड़ित परिवार ने उनसे मुलाकात की है और पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगाया है। एएसपी ने कहा कि मैंने डिप्टी एसपी को खुद इस मामले को मॉनिटर करने को कह दिया है।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

DGP से बहादुरी के लिए सम्मानित सिपाही को इंस्पेक्टर और उसके गुर्गों ने बुरी तरह पीटा, रायफल छीनकर जान से मारने की कोशिश

Jitendra Nishad

बुलंदशहर: भीड़ ने किया पुलिस टीम पर हमला, दारोगा और नाबालिग को लगी गोली

Jitendra Nishad

बरेली: पीएम मोदी की सभा से पहले एक संदिग्ध युवक हिरासत में

Aviral Srivastava