Breaking Tube
Government Politics

भारत की बड़ी कूटनीतिक जीत, मोदी-शी बैठक में आतंकवाद पर हुई चर्चा, कश्मीर मुद्दे का जिक्र भी नहीं

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग (Xi Jinping) का दो दिन का दौरा भारतीय कूटनीति के लिहाज से भी बेहद अहम रहा. कश्मीर (Kashmir) की रट लगाते हुए भारत पहुंचे चीनी राष्ट्रपति ने भारत के सख्त ऐतराज के बाद बातचीत में भारत के इस आंतरिक मुद्दे को छेड़ने की कोशिश नहीं की. बड़ी बात यह रही कि भारत आतंकवाद के मुद्दे को चर्चा का विषय बनाने का कामयाब रहा. आशंका जताई जा रही थी कि कश्मीर मुद्दे के कारण दोनों नेताओं की बातचीत पटरी से उतर सकती है. इस आशंका को उस समय और बल मिला था पाकिस्तान पीएम इमरान खान के साथ बैठक के बाद चीन ने कश्मीर पर यूएन चार्टर का अनुसरण करने की मांग की थी.


विदेश सचिव विजय गोखले ने यहां संवाददाता सम्मेलन में एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि जिनपिंग ने हालांकि पीएम मोदी से पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के हाल के चीन दौरे को लेकर चर्चा जरूर की. उन्होंने बताया कि बातचीत में जम्मू-कश्मीर की स्थिति का कोई जिक्र नहीं हुआ. जिनपिंग ने हालांकि पीएम इमरान खान की बीजिंग यात्रा का उल्लेख किया जिसे प्रधानमंत्री ने सुन लिया.


उन्होंने एक सवाल पर कहा कि बातचीत में जम्मू-कश्मीर को लेकर कोई जिक्र नहीं हुआ. इस बारे में भारत का पक्ष चीन को पहले से ही पता है. उन्होंने कहा कि दोनों नेताओं ने विदेश नीति को स्वायत्त बनाने एवं द्विपक्षीय संबंधों को किसी तीसरे देश के विचारों एवं दृष्टिकोण से स्वतंत्र रखने की जरूरत भी स्वीकार की. अंतरराष्ट्रीय मामलों में दोनों नेताओं ने बहुपक्षीय मंचों पर सहयोग बढ़ाने की आवश्यकता महसूस की और विश्व व्यापार संगठन में सुधारों, जलवायु परिवर्तन के प्रयासों एवं संयुक्त राष्ट्र में सुधार के बारे में बात हुई. दोनों नेताओं के बीच अफगानिस्तान के मसले पर भी चर्चा हुई.


मतभेदों को विवाद नहीं बनने देंगे भारत और चीन : मोदी

चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग के साथ पिछले दो दिन में कई सत्रों में हुई आमने-सामने की बातचीत के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को कहा कि हमने मतभेदों को विवेकपूर्ण ढंग से सुलझाने, एक दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशीन रहने और उन्हें विवाद का रूप नहीं लेने देने का निर्णय किया है. प्रधानमंत्री ने कहा कि “चेन्नई संपर्क” के जरिए भारत और चीन के संबंधों में सहयोग का आज से एक नया युग शुरू होने जा रहा है. अनौपचारिक शिखर वार्ता के दूसरे एवं अंतिम दिन मामल्लापुरम के एक लक्जरी रिजॉर्ट में शी के साथ शिष्टमंडल स्तर पर हुई अपनी बातचीत में मोदी ने ध्यान दिलाया कि ” भारत और चीन पिछले 2,000 साल में ज्यादातर समय वैश्विक आर्थिक शक्तियां रहें हैं और धीरे-धीरे उस चरण की तरफ लौट रहे हैं.


पीएम मोदी ने कहा, “ हमने मतभेदों को विवेकपूर्ण ढंग से सुलझाने और उन्हें विवाद का रूप नहीं लेने देने का निर्णय किया है. हमने तय किया है कि हम एक-दूसरे की चिंताओं के प्रति संवेदनशील रहेंगे.” मोदी ने पिछले साल चीनी शहर वुहान में शी के साथ अपनी पहली अनौपचारिक शिखर वार्ता के परिणामों का जिक्र करते हुए कहा, “वुहान की भावना ने हमारे संबंधों को नयी गति एवं विश्वास प्रदान किया. ‘चेन्नई संपर्क के जरिए आज से सहयोग का नया युग शुरू होगा.”


प्रधानमंत्री ने कहा कि वुहान में पहली अनौपचारिक वार्ता के बाद से दोनों देश के बीच रणनीतिक संचार बढ़ा है. विदेश मंत्रालय के अनुसार, शिष्टमंडल स्तर की वार्ताओं से पहले, शी और मोदी के बीच फिशरमैन कोव रिजॉर्ट में आमने-सामने की करीब एक घंटे बातचीत हुई जिसमें द्विपक्षीय सहयोग बढ़ाने के लिए संबंधों को नये सिरे से निखारने की मंशा का स्पष्ट संकेत दिया गया.


दोनों नेताओं को समुद्र तट के पास चहलकदमी करने के दौरान भी बातचीत करते देखा गया. इससे पहले मोदी और शी एक गोल्फ गाड़ी में सवार होकर साथ में रिजॉर्ट पहुंचे. भारत द्वारा जम्मू-कश्मीर का विशेष दर्जा वापस ले लेने और राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों में बांटने के फैसले के बाद दोनों देश के बीच तनाव बढ़ने के बीच शी शुक्रवार को यहां पहुंचे थे.


शुक्रवार को मोदी और शी ने रात्रिभोज के दौरान करीब ढाई घंटे बातचीत की थी. उन्होंने आतंकवाद तथा कट्टरवाद से मिलकर निपटने और द्विपक्षीय संबंधों को नए आयाम देने की प्रतिबद्धता जताई थी. अधिकारियों ने बताया कि इस तटीय शहर में समुद्र के किनारे भव्य मामल्लापुरम मंदिर परिसर में स्थित एक रंगबिरंगे खेमे में कल हुई बैठक तय समय से काफी लंबी चली. इस दौरान दोनों नेताओं ने तमिलनाडु के स्थानीय स्वादिष्ट व्यंजनों का आनंद लेते हुए जटिल मामलों समेत कई विषयों पर बातचीत की. विदेश सचिव विजय गोखले ने बैठक के बाद कहा था, ”दोनों नेताओं ने बिना किसी सहयोगी के एक साथ अच्छा वक्त गुजारा.”


Also Read: मोदी-जिनपिंग ने जिस विशालकाय ‘गेंद’ के आगे खिंचाया फोटो उसे 1200 से कोई नहीं हिला पाया, हैरान कर देगी ये कहानी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

Budget 2019: मध्यवर्ग को टैक्स में राहत, किसानों की मदद के हर संभव प्रयास के साथ ही हो सकते है और भी कई बड़े ऐलान

admin

J-K: आतंकी बेटे के घिरे होने की अफवाह में गई बाप की जान

Ambuj

जब सीएम हाउस में शिवराज के आखिरी भाषण के बाद फूट-फूटकर रोने लगी महिलाएँ, Video वायरल

BT Bureau