Breaking Tube
Government

पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट का आदेश- योगी सरकार की तर्ज पर करो अपराधियों का सफाया

बढ़ते गैंग कल्चर पर पंजाब-हरियाणा हाईकोर्ट ने कड़ा रुख अपनाते हुए पंजाब और हरियाणा को यूपी की योगी आदित्यनाथ की तर्ज पर एनकाउंटर के माध्यम से इन्हें उखाड़ फेंकने के आदेश दिए हैं. कोर्ट ने कहा कि छह महीनों के भीतर दोनों राज्यों से गैंगस्टरों की सफाई शुरू हो जानी चाहिए. कोर्ट ने कहा कि गैंगस्टर्स के बीच एरिया में दबदबा बनाने के लिए होने वाला संघर्ष समाज और कानून व्यवस्था दोनों के लिए घातक है.


कोर्ट ने कहा कि गैरकानूनी गतिविधियों में शामिल ये गैंग और संगठित अपराधी आम नागरिकों और कानून व्यवस्था के लिए बेहद ही घातक है. ऐसे में दोनों राज्यों को उत्तर प्रदेश की तर्ज पर गैंगस्टरों से सख्ती से निपटने के लिए एक कड़ा कानून बनाना होगा. हाईकोर्ट ने दोनों राज्यों को छह माह में ऐसा कानून बनाए जाने के आदेश भी दे दिए हैं.


दरअसल यूपी में उत्तर प्रदेश गैंगस्टर्स एंड एंटी-सोशल एक्टिविटीज (प्रिवेंशन) एक्ट 1986 लागू किया गया है. इसके तहत कई प्रावधान व विशेषाधिकार हैं. इसे गैंगस्टर्स और संगठित अपराध में लिप्त अपराधियों पर नकेल कसने के लिए बनाया गया है. इस कानून के तहत कम से कम दो वर्ष और अधिक से अधिक आजीवन कारावास की सजा का प्रावधान है. इस कानून के तहत गवाहों की सुरक्षा के लिए भी विशेष प्रावधान है और ऐसे अपराधियों पर अलग से अदालत गठित कर उनके खिलाफ सुनवाई की जाती है.


योगी सरकार ने प्रदेश में एनकाउंटर के माध्यम से अपराध पर नकेल कसने में एक बड़ी सफलता पायी है. ढाई साल की योगी आदित्यनाथ सरकार के दौरान अब तक उत्तर प्रदेश में 3599 एनकाउंटर हुए हैं. इस सरकार में हुए अब तक एनकाउंटर में 73 अपराधी ढेर हुए हैं जबकि 4 पुलिसकर्मी शहीद हुए. इस दौरान पुलिस ने 8251 अपराधी गिरफ्तार किए जबकि मुठभेड़ में 1059 अपराधी घायल हुए.


नए आंकड़े के मुताबिक पुलिस मुठभेड़ में 1 लाख के 3 और 50 हजार के 28 इनामी अपराधी मारे गए. यूपी पुलिस के ऑपरेशन क्लीन के खौफ से कुल 13866 अपराधी जमानत निरस्त कराकर जेल चले गए. 13602 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्टर की कार्रवाई हुई. इतना ही नहीं गैंगस्टर आरोपियों की 67 करोड़ की संपत्ति ज़ब्त की गई. 55 आरोपियों के खिलाफ रासुका, 1391 के खिलाफ गैंगस्टर, 15629 के खिलाफ गुंडा एक्ट की कार्रवाई हुई. योगी सरकार आने के बाद गठित एंटी रोमियो स्क्वायड ने 6010 के खिलाफ कार्रवाई की.


Also Read: चीनी मिल घोटाले में मायावती की बढ़ी मुश्किलें, अब ED करेगी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )



Related news

देवरिया शेल्टर होम केस: योगी सरकार ने CBI को सौंपी मामले की जांच, SIT टीम का भी किया गठन

BT Bureau

देवरिया शेल्टर होम केसः एक्शन में सीएम योगी, डीएम को हटाने के आदेश, डीपीओ सस्पेंड

BT Bureau

केंद्र का SC में जवाब- आलोक वर्मा और राकेश अस्थाना बिल्लियों की तरह लड़ रहे थे, जरुरी था दखल

BT Bureau