Breaking Tube
Government Politics

प्रेरणा एप से अब शिक्षामित्रों और अनुदेशकों को जोड़ेगी योगी सरकार

प्रेरणा एप (Prerna App) को लेकप प्रदेश भर में बेसिक प्राथमिक और जूनियर हाईस्कूलों के टीचर विरोध कर रहे हैं. जगह-जगह रैली निकाली जा रही और धरना प्रदर्शन किया जा रहा है. वहीं कुछ जिलों में शिक्षामित्रों और अनुदेशकों ने प्रेरणा एप का स्वागत किया है. उनका कहना है कि प्रेरणा एप के लागू होने से अक्सर स्कूलों से गैर हाजिर रहने वाले शिक्षकों पर अंकुश लगेगा और शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा. अब योगी आदित्यनाथ सरकार ने प्रेरणा एप से अब शिक्षामित्रों और अनुदेशकों (Shikshamitra and Anudeshak) को जोड़ने का फैसला किया है. बुधवार को इसका शासनादेश जारी हो गया.


अपर मुख्य सचिव (बेसिक शिक्षा) रेणुका कुमार ने सभी बीएसए को निर्देश जारी किया है. इसमें कहा गया है कि प्रेरणा तकनीकी फ्रेमवर्क में शिक्षामित्रों और अनुदेशकों का भी डेटा उपलब्ध करवाया जाना है. इसलिए डेली मॉनिटरिंग पोर्टल पर इनका भी मोबाइल नंबर अपडेट किया जाए. शिक्षामित्रों व अनुदेशकों को प्रेरणा ऐप डाउनलोड कर शासन से मांगी गई सूचनाएं उपलब्ध करवाने के लिए प्रेरित किया जाए.


आदेश के मुताबिक परिषदीय स्कूलों में कार्यरत 1 लाख 70 हजार शिक्षामित्रों को भी प्रेरणा आप से जोड़ा जाएगा. बेसिक शिक्षा विभाग की अपर मुख्य सचिव रेड को कुमार ने सभी शिक्षामित्रों को प्रेरणा ऐप डाउनलोड करने और ऐप के माध्यम से सूचना अपलोड करने के निर्देश दिए हैं. अपर मुख्य सचिव ने सभी बीएसए को उनके जिलों में कार्यरत शिक्षामित्रों का डाटा मोबाइल नंबर सहित अपलोड कराने के निर्देश दिए हैं.


क्या है प्ररणा एप

योगी सरकार 5 सितंबर से प्रेरण एप (Prerna App) लांच किया है जिसमें बच्चे-बच्चियों और शिक्षक-शिक्षिकाओं की उपस्थिति सेल्फी से दर्ज होनी है. इस सेल्फी को प्रेरणा एप पर डाउनलोड किया जाएगा. यह सेल्फी 4 बार, एक विद्यालय खोलने के दौरान, दूसरी प्रार्थना के दौरान, तीसरी मध्याह्न में और चौथी छुट्टी होने पर एप में भेजनी है. जिसका पूरे प्रदेश भर में विरोध शुरू हो चुका है.


प्रेरणा एप का ये है प्रोसेस

सबसे पहले अपने मोबाइल नंबर से ‘प्रेरणा’ मोबाइल ऐप पर रजिस्ट्रार करना होगा. रजिस्ट्रार के समय चार अंकों का पिन बनाना होगा. इसके बाद मोबाइल की स्क्रीन पर प्रदर्शित प्रेरणा ऐप के आइकन को क्लिक करना होगा. अगली स्क्रीन दिखेगी, इसमें आपको अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर और आपके द्वारा बनाया गया चार अंकों का पिन उपयोग करना है. फिर लाग-इन के बटन को दबाएंगे. स्क्रीन पर आपको अपने विद्यालय में क्या-क्या कार्य करने है, उसका विवरण दिखेगा. जैसे अध्यापक उपस्थिति, प्रार्थना सभा की उपस्थिति, मध्याह्न भोजन आदि के विकल्प होंगे.


Also Read: UP Police को हाईटेक बनाएगी योगी सरकार, रेंज स्तर पर बनेंगे फ़ॉरेंसिक लैब और पुलिस यूनिवर्सिटी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: आपस में भिड़े सपा और भाजपा कार्यकर्ता, जमकर चले ईंट-पत्थर और कुर्सियां

Jitendra Nishad

ओडिशा: कांग्रेस ने परिणाम से पहले ही मानी हार, प्रदेश अध्यक्ष बोले- हम विपक्ष का दर्जा भी गँवा सकते

BT Bureau

ट्रांसपोर्ट हड़ताल खत्म होने पर व्यापारियों ने ली राहत की साँस

Satya Prakash