Breaking Tube
News Politics

‘कपिल मिश्रा की सदस्यता रद्द कर दो वरना केजरीवाल मुझे मार डालेगा’

आम आदमी पार्टी के बागी विधायक कपिल मिश्रा (Kapil Mishra) पर पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल रहने को लेकर बुधवार को विधानसभा अध्यक्ष के समक्ष सुनवाई हुई. विधायक सौरभ भरद्वाज (Saurabh Bhardwaj) की शिकायत पर संज्ञान लेते हुए विधानसभा अध्यक्ष रामनिवास गोयल ने कपिल मिश्रा को व्यक्तिगत सुनवाई के लिए बुलाया था. इस दौरान मिश्रा ने आरोप लगाया कि विधानसभा अध्यक्ष ने उन्हें सुनवाई के दौरान हुई कार्रवाई के विवरण लिखित में देने से इंकार कर दिया और कहा की सुनवाई के नियम व खुद तय करेंगे. मिश्रा ने बताया कि सुनवाई में मीडिया होता तो देखता सौरभ भारद्वाज रो रहा था- “कपिल मिश्रा की सदस्यता ख़तम कर दो वरना केजरीवाल मुझे मार डालेगा”.


कपिल मिश्रा ने इसे लेकर गुरुवार को एक ट्वीट किया. उन्होंने लिखा, “कल सुनवाई में मीडिया होता तो देखता सौरभ भारद्वाज रो रहा था- “कपिल मिश्रा की सदस्यता ख़तम कर दो वरना केजरीवाल मुझे मार डालेगा” मैंने कार्यवाही के विवरण लिखित में मांगे हैं अध्यक्ष का कहना हैं ना मीडिया आने दूंगा, ना लिखित विवरण दूंगा लिखित विवरण आ गया तो सच सामने आ जायेगा.



मिश्रा के वकील अश्विनी दुबे ने नियम दिखाकर कहा कि विधायक सौरभ भारद्वाज की बात सुनने लायक नहीं है मिश्रा की तरफ से वकील अश्विनी दुबे, अश्विनी उपाध्याय और प्रशांत पटेल कार्रवाई में आए थे सुनवाई के बाद वकील अश्विनी दुबे ने कहा कि अध्यक्ष महोदय ना नियमों के मुताबिक सुनवाई करना चाहते ना कार्यवाही का विवरण लिखित में देना चाहते ऐसा करना उनकी नीयत पर सवाल खड़े करता है, जबकि वकील अश्विनी उपाध्याय ने कहा कि भारत के संविधान की ताकत है कि चाहते हुए भी केजरीवाल कपिल मिश्रा की सदस्यता खत्म नहीं करवा सके. यह मामला देश का एक ऐतिहासिक केस होगा.


बता दें हाल ही में आम आदमी पार्टी ने दिल्ली में अपने दो बागी विधायकों को विधानसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराने का स्पीकर से अनुरोध किया था. दरअसल चांदनी चौक से आप विधायक अलका लांबा और करावल नगर से कपिल मिश्रा पिछले काफी समय से पार्टी और अरविंद केजरीवाल के खिलाफ अपना मोर्चा खोले हुए हैं.


Also Read: संगठन में बड़े बदलाव की ओर बीजेपी, यूपी फतह कराने वाले सुनील बंसल का बढ़ सकता है कद


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

मायावती के मंच पर आते ही बेकाबू हुई समर्थकों की भीड़, पुलिस कर्मियों को धक्का देकर तोड़े बैरियर

S N Tiwari

सावरकर को अब ‘वीर देशभक्त’ नहीं बल्कि ‘अंग्रेजों से माफ़ी मांगने वाला’ पढ़ाएगी राजस्थान की कांग्रेस सरकार

BT Bureau