Breaking Tube
Police & Forces

फर्रुखाबाद: पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ में चार शातिर गिरफ्तार, दारोगा के हाथ में लगी गोली

उत्तर प्रदेश पुलिस के ऑपरेशन क्लीन में एक बार फिर मंगलवार की रात को इटावा बरेली हाईवे पर पुलिस मुठभेड़ हो गयी. जिसमें एक दारोगा और बदमाश दोनों को गोली लगी. दोनों को इलाज के लिए लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया. इस मुठभेड़ में फर्रुखाबाद (Farrukhabad) पुलिस ने कुल चार बदमाशों को गिरफ्तार किया है. बदमाशों की गिरफ्तारी से लूट की दो वारदातों को खुलासा हुआ है.


मुखबिर ने दी थी सूचना

जानकारी के मुताबिक, मंगलवार रात को फर्रुखाबाद (Farrukhabad) के राजेपुर के थानेदार पुलिस फोर्स के साथ हाईवे पर जमापुर चौराहे के पास वाहनों की चेकिंग कर रहे थे. स्वाट टीम प्रभारी कुलदीप दीक्षित को सूचना मिली कि 28 सितंबर को रोडवेज बस में हुई सर्राफ से लूट में शामिल बदमाश किसी बड़ी घटना की फिराक में गढ़िया के बाग में छिपे बैठें हैं. तो उन्होंने छानबीन शुरू कर दी.


Also Read: झांसी: पुलिस एनकाउंटर में ढेर हुआ खनन माफिया, इंस्पेक्टर को बुलाकर मारी थी गोली


उन्होंने अपनी पुलिस टीम के साथ बदमाशों को बहार आने के लिए कहा तो बदमाशों ने पुलिस पर ही फायरिंग कर दी. जिसके बाद दारोगा संदीप कुमार के हाथ में गोली लगी. पुलिस की जबावी फायरिंग में एक बदमाश डोरीलाल भी घायल हो गया जबकि अन्य तीन को पुलिस ने पकड़ लिया.


Also Read : झांसी एनकाउंटर: पुष्पेन्द्र के परिजनों से मिलने पहुंचेंगे अखिलेश यादव, परिजनों ने रिश्वत न देने पर मारने का लगाया है आरोप


लूट की वारदातों का हुआ पर्दाफाश

पूछताछ में बदमाशों के नाम बालकराम निवासी बादशाह नगर,सुग्रीव निवासी ग्राम दिलावरपुर, शाहजहांपुर, पोपट निवासी बोरण्वाडी महाराष्ट्र बताये गये हैं. फर्रुखाबाद (Farrukhabad) पुलिस के मुताबिक, इन सभी की गिरफ्तारी से लूट की दो वारदातों का पर्दाफाश हुआ है.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी: नमाज पढ़कर लौट रहे बाइक सवार का चालान काटने पर लोगों ने किया सब इंस्पेक्टर पर हमला, चेयरपर्सन ने गाड़ी में बैठाकर दारोगा को भीड़ से बचाया

Jitendra Nishad

डाउनलोड कीजिए UPCOP एप और घर बैठे दर्ज कराइए FIR, ये सुविधाएं भी मिलेंगी

BT Bureau

संभल: आला अफसरों की बड़ी चूक, ड्यूटी पर शहीद सिपाहियों को ‘तिरंगा’ तक नसीब नहीं हुआ

BT Bureau