Breaking Tube
Police & Forces

मुजफ्फरनगर: गरीब अशफाक नहीं मना पा रहा था बकरीद तो इंस्पेक्टर अजय कुमार ने दिलाये नए कपड़े और खाना खिलाकर मनवाया त्यौहार

आपने पुलिसकर्मियों के कई रूप देखे होंगे, लेकिन जिसके बारे में हम आपको बताने जा रहे हैं वो वाकई सराहनीय है. दरअसल, मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में सिखेड़ा थाना प्रभारी ने एक अनजान और बेसहारा बुजुर्ग के साथ ऐसी ईद मनाई जिसको देखकर आस-पास के लोगों ने भी उनकी काफी तारीफ की. थानेदार ने न सिर्फ बेसहारा बुजुर्ग को पहनने के लिए कपड़े दिलवाए और साथ ही उन्हें पास बैठकर अच्छा खाना भी खिलाया.


खाकी का दिखा दूसरा रूप

जानकारी के मुताबिक, सोमवार के दिन की सबसे बड़ी और शानदार ईद जनपद मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) में मनाई गयी. सबसे बड़ी बात इस ईद में ना कोई वीआईपी शरीक था ना कोई मुस्लिम शरीक था ना कोई हिंदू शरीक था अगर कोई शरीक था तो वह खाकी का जीता जागता पहरेदार, जो आम जनमानस से लेकर आवाम तक 24 घंटे पहरेदारी करता है.


दरअसल, जनपद मुजफ्फरनगर कमांडर अभिषेक यादव के नेतृत्व में जनपदीय पुलिस ने जहां कावड़ यात्रा के दौरान अपना 100 फ़ीसदी सेवाएं देकर विभिन्न विभिन्न प्रदेशों में उत्तर प्रदेश पुलिस का नाम बढ़ाया है, वही ईद के पाक त्यौहार पर मुजफ्फरनगर पुलिस ने मानवीय पहल में सभी को पीछे छोड़ दिया. जब सिखेड़ा थाना प्रभारी अजय कुमार रात में गश्त पर जा रहे थे तो सड़क पर उन्हें एक लाचार बेसहारा व्यक्ति नग्न अवस्था में घुमते हुए मिला.


Also Read: IG आगरा जोन सतीश गणेश की कार्यशैली से खुश हुआ शख्स, प्रशंसा पत्र के साथ भेजा 500 रुपये का ईनाम


थानेदार अजय कुमार सुनसान सड़क पर गाड़ी रोककर उस बेसहारा व्यक्ति को अपनी गाड़ी में बैठाकर थाने ले आये. भूख प्यास से बेखबर उस व्यक्ति ने अपना नाम अशफाक बताया. इंस्पेक्टर द्वारा मानवीय पहल करते हुए उस बेसहारा नग्न व्यक्ति को साफ-सुथरे कपड़े उसी समय पहनाये. इसके बाद थाने में खूब खातिरदारी के साथ अशफाक के साथ ईद मनाई.


परिवार की तलाश में जुटे पुलिसकर्मी

इंस्पेक्टर के इस बड़े कदम के साथ थाने के सभी कर्मचारियों ने एक सभ्य परिवार का परिचय दिया. अब फ़िलहाल पुलिस बल द्वारा उनके परिवार को ढूंढने के प्रयत्न किए जा रहे हैं, थानेदार के इस कदम से मौजूद वहां थाने के कर्मचारियों ने खुले दिल से सराहा.


Also Read: आईजी सतीश गणेश ने पीड़ित बनकर ली थानेदार की परीक्षा, पास होने पर थपथपाई पीठ और दिया 5000 का ईनाम


एसएसपी करते हैं त्यौहार पर कड़े इंतजाम

बता दें कि इससे पहले भी सावन के महीने में मुजफ्फरनगर (Muzaffarnagar) के एसएसपी अभिषेक ने कांवड़ यात्रा के लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये थे. उनकी कार्यशैली की वजह से ही बिना किसी दिक्कत के श्रावण मॉस की कांवड़ यात्रा का समापन हुआ.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

लखनऊ: IPS अधिकारी की जातिसूचक टिप्पणी, फेसबुक पर लिखा- अहीरों, चमारों और मुसलमानों केवल उनको वोट दो जो तुम्हारे जमात के हैं…

S N Tiwari

IPS जसवीर सिंह सस्पेंड, कभी एसपी रहते हुए सीएम योगी पर लगाया था रासुका

Jitendra Nishad

‘गोरक्षकों के खिलाफ मुकदमें वापस नहीं लिए तो पूरा अलीगढ़ जलेगा’, पुलिस को मिली धमकी से मचा हड़कंप

BT Bureau