Breaking Tube
Police & Forces

नोएडा: सब इंस्पेक्टर ने चीनी नागरिक को सुरक्षित पहुंचाया घर, जंगल में भटकने के बाद रोने लगा था शिंग फू

noida police helped chinese citizen

उत्तर प्रदेश के नोएडा जिले से पुलिस का एक मानवीय कार्य सामने आया है. जहां सब इंस्पेक्टर ने जंगल में भटक हुए एक चीनी नागरिक को सुरक्षित वहां से ढूंढ निकाला और सुरक्षित घर भी पहुंचाया. जंगल में भटकने के बाद यह चीनी नागरिक रोने लगा. इस दौरान सब इंस्पेक्टर ने चीनी नागरिक को ग्रेटर नोएडा में उसके घर वापस पहुंचाने में मदद की.


Also Read: हरदोई: दारोगा ने सिपाही के साथ मिलकर UP-100 के सिपाहियों को बुरी तरह पीटा, महकमे में हड़कंप


पुलिस के अनुसार चीनी नागरिक की पहचान शिंग फू के तौर पर हुई है, जो यहां मोबाइल उत्पादन कंपनी में काम के सिलसिले से आया था. लेकिन उसका फोन और पर्स कहीं खो गया था. पुलिस ने बताया कि शिंग फू को हिंदी या अंग्रेजी नहीं समझ में आती है. मंगलवार को वह अपने साथियों से भी बिछड़ गया था और जंगल में भटक गया था.


Also Read: काफी समय तक खड़े होकर ड्यूटी करने वाले पुलिसकर्मियों की फट सकती हैं पैर की नसें


कासना पुलिस थाना क्षेत्र के तहत आने वाली एक पुलिस चौकी के प्रभारी सब इंस्पेक्टर कोमल सिंह मंगलवार को रात करीब 09:30 बजे गौतम बुद्ध यूनिवर्सिटी के पास के इलाके में गश्त पर थे, जब उन्होंने जंगल के पास वाली सड़क पर कुछ संदिग्ध गतिविधि देखी. कोमल ने बताया कि ‘मैंने वाहन रोक कर इस बारे में जानना चाहा और वहां झाड़ियों के पास मुझे एक व्यक्ति नजर आया. मैंने उससे पूछा कि वह कौन है तो वह बस इतना कह सका ‘प्लीज हेल्प’.


Also Read: पुलिस कांस्टेबल की पत्नी को रिजर्व पुलिस लाइन उठा ले गया दबंग, दुष्कर्म के बाद ली पीड़िता की अश्लील तस्वीरें


कोमल ने बताया कि वह अंग्रेजी के बस यही दो शब्द जानता था और उसे हिंदी भी नहीं आती थी. लेकिन वह काफी परेशान लग रहा था. इसलिए उन्होंने उसे अपने कार में आने का इशारा किया और अपने एक पहचान वाले को फोन किया, जो एक निजी एजेंसी में अनुवादक के तौर पर काम करता है.


Also Read: लखनऊ: SP ने शेयर किया WhatsApp Number, कहा- थाने पर न हो सुनवाई तो मुझसे करें शिकायत


कोमल के अनुसार किस्मत से उसे चीनी भाषा आती थी और इस तरह से पता चला कि शिंग ग्रीनवुड सोसाइटी के फेज टू में रहता है. यह जगह वहां से कुछ 6-7 किलोमीटर दूर थी, जहां वह खो गया था. सिंह ने बताया कि उसे भूख भी लगी थी और उसने आईसक्रीम का एक ठेला देख कर आईसक्रीम खाने की इच्छा जताई.



सिंह ने बताया कि अपने समूह के साथ फिर से मिलने के बाद वह बहुत भावुक हो गया था. उसने टूटी-फूटी हिंदी में धन्यवाद किया और पुलिस एवं भारत को महान बताया.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

यूपी: 15 अगस्त को 116 पुलिसकर्मियों को DGP करेंगे सम्मानित, गोल्ड मेडल से नवाजे जायेंगे IG सतीश गणेश

BT Bureau

ग़ाज़ीपुर सिपाही मौत मामला: सीएम योगी आदित्यनाथ ने की मृतक सिपाही सुरेश वत्स के परिवार को आर्थिक सहायता देने की घोषणा

BT Bureau

अब ‘मिशन मंगल’ की मदद से लोगों की ‘यात्रा मंगल’ बनायेगी UP Police, मुहिम को सोशल मीडिया पर मिली सराहना

BT Bureau