Breaking Tube
Police & Forces

यूपी: शराब तस्करी का रैकेट चला रहे 2 सिपाहियों को पुलिस ने रंगे हाथ पकड़ा, गिरफ्तार कर बरामद किया करीब 5 लाख की बोतलों का जखीरा

उत्तर प्रदेश के वाराणसी जोन में शराब तस्करी के मामले में दो सिपाहियों की मिलीभगत की बात सामने आई है. खुलासा होने के बाद वाराणसी के रामनगर थाने में तैनात दोनों सिपाहियों को चंदौली (Chandauli) पुलिस ने गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. गिरफ्तारी के वक्त दोनों सिपाहियों ने पुलिसकर्मियों के साथ मारपीट भी की थी.


पांच लाख की अवैध शराब बरामद

जानकारी के मुताबिक, बीते सोमवार की रात चंदौली (Chandauli) पीडीडीयू नगर कोतवाली और क्राइम ब्रांच की टीम ने सोमवार की रात वाहन चेकिंग के दौरान एक नई क्रेटा कार (यूपी 16 जीडी 0160) की जांच की तो उसमें लगभग पांच लाख रुपये की अवैध शराब बरामद की गई.


Also Read : बहराइच: दारोगा ने पुलिस के काले कारनामों की खोली पोल, कहा- ‘रिश्वत हम नहीं लेते सिपाही लेते हैं’, Video हुआ वायरल


इस दौरान कार में दो युवक सवार थे. जिनका नाम दीपक और संदीप है. दोनों ने गुनाह कबूल करते हुए बताया कि यह शराब बिहार ले जाई जा रही थी. उन्‍होंने किसी विकास नाम युवक को फोन किया. विकास के कहने पर कुछ देर में वैभव यादव और सोनू यादव वहां पहुंच गए. दोनों ने अपना इंट्रो रामनगर थाने में तैनात सिपाही के आधार पर दिया.


Also Read : बदायूं पुलिस ने कराई विभाग की किरकिरी, मुर्दे के खिलाफ दर्ज की FIR, मृतक की पत्नी ने लगाई गुहार


एसपी ने प्रेस कांफ्रेंस करके दी जानकारी

वहीं दूसरी तरफ मामले की जानकारी देते हुए चंदौली एसपी हेमंत कुटियाल ने मंगलवार को पुलिस लाइन में मामले का खुलासा किया. उन्होंने बताया कि शराब तस्करी का पूरा नेटवर्क वाराणसी पुलिस लाइन में तैनात सिपाही अजीत यादव के इशारे पर चल रहा था. अजीत के इशारे पर ही विकास और सोनू शराब से भरी गाड़ियों को बार्डर पार कराते थे. अजीत यादव शराब तस्कर गिरोह के सरगना विकास का रिश्तेदार भी है. गोरखपुर जिले के शिवाजी नगर खोराबाद निवासी वैभव कुमार यादव और मऊ जिले के सराय गंगापवी घोसी निवासी सोनू यादव वर्तमान में रामनगर थाने में तैनात हैं.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

CRPF की महिला जवान संभालेंगीं चुनावों की सुरक्षा व्यवस्था, आगरा पुलिस ने किया जोरदार स्वागत

S N Tiwari

हाशिमपुरा कांड: दिल्ली हाईकोर्ट ने पीएसी के 16 जवानों को सुनाई उम्रकैद की सजा

Jitendra Nishad

दसवीं में फेल होने पर स्कूल से निकाला गया था, आज हैं अलीगढ़ के एसएसपी

S N Tiwari