Breaking Tube
Police & Forces

यूपी DGP बोले- एफआईआर लिखे जाने के बाद शुरू होता है पुलिस का भ्रष्टाचार

UP DGP Om Prakash Singh said Police corruption starts after the FIR is written in Uttar Pradesh

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह (DGP Om Prakash Singh) ने शुक्रवार को पुलिस विवेचना (Police Investigation) से जुड़े कई मुद्दों पर अपनी स्पष्ट राय रखी. डीजीपी ने पिछले दिनों लाइसेंसी असलहों (Licenced Firearms) के कारतूस के हिसाब मांगे जाने के आदेश का जिक्र करते हुए कहा कि गृह विभाग के शासनादेश के बाद लाइसेंसी असलहों के कारतूस का हिसाब मांगा जा रहा है.


Also Read: यूपी: बदमाश को पकड़ने के लिए चलती ट्रेन से कूदा सिपाही, आधा किमी तक दौड़ाकर धर दबोचा


उन्होंने कहा कि हम पॉक्सो (Pocso Act) के मामलों में कोर्ट में मजबूत पैरवी कर रहे हैं. उन्होंने कानपुर में 23 दिन में आए पॉक्सो के मामले में सजा के ऐलान का जिक्र करते हुए कहा कि औरैया, कानपुर और आगरा पुलिस ने पॉक्सो में अच्छी कार्रवाई की है. डीजीपी ने कहा कि प्रदेश में पॉक्सो और रेप के मामलों में कमी आई है.


Also Read: Video: गोरखपुर जेल में कैदियों ने डिप्टी जेलर समेत 4 सिपाहियों को जमकर पीटा, मचा हड़कंप


साथ ही यूपी पुलिस पर लग रहे भ्रष्टाचार के आरोपों पर जवाब देते हुए डीजीपी ने कहा कि ‘एफआईआर लिखे जाने के बाद पुलिस की विवेचना के साथ ही पुलिस का भ्रष्टाचार शुरू होता है. हमने इसलिए इस तरह के मामलों में एडीजी लॉ एंड ऑर्डर पीवी रामास्वामी की अध्यक्षता में एक सदस्यीय कमेटी का गठन किया है. यह कमेटी संगीन मुकदमों में फर्जी नामजदगी न हो, इस पर नजर रखेगी और पारदर्शी ढंग से मुकदमों की पैरवी करेगी’.


Also Read: पुष्पेंद्र यादव केस: ADG ने परिवार के आरोपों को किया खारिज, बोले- एनकाउंटर टीम में शामिल ही नहीं थे आरोपी इंस्पेक्टर, मजिस्ट्रेटी जांच का इंतजार


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

पुलिसकर्मी हो जाएं सावधान…शुभकामना सन्देश देने पर होगी सख्त कार्रवाई!

BT Bureau

कन्नौज: दारोगा ने बनाया खास पार्टी के लिए वोट करने का दबाव, जबरन घर में घुसकर गर्भवती महिला से की गाली-गलौच

S N Tiwari

बरेली: सड़क हादसे के बाद देवदूत बनकर सामने आये सीओ आलोक अग्रहारी, परिजनों ने कहा ‘धन्यवाद सर’

BT Bureau