Breaking Tube
Police & Forces

यूपी: पुलिस की मनमानी, घर के सामने खड़ी कार पर किया ‘नो सीट बेल्ट’ का चालान, मैसेज पहुंचने पर सन्न रह गया वाहन मालिक

UP Traffic Police invoice chopping arbitrary manner in Agra and Lucknow

उत्तर प्रदेश में इन दिनों चालान का आंकड़ा बढ़ाने में जुटी यातायात पुलिस (Traffic Police) की मनमानी कुछ ज्यादा ही बढ़ गयी है. जुर्माना वसूलने को लेकर वो कहीं भी किसी भी कार का चालान दनादन काटने में लगे हुए है. दरअसल, आगरा (Agra) जिले के फतेहपुर सीकरी के एक पूर्व प्रवक्ता दिनेश चंद गोयल की कार का शनिवार को यातायात पुलिस ने ई चालान काटा. इसकी जानकारी मोबाइल पर मैसेज आने पर हुई. पूर्व प्रवक्ता का दावा है कि चालान (Invoice) में जिस कार का फोटो है, वह कार उनकी नहीं है. उस पर लिखा नंबर भी अलग है, उनकी कार घर में ही खड़ी है. चालान आने के बाद से वाहन मालिक बहुत ज्यादा परेशान हैं. अब वह पुलिस अधिकारियों से मामले की शिकायत करेंगे.


Also Read: यूपी पुलिस का बदला, दो सिपाहियों को मार कर भागा ढाई लाख का इनामी बदमाश शकील एनकाउंटर में ढेर


बता दें बजाज राष्ट्रीय इंटर कॉलेज के पूर्व प्रवक्ता दिनेश चंद गोयल के पास नंबर यूपी 80 ईजेड 7216 नंबर की कार है. उन्होंने बताया कि उनकी कार शनिवार को घर में ही खड़ी थी, सुबह तकरीबन 11:51 बजे मोबाइल पर एक मैसेज आया. इसमें यातायात पुलिस का ई-चालान काटने की जानकारी थी. इस पर उन्हें मैसेज में दिए लिंक पर क्लिक किया, इसमें चालान आ गया. चालान में दिख रही कार का रंग सफेद है, जबकि उनकी कार का रंग सिलेटी है. लेकिन, उनकी और चालान वाली कार का नंबर यूपी 80 ईजेड 7211 है. यह देखकर वह सन्न रह गए. यह चालान शहर में गलत पार्किंग को लेकर काटा गया है, जबकि वह शहर गए ही नहीं हैं.


दिनेश चंद गोयल का कहना है कि यातायात पुलिस को ठीक से पड़ताल करके ही चालान करना चाहिए ताकि दूसरे को इससे परेशानी न उठानी पड़े. वह मामले की शिकायत पुलिस अधिकारियों से करेंगे.


Also Read: यूपी: DGP के आदेश पर पीएसी में बढ़ाए गए 912 पद, जल्द होगी नियुक्ति


एसपी ट्रैफिक प्रशांत कुमार ने किये सवाल तो ऐसे मिले जवाब…

सवाल: गलत तरीके से ई चालान भेजे जा रहे हैं? ऐसा क्यों हो रहा है?
जवाब: कई वाहनों पर नंबर प्लेट पर अलग-अलग तरीके से अंक लिखे रहते हैं. चालान काटने के लिए जब नंबर देखा जाता है तो देखने में जो अंक नजर आते हैं, वह ई-चालान में लिखे जाते हैं. कई बार अंक की पहचान गलत होने की वजह से गलत चालान कट जाता है.


सवाल: गलत चालान पहुंचने की शिकायत लगातार आ रही हैं? लोग परेशान हो रहे हैं? वह क्या करें?
जवाब: लोगों की समस्या का समाधान किया जाएगा. अगर, गलत चालान पहुंच रहे हैं तो वाहन स्वामी शिकायत कर सकते हैं. मामला सही पाए जाने पर चालान को निरस्त भी किया जाएगा. चालान गाड़ी के सही मालिक के पास पहुंचाया जाएगा.


Also Read: औरैया: गोकशी के खिलाफ आवाज उठाने पर तीन पुजारियों की बेरहमी से की थी हत्या, मो. निजामुद्दीन गिरफ्तार


उधर दूसरी तरफ, राजधानी लखनऊ में घर पर खड़ी एक टीचर की कार का फोटो खींचकर पुलिस ने ‘नो सीट बेल्ट’ का चालान काट दिया है. चालान की रसीद मिलते ही टीचर के होश उड़ गए. उन्होंने परिवार के सदस्यों से पूछताछ की तो पता चला कि सीट बेल्ट लगाए बिना किसी को पुलिस ने पकड़ा ही नहीं था. टीचर ने पुलिस पर मनमानेपन का आरोप लगाया है.


दरअसल, नेशनल पीजी कॉलेज में अंग्रेजी के प्रवक्ता राकेश जैन के अनुसार 27 मई को कटे चालान की रसीद उन्हें 8 अगस्त को मिली. इसमें घर पर खड़ी उनकी जेन कार की फोटो लगाकर नो सीट बेल्ट का चालान काटा गया है. उनका कहना है कि 27 मई को उनकी गाड़ी घर पर ही खड़ी थी, ऐसे में चालान कटने का सवाल ही नहीं पैदा होता है.


Also Read: अलीगढ़: एक बाइक पर सवार थे चार युवक, जब काटा चालान तो दारोगा-सिपाही को जमीन पर गिराकर मारा, दीं भद्दी-भद्दी गालियां


आरोप है कि एमवी ऐक्ट में संशोधन के बाद अब सीट बेल्ट न लगाने का जुर्माना एक हजार रुपया हो गया है. पुलिस के मनमानेपन से अब यह रकम भरनी पड़ेगी. वाहन स्वामी का आरोप है कि चालान का आंकड़ा बढ़ाने में जुटी पुलिस ने घर के बाहर खड़ी गाड़ी का फोटो खींचकर चालान काट दिया.


वहीं, इस मामले में एएसपी ट्रैफिक पूर्णेंदु सिंह ने बताया कि ‘अगर चालान गलत काटा गया है तो उन्हें शिकायत दर्ज करवानी चाहिए. लेकिन अभी तक कोई शिकायत नहीं मिली है. शिकायत मिलने पर गलत चालान काटने वाले पुलिसकर्मी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी’.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

आजमगढ़: साइकिल सवार को बोलेरो से टक्कर मारकर भागे CO, पीछे बैठे 10 साल के मासूम की मौके पर ही मौत

BT Bureau

मथुरा: ड्यूटी जा रही महिला सिपाही पर फेंका तेजाब, हालत गंभीर

Jitendra Nishad

मेरठ: तबरेज की मौत के विरोध में बिना अनुमति निकाला जुलूस, सीओ-इंस्पेक्टर को उपद्रवियों ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, ISIS के झंडे भी फहराए

BT Bureau