Breaking Tube
Politics

सिक्किम में बड़ा उलटफेर, 25 साल तक मुख्यमंत्री रहे चामलिंग को छोड़कर SDF के सभी 10 विधायक BJP में शामिल

बीजेपी ने सिक्‍किम में बड़ा उलटफेर करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री पवन चमलिंग (Pawan Kumar Chamling) को छोड़कर सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (SDF) के सभी 10 विधायकों को अपने पाले में कर लिया है. यहां पूर्व मुख्‍यमंत्री पवन कुमार चामलिंग को छोड़कर सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के सभी विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है. सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट के 10 विधायकों ने मंगलवार को बीजेपी का दामन थाम लिया. दिल्‍ली में इस अवसर पर बीजेपी के कार्यकारी अध्‍यक्ष जेपी नड्डा और पार्टी महासचिव राम माधव भी मौजूद रहे.


इस साल मई में हुए चुनाव में 32 विधानसभा सीटों में 15 पर एसडीएफ ने जीत हासिल की थी और 15 सीटों पर सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा ने जीत हासिल की थी. इस जीत के बाद प्रेम तमांग ने मुख्यमंत्री का पदभार संभाला था. सिक्किम में पिछले 25 साल से एसडीएफ की सत्ता थी लेकिन इस साल मई में हुए चुनाव में पवन चामलिंग की सरकार को हार का सामना करना पड़ा था. चुनाव में चामलिंग अपनी 25 साल की सत्ता नहीं बचा पाए थे.


चामलिंग 1994 से राज्य के मुख्यमंत्री रहे थे. 68 साल के पवन लगातार सबसे ज्यादा वक्त (25 साल) तक मुख्यमंत्री रहने वाले इकलौते नेता हैं. उनकी 26 साल पुरानी पार्टी को 6 साल पहले बनी सिक्किम क्रांतिकारी पार्टी (एसकेएम) ने कड़ी टक्कर के बाद हराया. विधानसभा की 32 सीटों में से एसडीएफ को 15 और एसकेएम को 17 सीटें मिलीं. राज्य में सत्ता के लिए 17 सीटें होना जरूरी हैं.एसकेएम के प्रेम सिंह तमांग मुख्यमंत्री बने.


Also Read: यूपी: डेढ़ घंटे तक चले ऑपरेशन के बाद जुड़ी स्वतंत्र देव सिंह की कटी अंगुली, ऐसे हुआ था हादसा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

PM मोदी आज से 2 दिवसीय वाराणसी दौरे पर, पूर्वांचल में करेंगे 3 रैलियां

BT Bureau

गोरखपुर: आरक्षण की मांग कर रहे निषाद पार्टी के कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज, सांसद प्रवीण निषाद गिरफ्तार

Jitendra Nishad

शहीद के अंतिम संस्कार में ‘शव दाह स्थल’ पर जूते पहनकर बैठे BJP के मंत्री-नेता-सांसद, जवान के चचेरे भाई के विरोध पर उतारे

Jitendra Nishad