Breaking Tube
Politics

पश्चिम बंगाल: शाह के खिलाफ शिकायत दर्ज, हिरासत में लिए गए तेजिंदर पाल सिंह बग्गा

पश्चिम बंगाल में हालात बिगड़ते हुए नजर आ रहे हैं. लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण में होने वाले 9 सीटों पर मतदान को बीजेपी और टीएमसी ने साख की लड़ाई बना ली है. मंगलवार को अमित शाह के रोड शो में बवाल हुआ तो देर शाम तक कोलकाता में ही कई बीजेपी नेताओं को हिरासत में ले लिया गया. कोलकाता रोड शो में हुए बवाल के बाद भारतीय जनता पार्टी के प्रमुख अमित शाह के खिलाफ भी कोलकाता में शिकायत दर्ज हो गई है. वहीं, बीजेपी नेता अमित मालवीय ने आरोप लगाया है कि तेजिंदर पाल सिंह बग्गा समेत कई नेता इस समय हिरासत में हैं.


तेजिंदर बग्गा को बुधवार तड़के करीब तीन बजे कोलकाता पुलिस (Kolkata Police) ने हिरासत में लिया. दिल्ली बीजेपी के नेता तेजिंदर बग्गा मंगलवार को कोलकाता में हुए पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह (Amit Shah) के रोड शो में मौजूद थे.



बता दें कि मंगलवार को कोलकाता में हुए विशाल रोड शो के दौरान बीजेपी और तृणमूल कांग्रेस समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुईं. हालांकि अमित शाह को किसी तरह की चोट नहीं आई और पुलिस उन्हें सुरक्षित स्थान पर ले गई.


अधिकारियों ने बताया कि शहर के कुछ हिस्सों में हिंसा भड़क उठी जब विद्यासागर कॉलेज के भीतर से टीएमसी के कथित समर्थकों ने शाह के काफिले पर पथराव किया जिससे दोनों पार्टियों के समर्थकों के बीच झड़प हुई. गुस्साए बीजेपी समर्थकों ने भी उसी तरह प्रतिक्रिया दी और कॉलेज के प्रवेश द्वार के बाहर टीएमसी प्रतिद्वंद्वियों के साथ मारपीट करते नजर आए. बाहर खड़ी कई मोटरसाइकलों को आग के हवाले कर दिया गया. ईश्वर चंद्र विद्यासागर की आवक्ष प्रतिमा भी झड़प के दौरान तोड़ दी गई. पुलिसकर्मी पानी भरी बाल्टियों से आग बुझाने की कोशिश करते देखे गए. रोड शो के लिए तैनात किए गए कोलकाता पुलिस के दस्ते ने तुरंत हरकत में आते हुए इन समूहों का पीछा किया.


इस घटना के बाद पश्चिम बंगाल और दिल्ली का सियासी पारा और गरम हो गया है. BJP राजधानी दिल्ली में जंतर-मंतर पर घटना के विरोध में प्रदर्शन करेगी. उधर शाह भी मीडिया से बात करेंगे. उन्‍होंने मंगलवार को कहा था कि BJP के रोड शो को कोलकाता में जिस तरह का रेस्पॉन्स मिला, उससे TMC के गुंडे खिसिया गए और हमला कर दिया. उन्होंने ममता बनर्जी की पार्टी पर हिंसा का आरोप लगाते हुए निंदा की और लोगों से अपील की कि वे इस हिंसा का जवाब आखिरी चरण के चुनाव में अपने वोट से दें.


पश्चिम बंगाल के चर्चित समाज सुधारक ईश्‍वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने पर ममता बनर्जी ने बीजेपी पर निशाना साधा. उन्‍होंने कहा कि भगवा पार्टी को इसकी कीमत चुकानी पड़ेगी. ममता ने कहा, ‘यह पूरी तरह से दुर्भाग्‍यपूर्ण है. यह कॉलेज पर पूरी तरह से सुनियोजित हमला है. बीजेपी को विद्यासागर की प्रतिमा तोड़ने की इंच दर इंच कीमत चुकानी पड़ेगी.’ बाद में कलकत्‍ता यूनिवर्सिटी पहुंचने पर ममता बनर्जी ने कहा, ‘इस अपमान को मैं सहन नहीं करूंगी. कुछ नहीं करने के अपमान में जीने से अच्‍छा मर जाना है. इस तरह की घटनाएं नक्‍सली आंदोलन के दौरान भी नहीं हुई थी. हम उन्‍हें नहीं छोड़ेंगे.’ 


इस बीच बीजेपी ने भी ईश्‍वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोड़े जाने पर पलटवार किया है. बीजेपी के सोशल मीडिया हेड अमित मालवीय ने एक विडियो ट्वीट कर कहा, ‘विद्यासागर की मूर्ति कॉलेज के एक कमरे में ग्‍लास चेंबर के अंदर रखी थी लेकिन ममता बनर्जी ने टूटी हुई मूर्ति का निरीक्षण किया जो सुव्‍यवस्थित तरीके से उनके और मीडिया के लिए बाहर रखी गई थी. सवाल यह है कि वह घटनास्‍थल पर क्‍यों नहीं गईं?’ 



Also Read: घोसी से सपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार अतुल राय के मलेशिया भागने की आशंका, लुकआउट नोटिस जारी



( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

सपा-बसपा गठबंधन: मायावती ने बताया क्यों नहीं शामिल किया कांग्रेस को, अखिलेश बोले- अगला पीएम यूपी से

BT Bureau

चुनाव आयोग सख्‍त, योगी व माया के बाद अब मेनका और आजम के चुनाव प्रचार पर लगाई रोक

BT Bureau

सपा सरकार में DGP रहे जगमोहन यादव के बाद अब उनका भाई भी निकला भू-माफिया, सत्ता में पहुँच के चलते हथियाई दलितों और मंदिर की जमीन

BT Bureau