Breaking Tube
Politics

मायावती ने सपा से गठबंधन तोड़ने का किया एलान, अखिलेश यादव को ठहराया जिम्मेदार

बहुजन समाज पार्टी ने समाजवादी पार्टी के साथ अपना गठबंधन (SP-BSP Alliance) पूरी तरह से तोड़ लिया है. बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने सोमवार को इसका ऐलान करते हुए कहा कि बसपा अब आगे के सभी छोटे-बड़े चुनाव अपने बूते पर लडेगी.


बसपा प्रमुख मायावती (Mayawati) ने सोमवार को ट्वीट करते हुए कहा, “लोकसभा आम चुनाव के बाद सपा का व्यवहार बीएसपी को यह सोचने पर मजबूर करता है कि क्या ऐसा करके बीजेपी को आगे हरा पाना संभव होगा? जो संभव नहीं है. इसलिए पार्टी और मूवमेंट के हित में अब बीएसपी आगे होने वाले सभी छोटे-बड़े चुनाव अकेले अपने बूते पर ही लड़ेगी”.



मायावती (Mayawati) ने एक और ट्वीट किया, ‘बीएसपी की आल इंडिया बैठक कल लखनऊ में ढाई घंटे तक चली. इसके बाद राज्यवार बैठकों का दौर देर रात तक चलता रहा जिसमें भी मीडिया नहीं था. फिर भी बीएसपी प्रमुख के बारे में जो बातें मीडिया में फ्लैश हुई हैं वो पूरी तरह से सही नहीं हैं जबकि इस बारे में प्रेस नोट भी जारी किया गया था.’



दरअसल मायावती ने रविवार को हुई पार्टी पदाधिकारियों की बैठक में अखिलेश यादव पर मुस्लिमों को टिकट न देने की बात कहने का भी आरोप लगाया था. मायावती ने कहा कि अखिलेश ने उनसे कहा कि मुस्लिमों को टिकट देने पर वोटों का ध्रुवीकरण होगा और इसका फायदा बीजेपी को मिल सकता है. बता दें कि इसी साल 12 जनवरी को सपा-बसपा ने लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में महागठबंधन किया था. इसके तहत बसपा ने 38 सीटों पर चुनाव लड़ा था जबकि सपा ने 38 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे थे. चुनाव नतीजों में बसपा को 10 सीटें हासिल हुई थीं जबकि सपा महज 5 सीटें ही जीत पाने में कामयाब रही


Also Read: मायावती ने सपा को बताया ‘धोखेबाज पार्टी’, कहा- हार के बाद अखिलेश ने फोन तक नहीं किया

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करें, आप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

AAP में शामिल हुईं किन्‍नर अखाड़े की महामंडलेश्‍वर, प्रयागराज से चुनाव लड़ेंगी मां भवानी

S N Tiwari

भाजपा नेता का पीएम मोदी को पत्र- 500 और 2000 रुपये की नोट बंद करने की मांग

BT Bureau

कांग्रेस वरिष्ठ नेता बीके हरिप्रसाद का पुलवामा अटैक पर विवादित बयान, बोले- हमले के पीछे थी मोदी-इमरान की फिक्सिंग

BT Bureau