Breaking Tube
Politics

कमलेश तिवारी हत्याकांड: करणी सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष बोले- अगर गनमैन हटाने से हत्या होती है तो आजम खां और नसीमुद्दीन सिद्दीकी के भी हटाकर देखो…

Karni Sena National President Sukhdev Singh Gogamedi statement on Kamlesh Tiwari Murder Case in Sitapur

कमलेश तिवारी हत्याकांड (Kamlesh Tiwari Murder Case) के बाद से अलग-अलग संगठनों का लगातार विरोध प्रदर्शन जारी है. इसी के तहत उत्तर प्रदेश के सीतापुर (Sitapur) जिले में करणी सेना (Karni Sena) के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी (Sukhdev Singh Gogamedi) ने अपना विरोध प्रदर्शन व्यक्त कराया. सुखदेव सिंह ने कमलेश तिवारी की हत्या और उनके पूरे परिवार को न्याय दिलाने की मांग की. इस दौरान सुखदेव सिंह के साथ हजारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे.


सुखदेव सिंह गोगामेड़ी ने अपने बयान में योगी सरकार को लेकर कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ हिंदुत्व के नाम पर जाने जाते है, हिंदू योद्धा के नाम पर जाने जाते है और कमलेश तिवारी भी हिंदू सम्राट भारत के थे, इनकी हत्या हुई है. आज जो इनके घर की घेराबंदी और नजरबंदी मेरे समझ कम आयी. ये कमलेश तिवारी की हत्या नहीं बल्कि पूरे हिंदुत्व की हत्या हुई है.


उन्होंने आगे कहा कि कमलेश तिवारी की हत्या करने वाले लोग सीएम योगी की नाक काटकर गये है और योगी ने जो उन पर ढाई लाख का ईनाम रखा है और 5 लाख का ईनाम रखा है. आज ये जो 100, 200 और 500 आदमी लगा रखे है, ये 2-4 दिन पहले लगा देते तो आज ये घटना ही न हुई होती. उस दिन गनमैन क्यों नहीं थे, इस पर सम्बंधित अधिकारी के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए.


उन्होंने कहा कि अगर कमलेश तिवारी के गनमैन हटने के कारण उनकी हत्या हो सकती है तो आजम खां हुए नसीमुद्दीन सिद्दीकी जैसे जो लोग है. इनके भी गनमैन एक बार हटाकर देखो, तमाशा क्या होता है. जब तक कमलेश तिवारी को इंसाफ नहीं मिलेगा, हम करणी सेना वाले ऐसे ही क्रांति करते रहेंगे. हमने अपनी करणी सेना के आगे हिंदू भी लगा दिया है. हम कमलेश तिवारी के लिए अंतिम घड़ी तक लड़ेंगे और उनको माताजी एवं परिवार के साथ है.


उन्होंने कहा कि उन सालों की औकात नहीं थी जालीदार टोपी पहनकर कमलेश तिवारी की हत्या करने की. साले भगवा टोपी और कुर्ता पहनकर उनकी हत्या के लिये आये. अगर उनमें हिम्मत होती तो जालीदार टोपी पहनकर हत्या के लिए आते. हिंदुत्व का सहारा लेकर एक हिंदू शेर की हत्या की है. मैं सीएम योगी से हाथ जोड़कर विनती करना चाहता हूं कि इस परिवार को न्याय दिला दें, बाकी हमें कोई शिकायत नहीं है.


उन्होंने कहा कि कमलेश तिवारी के परिवार को नजरबंद क्यों कर रखा है. हर जगह बेरिकेट लगाकर लोगों को उनसे मिलने से क्यों रोका जा रहा है. ये योगी के साथ भी साजिश हो रही है. यहां पर जितने भी अधिकारी है, ये सब पूर्व की सरकारों के लगाए हुए है. ये चाहते है कि करणी सेना पर लाठीचार्ज हो, हिंदू महासभा पर लाठीचार्ज हो. साथ ही ये बात पीएम मोदी तक जाये और आपको सीएम पद से हटाया जाये.


उन्होंने कहा कि यूपी सरकार की करवाई एकदम जीरो है, हम उससे बिल्कुल भी संतुष्ट नहीं है. 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया था कि 24 घंटे में अपराधी सलाखों के पीछे होंगे, आज 5 दिन हो गए है अभी तक कोई भी अपडेट नहीं है. कोई नेता या मंत्री बीमार भी होता है तो उसका बुलेटिन जारी करके उसकी पल पल की खबर बताते है. मगर, इस परिवार के बारे में कोई बताने वाला भी नहीं है. इसलिए हम यहां पर कमिश्नर से मिलने आये है और आगे जो होगा तो उस पर बात करेंगे.


गौरतलब है कि बीते 19 अक्टूबर को हिंदू नेता कमलेश तिवारी की हत्या कर दी गयी थी. इस मामले में अब तक 3 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जबकि 3 लोग हिरासत में लिए गए हैं. शनिवार को यूपी पुलिस ने कमलेश तिवारी की हत्या मामले में 3 लोगों को गुजरात के सूरत से गिरफ्तार किया, जबकि एक महिला समेत यूपी के बिजनौर से 2 और महाराष्ट्र के नागपुर से एक को हिरासत में लिया गया है.



Also Read: CM योगी की चेतावनी, अगर सड़क किनारे दिखीं मुर्गे-बकरे काटने वाली दुकानें तो DM और SP पर होगी कार्रवाई


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

केजरीवाल का दावा- बच्चे प्राइवेट स्कूल छोड़कर सरकारी स्कूलों में जा रहे हैं, BJP नेता ने पूछा- AAP के कितने MP-MLA के बच्चे सरकारी स्कूल में पढ़ते हैं?

BT Bureau

Article 370 पर चर्चा: AMU के कश्मीरी स्टूडेंट्स ने ठुकराया CM योगी का न्योता, बोले- हम कठपुतली नहीं, अनुच्छेद 370 हटाने का फैसला पूरी तरह से गलत

BT Bureau

लोकसभा चुनाव परिणाम आने से पहले ही मायावती के घर लग रहा है अफसरों का जमावड़ा

BT Bureau