Breaking Tube
Crime Politics

यूपी: IAS अफसर को फंसाने के लिए कद्दावर नेता और लड़की के बीच हुआ 30 लाख का सौदा, इस तरह से हुआ ‘हनी ट्रैप’ की साजिश का खुलासा

Leader gave to Girl a contract of 30 Lakh to Honey Trap IAS Officer in Moradabad

उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad) जिले में ब्यूरोक्रेसी को बैकफुट पर लाने के लिए मंडल के ही एक कद्दावर नेता द्वारा एक आईएएस अफसर (IAS Officer) को हनी ट्रैप (Honey Trap) में फंसाने की साजिश रचने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. जहां अफसर के पास लगातार पहुंचीं एक लड़की की गैरजरूरी फोन कॉल्स पर शक होने के बाद हुई गोपनीय जांच से मामले का खुलासा हुआ है. सर्विलांस की मदद से अफसर इस साजिश की तह तक पहुंचे तो पता चला कि कॉल करने वाली लड़की को 30 लाख रुपये में अफसर को फंसाने का कांट्रेक्ट दिया गया था.


Also Read: यूपी: हेलमेट को लेकर लोग बना रहे मजेदार बहाने, चालान कटा तो गुस्साए इंस्पेक्टर ने छोड़ी बाइक, महिला बोली- जानते हो… मेरे पति दारोगा है


अमर उजाला में प्रकाशित खबर के मुताबिक हनी ट्रैप की साजिश का शिकार हुए जिले में तैनात एक आईएएस अधिकारी के पास पिछले कुछ दिनों से एक लड़की के लगातार फोन कॉल्स आ रहे थे. लड़की अलग-अलग बहानों से आला अफसर से बार-बार संपर्क कर रही थी. लड़की के व्यवहार और लगातार आते फोन कॉल्स पर आईएएस अफसर को शक हुआ तो उन्होंने इसकी छानबीन कराने का फैसला किया.


Also Read: पिस्टल लेकर स्कूल पहुंचा छात्र, सहपाठियों और शिक्षकों पर झाड़ा रौब, बोला- SSP और पुलिसवाले मेरे पापा के दोस्त है


इस दौरान गोपनीय तरीके से संबंधित लड़की और उसके फोन नंबर की जांच कराई गई तो लड़की के एक कद्दावर नेता के संपर्क में होने का खुलासा हुआ. इसके बाद इलेक्ट्रानिक सर्विलांस की मदद से पूरे मामले की पड़ताल एजेंसियों से कराई गई तो अफसर भी चौंक गए. सर्विलांस में लड़की को 30 लाख रुपये में अफसर को फंसाने का कांट्रेक्ट दिए जाने की बात सामने आई है.


Also Read: और भी ज्यादा कड़े हुए ट्रैफिक नियम, बिना इंश्योरेंस वाली गाड़ी चलाई तो सीधे RTO से आ जाएगा नोटिस, हो सकती है जेल


बता दें अफसर को फंसाने के लिए लिखी गई हनी ट्रैप की पूरी पटकथा उजागर होने के बाद इसकी जानकारी शासन तक भेजी गई है. अभी पूरे मामले को गोपनीय रखा गया है. माना जा रहा है कि लड़की सीडीआर में फोन कॉल्स को आधार बनाकर अफसर से अपने रिश्तों का दावा करने वाली थी. लेकिन इससे पहले ही उसका खेल उजागर हो गया.


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

विधायक परिवार की पीड़ा, वो तो भाई बन कर घर में आया था, लेकिन ज़िंदगी भर का ज़ख़्म दे गया

BT Bureau

सीतापुर: सपा छोड़ कांग्रेस में आये रामपाल यादव की फिसली जुबान, बोले- कांग्रेस ने मेरे साथ अन्याय किया, दंग रह गए जितिन प्रसाद

BT Bureau

प्रदेश प्रवक्ता बनाये जाने के बाद पहली बार देवरिया पहुंचे शलभ मणि त्रिपाठी का हुआ जोरदार स्वागत

BT Bureau