Breaking Tube
Politics

बेइज्जती के बाद समाधि के लिए तैयार दिग्गी राजा के बाबा, प्रशासन से माँगी अनुमति

लोकसभा चुनाव के दौरान भोपाल लोकसभा सीट से कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह के समर्थन में मिर्ची यज्ञ कर सुर्खियों में आने वाले और दिग्विजय की जीत की भविष्यवाणी करने और न जीतने पर समाधि लेने की घोषणा करने वाले बाबा वैराग्यनंद (Baba Vairagyanand) अब समाधि (Samadhi) लेने का एलान कर दिया है. इसके लिए बाबा ने भोपाल कलेक्टर से बकायदा अनुमति मांगी है.


भोपाल कलेक्टर को दिए आवेदन में बाबा ने समाधि लेने की अनुमति मांगते हुए 16 जून को दोपहर 2 बजकर 11 मिनिट पर जल समाधि लेने का ऐलान किया है.


बाबा वैराग्यनंद (Baba Vairagyanand) ने लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को चुनाव जिताने के लिए राजधानी के कोहेफिजा इलाके में मिर्ची यज्ञ किया था. इसी के दौरान उन्होंने ऐलान किया था कि यदि दिग्विजय सिंह लोकसभा चुनाव में भोपाल सीट से चुनाव नही जीतें तो वह जल समाधि ले लेंगे.



लोकसभा चुनाव के नतीजे आने और दिग्विजय सिंह की हार के बाद बाबा वैराग्यनंद से जल समाधि लेने को लेकर काफी सवाल उठे. सोशल मीडिया पर भी बाबा काफी ट्रोल भी हुए. इस बीच बाबा अचानक गायब हो गए. मीडिया के सवालों पर भी बाबा कुछ नहीं बोल रहे थे.



अखाड़े ने दिखाया था बाहर का रास्ता

वहीं, मिर्ची हवन के दौरान विवाद बढ़ता देख निरंजनी अखाड़े ने वैराज्ञानंद को निष्कासित कर दिया था. बाबा वैराज्ञानंद पंचायती अखाड़ा श्री निरंजनी के महामंडलेश्वर थे. अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरी ने कहा था कि स्वामी वैराग्यानंद का कार्य गलत था. उनका आचरण साधु-संतों की मर्यादा के खिलाफ था.


चुनाव परिणाम आने के बाद हुए गायब

चुनाव नतीजों में दिग्विजय सिंह को भोपाल में करारी हार मिली थी. परिणाम आने के बाद लोग लगातार बाबा वैराज्ञानंद की तलाश कर रहे थे, लेकिन उनका किसी का संपर्क नहीं हो पा रहा था. कई लोगों ने वैराज्ञानंद का मोबाइल नंबर ढूंढ लिया और उन्होंने उन्हें फोन कर पूछा- बाबा जी, अब समाधि कब लेंगे. लेकिन वैराज्ञानंद भोपाल से लापता हो गए थे.


Also Read: रेप के आरोपी BSP सांसद अतुल राय के घर चस्पा कुर्की का नोटिस, करीबी दे रहे पीड़िता को केस वापस लेने की धमकी


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


+

Related news

कांग्रेस के खिलाफ BJP का नया चुनावी नारा, ‘कर्ज माफी धोखा है, धक्का दो मौका है’

S N Tiwari

राजस्थान: विधानसभा चुनाव से पहले पार्टी प्रवक्ता की खोज में जुटी कांग्रेस

Ambuj

लखनऊ: बच्चों को ज्ञान के साथ-साथ संस्कार भी दें शिक्षक: राजनाथ सिंह

BT Bureau