Breaking Tube
Politics

कांग्रेस को अब सिद्धू की जरुरत नहीं, अमरिंदर सिंह के कारण इनसे प्रचार नहीं करवा रही: नवजोत कौर

चिलचिलाती गर्मी के बीच में पंजाब में सियासी पारा उस वक्त चरम स्तर पर पहुंच गया, जब राज्य सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने सीएम अमरिंदर सिंह और कांग्रेस पार्टी पर बड़ा हमला बोला, मंगलवार को मीडिया में नवजोत कौर ने बयान दिया है कि उनके पति सिद्धू से पंजाब में इसलिए प्रचार नहीं कराया जा रहा है कि क्योंकि कैप्टन अमरिंदर सिंह ऐसा नहीं चाहते हैं और उनके कहने पर ही कांग्रेस पार्टी ने सिद्धू को चुनाव प्रचार के लिए रोका है.


मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह और कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू के बीच कई मसलों पर मतभेद की सुर्खियां बनती रही हैं. अब सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने पंजाब में 19 मई को होने जा रहे लोकसभा चुनाव के लिए मतदान से पहले कैप्टन अमरिंदर सिंह को लेकर बड़ा दावा किया है. नवजोत कौर ने कहा है कि कांग्रेस पार्टी को सिद्धू की जरूरत नहीं है, इसीलिए उनसे पंजाब में प्रचार नहीं कराया जा रहा है.


देशभर में कांग्रेस पार्टी के लिए वोट मांगने जा रहे स्टार प्रचारकर नवजोत सिंह सिद्धू से पंजाब में प्रचार न कराए जाने की वजह नवजोत कौर ने कैप्टन अमरिंदर सिंह को बताया है. नवजोत कौर ने कहा है कि अमरिंदर सिंह नहीं चाहते कि सिद्धू पंजाब में प्रचार करे. यहां तक कि नवजोत ने खुद को टिकट न मिलने पर भी बड़ा आरोप लगाया.


नवजोत कौर यहीं पर नहीं रूकीं, उन्होंने कहा कि सीएम अमरिंदर सिंह की ही वजह से उन्हें लोकसभा चुनाव का टिकट नहीं मिला , कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ ही उन्होंने आशा कुमारी को भी अपना टिकट कटने के लिए जिम्मेदार बताया और कहा कि दशहरा पर जो ट्रेन हादसा हुआ था, उसके लिए मुझे वजह मानकर मेरा टिकट काटा गया और यह सब अमरिंदर सिंह के ही कहने पर हुआ है.


बता दें कि अमृतसर में दशहरा के मौके पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था, जिसमें शामिल होने के लिए नवजोत कौर पहुंची थीं. इस कार्यक्रम को देखने बड़ी संख्या में लोग इकट्ठा हुए थे, जिनमें से कुछ रेलवे ट्रैक पर भी खड़े थे और ट्रेन से कुचलकर उनमें से कई की मौत हो गई थी. इस हादसे को लेकर नवजोत कौर पर काफी सवाल उठे थे.


अब ऐसे में नवजोत सिंह सिद्धू की सेहत को लेकर चर्चा फिर से एक बार गर्म हो गयी है. दरअसल, सिद्धू ने एक जारी बयान में बताया गया था कि उन्होंने रविवार की सुबह चंडीगढ़ में डॉक्टरों से कन्सल्ट किया. इस दौरान डॉक्टर्स ने उन्हें चार दिनों तक बिल्कुल नहीं बोलने की सलाह दी है. इसके अलावा उन्हें इंजेक्शन और स्टेरॉयड के साथ-साथ 48 घंटों के लिए पूरा आराम करने के लिए कहा गया है लेकिन आज उनकी पत्नी के बयान ने पार्टी के अंदर चल रहे कलह को सबके सामने ला दिया.


Also Read: चीनी मिल घोटाले में मायावती की बढ़ी मुश्किलें, अब ED करेगी मनी लॉन्ड्रिंग की जांच


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

बीजेपी सरकार ने पूर्वांचल से खत्म किया माफिया राज: अमित शाह

BT Bureau

जानें क्या है शारदा चिटफंड घोटाला, और कैसे चलता है चिटफंड का यह पूरा गोरखधंधा

BT Bureau

उर्दू अखबार के एडिटर ने दी चुनौती, कहा- मैं गलत हूं तो राहुल गांधी कहें ‘कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी नहीं है’

BT Bureau