Breaking Tube
Politics

योगी सरकार से बर्खास्तगी के बाद ओपी राजभर को लग सकता है एक और बड़ा झटका, पार्टी के 3 विधायक थाम सकते हैं BJP का दामन

सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर के लिए मुश्किलें मानों कम होने का नाम नहीं ले रहीं हैं. योगी सरकार से बर्खास्तगी के बाद अब सियासी गलियारों में चर्चा चल रही है कि सुभासपा के तीन विधायक लम्बे समय से पार्टी से नाराज चल रहे और अब वे बीजेपी का दामन थाम सकते हैं. अगर ऐसा होता है तो ये ओम प्रकाश राजभर के लिए किसी बड़े झटके से कम नहीं होगा.


बता दें कि चर्चाओं को बल खुद ओम प्रकाश राजभर का वह बयान भी देता है जो उन्होंने सरकार से बर्खास्तगी के बाद दिया था. उन्होंने कहा था कि जिसको जहां जाना है जाए, हम किसी को नहीं रोकेंगे. गौरतलब है कि वर्ष 2002 में बसपा से अलग होकर सुभासपा का गठन करने वाले राजभर साल 2017 में पहली बार विधानसभा पहुंचे और मंत्री बने. राजभर के साथ उनकी पार्टी के तीन सदस्य भी जीतकर विधानसभा पहुंचे हैं. वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में सुभासपा ने बीजेपी के साथ मिलकर आठ सीटों पर चुनाव लड़ा था. राजभर खुद गाजीपुर की जहूराबाद सीट से चुनाव जीते थे. त्रिवेणी राम भी इसी जिले की जखनिया और कैलाशनाथ सोनकर वाराणसी की अजगरा और रामानंद बौद्ध कुशीनगर की रामकोला सीट से चुनाव जीत कर विधानसभा पहुंचे.


सूत्रों के मुताबिक़ बीजेपी राजभर की पार्टी में नाराजगी का फायदा उठाने की तैयारी में है. बीजेपी ने तीनों असंतुष्ट विधायकों को अपने पाले में लाने का प्रयास तेज कर दिया है. तीनों विधायक को अपने पाले में लाकर राजभर को तगड़ा झटका देने की तैयारी बीजेपी ने शुरू कर दी है.


बता दें कि, राजभर पिछले तीन-चार महीने से बीजेपी के लिए सिरदर्द बने हुए थे. लोकसभा चुनाव में सीट बंटवारे पर सहमति न बनने के बाद 13 अप्रैल को उन्‍होंने इस्तीफा दे दिया था और बीजेपी के खिलाफ 39 सीटों पर प्रत्याशी भी उतार दिए. इसके बाद लगातार कह रहे थे कि मुख्यमंत्री उनके इस्तीफे को मंजूर नहीं कर रहे हैं. 19 मई को चुनाव खत्म होने के दूसरे दिन ही मुख्यमंत्री ने उनकी बर्खास्तगी की सिफारिश कर दी. साथ ही सुभासपा के 6 सदस्यों को भी हटा दिया गया है, जिन्हें निगमों में नियुक्ति दी गई थी.


Also Read: लोकसभा चुनाव परिणाम आने से पहले ही मायावती के घर लग रहा है अफसरों का जमावड़ा


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

महबूबा मुफ्ती की अपील- पवित्र रमजान के दौरान J&K में सीजफायर का ऐलान करे सरकार, आतंकी ना करें हमला

BT Bureau

उर्दू अखबार के एडिटर ने दी चुनौती, कहा- मैं गलत हूं तो राहुल गांधी कहें ‘कांग्रेस मुस्लिमों की पार्टी नहीं है’

BT Bureau

मायावती की धमकी के आगे झुकी कमलनाथ सरकार, बसपा नेताओं पर लगे केस होंगे वापस

BT Bureau