Breaking Tube
Lok Sabha 2019 Politics

बीजेपी के प्रस्ताव पर राजी नहीं राजभर, पूर्वांचल की 25 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारने का किया ऐलान

omprakash rajbhar

उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में भागीदार सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के मुखिया ओम प्रकाश राजभर ने बीजेपी को झटका देते हुए अकेले लोकसभा चुनाव लड़ने का फैसला किया है. राजभर आज 25 उम्मीदवारों के नाम की घोषणा भी करेंगे. हालांकि राजभर मंत्री पद से इस्तीफ़ा नहीं देंगे. उन्होंने कहा कि इस्तीफ़ा देने के लिए कल दोपहर को सीएम से समय मांगा था लेकिन कल उन्हें समय नहीं दिया गया. अब वो छठे और सातवें चरण के चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी उतारेंगे और मंत्री पद पर भी बने रहेंगे.बता दें कि काफी समय से इस बात की चर्चा चल रही थी.


बलिया के रसड़ा में पार्टी के नेताओं के साथ बैठक के बाद मीडिया को संबोधित करते हुए राजभर ने कहा कि उन्होंने कहा कि हमने हमेशा से ही गठबंधन धर्म निभाने का प्रयास किया. सहयोगी दल होने के नाते उन्होंने पूर्वांचल की केवल एक सीट से चुनाव लडऩे का प्रस्ताव रखा लेकिन हमारे प्रस्ताव को दरकिनार करते हुए भाजपा नेतृत्व ढुलमुल की नीति अपनाती रही. सहयोगी दल होने के नाते उन्होंने एनडीए के साथ रहने का अपना धर्म निभाया बावजूद इसके भाजपा नेतृत्व बराबर टाल मटोल करते रहे.


ओम प्रकाश राजभर ने कहा कि मुख्यमंत्री ने उन्हें अपने आवास पर बुलाया और उनसे केवल घोसी लोकसभा क्षेत्र से भाजपा के सिंबल पर चुनाव लडऩे का प्रस्ताव रखा. जिस पर उन्होंने इंकार कर दिया. हमने स्पष्ट रूप से मुख्यमंत्री को अवगत करा दिया कि हम किसी भी सूरत में भाजपा के सिंबल से चुनाव नहीं लड़े सकते. बार-बार मुख्यमंत्री से आग्रह करने के बाद भी मेरी भावनाओं को नहीं समझा और बाध्य होकर उसी रात तीन बजे भोर में मुख्यमंत्री आवास जाकर उनके निजी सचिव को अपना इस्तीफ़ा सौंप दिया लेकिन निजी सचिव ने लेने से इंकार कर दिया.


बता दें कि ओमप्रकाश राजभर दलित समाज से आते हैं और उनकी पार्टी पूर्वांचल में अपना दखल रखती है. 2017 के यूपी विधानसभा चुनाव में राजभर की पार्टी ने 4 सीटों पर जीत दर्ज की थी, जिसके एवज में ओमप्रकाश राजभर को योगी कैबिनेट में मंत्री बनने का अवसर दिया गया. राजभर की पार्टी का जनाधार पूर्वांचल के बलिया, गाजीपुर, मऊ और वाराणसी क्षेत्र में है. बीजेपी ने राजभर को 1 सीट देने का प्रस्ताव दिया था जिसपर सुभासपा मुखिया राजी नहीं हुए.


Also Read: आजम खान के बिगड़े बोल- समर्थकों से बोले, डरो मत..DM से मायावती के जूते साफ़ कराऊंगा


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


Related news

RSS शाखाओं को बैन करेगी कांग्रेस, मैनिफेस्टो में प्रतिबंध लगाने का किया वादा

Jitendra Nishad

शहीदों की श्रद्धांजलि समारोह में फोन चला रहे राहुल गांधी को बीजेपी सांसद ने कहा- शहीदों को सही से सम्मान भी नहीं दे सकते

S N Tiwari

दिल्ली में चुनाव से ठीक पहले AAP को बड़ा झटका, विधायक अनिल बाजपेयी BJP में हुए शामिल

BT Bureau