Breaking Tube
  • Home
  • Police & Forces
  • यूपी: ड्यूटी के दौरान सिपाही को डंपर ने कुचला, आंखों में आंसू लिए पत्नी बोली- अब कैसे होगा बच्चों का गुजारा
Police & Forces

यूपी: ड्यूटी के दौरान सिपाही को डंपर ने कुचला, आंखों में आंसू लिए पत्नी बोली- अब कैसे होगा बच्चों का गुजारा

UP Police constable

उत्तर प्रदेश पुलिस के एक सिपाही के साथ बीते रविवार को सुबह तड़के बड़ा हादसा हो गया, जिसमें उसकी मौत हो गई। इस हादस में सिपाही के साथ मौजूद होमगार्ड उमेश मिश्रा गंभीर रूप से घायल हो गए। दोनों बाइक से गश्त पर थे। इस दौरान सुबह करीब 3:15 बजे सूर्या तिराहे के पास औरेया की ओर जा रहे मौरंग से लदे डंपर ने दोनों को टक्कर मार दी। इस हादसे में गंभीर रूप से घायल सिपाही धीरज और उमेश को पुलिस ने सीएचसी अस्पताल भेजवाया, जहां से रेफर करने पर रास्ते में सिपाही ने दम तोड़ दिया।

 

तेज रफ्तार डंपर का शिकार हुा सिपाही

सूत्रों के मुताबिक, मूलरूप से नगला कुरावली मैनपुी निवासी धीरज कुमार पुत्र सहदेव यादव सिकंदरा थाने में तैनात था। शनिवार रात में धीरज राजपुर निवासी होमगार्ड उमेश मिश्रा के साथ गश्त पर निकला था। रविवार की सुबह तड़के करीब 3:30 बजे दोनों हाईवे पर सूर्या तिराहे के पास थे, इसी दौरान मौरंग लाद कर औरेया की तरफ जा रहे तेज रफ्तार डंपर ने उन्हें टक्कर मार दी। हादस के बाद चालक डंपर छोड़कर फरार हो गया।

 

Also Read : बसपा नेता की हत्या में नप गया पूरा थाना, थाना प्रभारी समेत 39 पुलिसकर्मी हटाए गए

वहीं, मौके पर पहुंची पुलिस ने दोनों को सीएचसी अस्पताल पहुंचाया, जहां से सिपाही धीरज को कानपुर रेफर कर दिया गया। वहीं, कानपुर ले जाने के दौरान सिपाही धीरज यादव में रास्ते में ही दम तोड़ दिया। सिकंदरा एसओ मानिक चंद्र पटेल के मुताबिक, सिपाही के शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। फरार डंपर चालक की तलाश की जा रही है।

 

Also Read: वाराणसी: 16 साल बाद जेल से ‘श्रीमद्भागवत गीता’ लेकर रिहा हुआ पाकिस्तानी कैदी, बोला- इस देश में बहुत प्यार मिला

 

अफसरों के कंधें पर धीरज का शव देख परिजनों के छलके आंसू

पोस्टमार्टम के बाद रविवार शाम को सिपाही धीरज यादव का शव पुलिस लाइन माती लाया गया। यहां अफसरों और सहकर्मियों ने राजकीय सम्मान के साथ उसे अंति विदाई दी। इसके बाद जब अफसरों ने मृतक सिपाही के शव को कंधा दिया तो परिजनों की आंखे नम हो गई हैं।

 

Also Read: वाराणसी: 16 साल बाद जेल से ‘श्रीमद्भागवत गीता’ लेकर रिहा हुआ पाकिस्तानी कैदी, बोला- इस देश में बहुत प्यार मिला

 

अफसरों के कंधा देते ही सिपाही की पत्नी रमा देवी बेहाल हो गई। वह रोते हुए बार-बार यही कर रही थीं कि अब उसका और उसके बच्चों का गुजारा कैसे होगा। हालांकि, एसपी का कहना है कि मृतक सिपाही के परिजनों को अनुमन्य सहायता प्रदान की जाएगी।

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

दिलीप घोष ने बांग्लादेशियों पर फोड़ा ज्वालामुखी कहा – भारत में 1 करोड़ बांग्लादेशी किसी को नहीं छोड़ेंगे

Satya Prakash

Video: आईपीएस अफसर पर सिपाहियों के शोषण का आरोप, खेतों में ड्यूटी लगाकर कटवा रहे धान

BT Bureau

नोएडा: थाना बादलपुर में तैनात पुलिसकर्मी को मिल रही मुंशी की गलती की सजा, रो-रोकर बुरा हाल

Jitendra Nishad

Leave a Comment