Politics

सपा कार्यकर्ता कान खोलकर सुन लें, आज से मायावती जी का अपमान हमारा अपमान है: अखिलेश यादव

समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव और बहुजन समाज पार्टी सुप्रीमो मायावती आज साझा प्रेस काफ्रेंस कर गठबंधन को लेकर सभी तरह के सवालों पर से पर्दा हटा दिया है. मायावती ने ऐलान किया कि उत्‍तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 38 पर बसपा और 38 पर सपा लड़ेगी. साथ ही अन्‍य 2 सीटें रिजर्व रखी गई हैं. इसके अलावा अमेठी और रायबरेली की 2 सीटें कांग्रेस के लिए छोड़ दी हैं.

 

Also Read: किसानों और गरीबों के लिए खजाना खोलेगी मोदी सरकार, मकर संक्रांति के बाद खाते में आएंगे 30 हजार

 

मायावती ने कहा ’25 साल बाद सपा और बसपा का गठबंधन बना है. आज ही यह प्रेस कांफ्रेंस पीएम मोदी और शाह की नींद उड़ाएगी.’ उन्‍होंने कहा कि उत्‍तर प्रदेश की जनता बीजेपी से त्रस्‍त आ गई है. इसलिए हमने गठबंधन कर चुनाव लड़ने का फैसला लिया है. जिससे किसी भी कीमत पर बीजेपी को केंद्र या राज्‍य की सत्‍ता पर आने से रोका जा सके.’ उन्‍‍‍‍‍‍‍होंनेे कहा कि कांग्रेस के समय घोषित इमरजेंसी लगी थी, जबकि BJP के राज्‍य में अघोषित इमरजेंसी लगी हुई है. उन्‍होंंने कहा कि सपा-बसपा गठबंधन केंद्र में BJP को नहीं आने देगा.

 

Also Read: यूपी: योगी सरकार में ताबड़तोड़ पुलिस एनकाउंटर के दिखे नतीजे, घटा अपराध का ग्राफ

 

सपा अध्यक्ष ने कहा कि आगामी लोकसभा चुनाव में सपा और बीएसपी मिलकर बीजेपी को हराएंगे. यह गठबंधन केवल चुनाव के लिए नहीं बल्कि बीजेपी के अत्याचार से लड़ने के लिए है. उन्होंने सपा कार्यकर्ताओं से अपील की कि बीजेपी वाले उन्हें पैसे की ताकत दिखाकर बरगलाने की कोशिश करेंगे, लेकिन उन्हें एकजुट रहना है. उन्होंने कहा कि सपा कार्यकर्ता बीएसपी के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर बीजेपी को हराने के लिए काम करें.

 

Also Read: सपा-बसपा गठबंधन: मायावती ने बताया क्यों नहीं शामिल किया कांग्रेस को, अखिलेश बोले- अगला पीएम यूपी से

 

अखिलेश यादव ने कहा कि इस गठबंधन की शुरुआत तभी से हो गई थी जब बीजेपी के कुछ नेताओं ने बीएसपी प्रमुख मायावती पर अशोभनीय टिप्पणी की थी. इसके बदले उन्हें दंडित करने के बजाय बीजेपी में ऊंचे पदों पर बैठा दिया. अखिलेश यादव ने सपा कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे आज से जान लें कि मायावती की प्रतिष्ठा को बचाना उनकी जिम्मेदारी है. उन्होंने इस गठबंधन के लिए पूरी प्रेस कांफ्रेंस में मायावती का पांच बार शुक्रिया किया.

 

Also Read: सपा-बसपा गठबंधन: मायावती ने बताया क्यों नहीं शामिल किया कांग्रेस को, अखिलेश बोले- अगला पीएम यूपी से

 

अखिलेश यादव ने कहा कि बहुजन समाज पार्टी से अगर हमें दो कदम पीछे भी हटना पड़ेगा तो हम हटेंगे और बीजेपी को कड़ा जवाब देंगे. अखिलेश ने कहा सपा कार्यकर्ता कान खोलकर सुन लें आज से मायावती जी का अपमान हमारा अपमान है, मैं बीजेपी के कार्यकर्ताओं से भी कहना चाहूँगा आगे से वो अगर मायावती जी के लिए कुछ कहेंगे तो वो मायावती जी के लिए नहीं हमारे लिए कहेंगे. आदरणीय मायावती का सम्‍मान मेरा सम्‍मान है और अगर कोई भी मायावती जी का अपमान करता है तो वो मेरा अपमान होगा. हमें संयम और धैर्य से काम लेना है. बीजेपी के हर षड्यंत्र को बेकार करना है.

 

Also Read: गेस्टहाउस कांड: उस दिन मायावती के साथ कुछ ऐसा हुआ था जिसने बदल डाला उनके कपड़े पहनने का स्टाइल

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

15 total views, 1 views today

Related news

Budget 2019: मायावती ने कसा तंज, बोलीं- जुमलों से भरा है मोदी सरकार का अंतिम बजट

Jitendra Nishad

गिरिराज सिंह बोले- विकट समय में भारत के हितों को कमजोर करने वाले महबूबा मुफ्ती जैसे को ‘गद्दार’ जरूर कहेंगे

Jitendra Nishad

मोदी सरकार का साथ देने उतरे शत्रुघ्‍न सिन्‍हा, अविश्वास प्रस्ताव के खिलाफ करेंगे वोटिंग

Ambuj

Leave a Comment