Politics

राफेल पर अखिलेश का राहुल को झटका, कहा- JPC जांच की कोई जरुरत नहीं

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव राफेल डील मामले पर आये सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अखिलेश यादव ने मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए इस मामले में मोदी सरकार को क्लीन चिट दे दी है. उन्होंने कहा ‘मुझे लगता है कि सुप्रीम कोर्ट सर्वोच्च है. हमने जेपीसी के लिए कहा जब सुप्रीम कोर्ट तस्वीर में नहीं थी, लेकिन अब शीर्ष अदालत का फैसला आया है. उन्होंने हर पहलू पर विचार किया है, इसलिए यदि कोई भविष्य में सवाल पूछना चाहता है तो उन्हें सुप्रीम कोर्ट के दरवाजे पर दस्तक देनी चाहिए.’

 

Also Read: बीजेपी के स्टार प्रचारक रहे योगी पर गोरखपुर सांसद का तंज, खुद अपनी सीट बचा नहीं पाए, दूसरों को क्या जीता पाएंगे

 

सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट से बड़ा कोई न्यायालय नहीं है. जनता को इससे ज्यादा किसी पर भरोसा नहीं है. JPC (संयुक्‍त संसदीय समिति) पर तो सुप्रीम कोर्ट की बात से पहले ही हमने मांग की थी. जंतर मंतर पर कहा था, जेपीसी बने. अब सुप्रीम कोर्ट का फ़ैसला आ गया है तो बात खत्‍म हो गयी. उन्‍होंने प्रदेश की बात करते हुए कहा, हजारों नौजवान डायल 100, पुलिस भवन और मंडी में नौकरी पा चुके हैं. ट्रैफिक समस्या पर जो फैसला हमने लिया था, सरकार ने उसे रोक दिया. 5 लाख लीटर अमूल का प्लांट लगाया अब गुजरात से टैंकर भरकर दूध आ रहा है और लखनऊ का नाम नहीं लिया जा रहा है.

 

सुनिए अखिलेश ने क्या कहा 

 

 

Also Read: UP का बेटा बनेगा MP का नाथ, कभी जेल में बंद संजय गांधी को कंपनी देने के लिए जानबूझकर किया था अपराध

 

बता दें शुक्रवार को राफेल मामले पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने कहा ने मोदी सरकार को क्लीन चिट देते हुए कहा था कि राफेल की गुणवत्ता पर कोई सवाल नहीं है. उन्हें विमानों की खरीद के एनडीए सरकार के फैसले में कोई अनियमितता नहीं मिली. राफेल सौदे में उन्हें कोई संदेह नहीं है. विमान देश की जरूरत है और इसकी खरीद प्रक्रिया को लेकर हम संतुष्ट हैं. कोर्ट के लिए यह सही नहीं है कि वह एक अपीलीय प्राधिकारी बने और सभी पहलुओं की जांच करे.’ कोर्ट ने सौदे में कंपनी के फायदे के आरोपों पर कहा, ‘हमें कुछ भी ऐसा नहीं मिला जिससे लगे कि कोई कॉमर्शल पक्षपात हुआ हो.’ कोर्ट ने कहा, ‘हम सरकार को 126 विमान खरीदने के लिए मजबूर नहीं कर सकते और कोर्ट द्वारा इस मामले के हर पहलु को जांच करना भी सही नहीं है. किमतों की तुलना करना कोर्ट का काम नहीं है.’

 

Also Read: सचिन पायलट के लिए इस मुख्यमंत्री की बेटी ने छोड़ दिया था घर, किसी फ़िल्मी स्टोरी से कम नहीं है इनकी ‘लव स्टोरी’

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

19 total views, 1 views today

Related news

मुलायम को लेकर शिवपाल ने दिया बड़ा बयान, अखिलेश की बढ़ सकती हैं मुश्किलें

Jitendra Nishad

कांग्रेस के आरोपों पर जेटली का जवाब, राफेल मुद्दे पर राहुल ने 7 बार बोला झूठ

Ambuj

मोदी सरकार ने अर्नब गोस्वामी को चुना नेहरू मेमोरियल का मेंबर, कांग्रेस की धमकी- जब हम सत्ता में आएंगे,निकाल फेकेंगे

BT Bureau

Leave a Comment