Breaking Tube
  • Home
  • Politics
  • सुशील मोदी बोले- समलैंगिकता पर फैसला सुनाने के लिए कोर्ट के पास समय, लेकिन राम मंदिर के लिए नहीं
Politics

सुशील मोदी बोले- समलैंगिकता पर फैसला सुनाने के लिए कोर्ट के पास समय, लेकिन राम मंदिर के लिए नहीं

2019 लोकसभा चुनाव से पहले अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर बयानबाजी तेज हो गयी है. हर कोई नफा- नुकसान तौल कर अपनी सहूलियत के हिसाब से इस मुद्दे पर बात रख रहा है. ताजा बयान बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी का आ रहा है. सुशील मोदी ने अयोध्या में विवादित स्थान पर जनवरी तक सुनवाई टाले जाने के सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर सवाल उठाया है.

 

Also Read: ये महिला पीएम मोदी को मानती है भगवान, इस दीवाली करेगी पूजा

 

सुशील मोदी ने कहा कि मस्जिद कहीं भी बन सकता है, लेकिन राम मंदिर अयोध्या में ही बनेगा. कोर्ट पर सवाल उठाते हुए उन्होंने कहा कि समलैंगिकता और अर्बन नक्सल पर सुप्रीम कोर्ट फैसला दे सकती है तो राम मंदिर पर क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि हम राम मंदिर को छोड़ नहीं सकते हैं, केंद्र सरकार भव्य राम मंदिर के पक्ष में है.

 

Also Read: सिग्नेचर ब्रिज के उद्घाटन पर आप विधायक अमानतुल्लाह खान ने मनोज तिवारी से की बदसलूकी, वीडियो वायरल

 

सुशील मोदी ने कहा कि 2010 में ही इलाहाबाद हाईकोर्ट ने फैसला सुनाया था. साथ ही उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट का आदेश दुर्भाग्यपूर्ण है. अदालतों ने राम मंदिर को लटकाकर रखने का उन्होंने आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि राम जन्मभूमि का मामला जब आता है तो कोर्ट के पास समय नहीं होता है.

 

Also Read: अब बच्चे बनेंगे दादा-दादी और माता-पिता के मास्टर, मोदी सरकार इस स्कीम पर कर रही है काम

 

बता दें इससे पहले केन्द्रीय मंत्री गिरिराज सिंह  इस मुद्दे पर कहा था कि  देश के 100 करोड़ से ज्यादा लोगों की आस्था प्रभु श्रीराम से जुड़ी हुई है. लोगों की उम्मीदों पर ठंडा पानी उड़ेल दिया गया, जिसकी वजह से उनमें नाराजगी और असंतोष व्याप्त है लेकिन जल्द ही मंदिर निर्माण की दिशा में रास्ता निकाला जाएगा. अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को दुनिया की कोई ताकत नहीं रोक सकती है. आरएसएस भी इस मुद्दे को लेकर तेज हो गयी है. हाल ही में उसने मंदिर निर्माण को लेकर 1992 जैसे आन्दोलन की बात भी कही थी.

 

Also Read: दारुल उलूम का नया फतवा- नेल पॉलिश इस्लाम में हराम, इसकी जगह मेहंदी लगाएं मुस्लिम महिलाएँ

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अंशु प्रकाश मारपीट मामले में आप विधायकों को अदालत से नहीं मिली राहत

Ambuj

आँखे तरसती रही उनको पाने की तलाश में, लेकिन हाथ लगी सिर्फ मायूसी

Satya Prakash

मोदी सरकार ने जोड़ा गया बड़ा प्रावधान, तीन तलाक विधेयक में बदलाव को मंजूरी दी

Satya Prakash

Leave a Comment