Politics

बरेली: सड़कों की खराब क्वालिटी को लेकर ब्रजेश पाठक सख्त, दिए जांच जाँच के आदेश

यूपी के बरेली में बीजेपी विधायक अपनी ही सरकार में लोक निर्माण विभाग में फैले भ्रष्टाचार से दुखी हैं. पीडब्लूडी के इंजीनियरों ने हाल ही में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत जो सड़कें डाली थीं वो महज एक दो महीने में ही जर्जर हो गईं. जब विधायक ने इसकी शिकायत पीडब्लूडी के बड़े अफसरों से की तो इंजीनियरों ने उनके खिलाफ मोर्चा खोल दिया है और एफआईआर की मांग कर रहे हैं. वहीं प्रभारी मंत्री और सूबे के विधि और न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक ने पूरे मामले की जाँच के आदेश दिए हैं.

 

नबाबगंज क्षेत्र में पिछले महीने दिसंबर में सड़कें डाली गई थीं जो अब उखड़ गई हैं. पूरी सड़क की बजरी उखड़ चुकी है और सड़क पर चलना मुश्किल हो रहा है. इतना ही नहीं जो सड़कें अभी डाली जा रही हैं वो भी ऐसी ही हैं. जब ग्रामीणों ने इसकी शिकायत बीजेपी के स्थानीय विधायक केसर सिंह से की तो उन्होंने मौके पर जाकर सड़क को देखा. इसके बाद इंजीनियरों और ठेकेदार को खरी खोटी सुनाई. पीडब्लूडी के इंजीनियर इस पर लामबंद हो गए और विधायक के खिलाफ मोर्चा खोल दिया. इंजीनियरों ने विधायक के खिलाफ एफआईआर की मांग की है और कई दिनों से कामकाज ठप कर रखा है.

 

इस मामले में प्रभारी मंत्री ब्रजेश पाठक का कहना है कि प्रधानमंत्री सड़क योजना की रिपोर्ट संतोष जनक नहीं है. इसलिए जिलाधिकारी की अध्यक्षता में एक समिति बनाकर डीएम और विधायक मौके पर जाकर सड़क देखेंगे और तीसरी एजेंसी से जाँच कराई जाएगी. अभी तक इन सड़कों की जाँच उनकी की लैब में होती थी लेकिन अब जब शिकायत हुई है तो इसकी तीसरी एजेंसी से जाँच करवाई जाएगी. इसकी रिपोर्ट 15 दिन में आएगी और अगर सड़कों में भ्रष्टाचार उजागर हुआ तो कार्यवाही की जाएगी.

 

Also Read: कानून मंत्री ब्रजेश पाठक बोले- जनभावनाओं को देखते हुए राम मंदिर पर जल्द फैसला सुनाए सुप्रीम कोर्ट

 

देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करेंआप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

यूपी में राम के बाद अब लक्ष्मण पर संग्राम, मूर्ति को लेकर लखनऊ में विवाद

Ambuj

फतेहपुर: मुंबई से नामांकन कराने आई श्रीदेवी, बोली- मैं हूं कांग्रेस से असली प्रत्याशी, सांसद कर रहे मेरा प्रचार

S N Tiwari

भाजपा सरकार ने सांस्कृतिक विकास की नई ज्योति जगाई जिसका गवाह बनेगा अयोध्या का दीपोत्सव: डा. चन्द्रमोहन

BT Bureau