Politics

पश्चिम बंगाल: ममता बनर्जी की पार्टी ने वोट मांगने के लिए बुलाये बांग्लादेशी कलाकार, बीजेपी ने जताई आपत्ति

लोकसभा चुनाव के लिए पहले चरण का मतदान हो चुका है. सभी राजनीतिक अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिए कोई कोर-कसर नहीं छोड़ रहे हैं. कुछ ऐसा ही पश्चिम बंगाल में देखने को मिला है. जब ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस (TMC) ने वोट मांगने के लिए बांग्लादेशी कलाकारों को बुला लिया, जिस पर बीजेपी ने आपत्ति जताई है.


दरअसल, रायपुर में रविवार को चुनाव प्रचार के दौरान बांग्लादेशी कलाकार फिरदौस को देखा गया, जहाँ वे उत्तर दीनाजपुर जिला स्थित रायगंज से टीएमसी उम्मीदवार कन्हैया लाल अग्रवाल के लिए वोट मांगते दिखे. अग्रवाल के इलेक्शन एजेंट मुशर्रफ हुसैन ने कहा कि फिरदौस बांग्लादेश में प्रसिद्ध कलाकार हैं और हमने उनसे रोड शो में हिस्सा लेने के लिये कहा था. वह मान गए.



प्रचार के लिए बांग्लादेशी कलाकार का पश्चिम बंगाल पहुंचने पर बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जताई है. बीजेपी की राज्य इकाई के अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा- भारतीय राजनीतिक दल कैसे एक विदेशी नागरिकता वाले शख्स (फिरदौस) को अपने राजनीतिक रोड शो के लिए बुला सकता है. मैंने इससे पहले ऐसा कभी नहीं सुना था. ऐसा लगता है कि पार्टी के लिए कोई भारतीय कलाकार नहीं मिला था. कल बनर्जी, (ममता बनर्जी) पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को TMC का प्रचार करने के लिए बुला लेंगी. भारतीय लोकतंत्र के महापर्व में हम एक बांग्लादेशी फिल्म स्टार का शामिल होने की हम निंदा करते है.


घोष ने कहा, ‘प्रचार के लिए बांग्लादेशी कलाकार को बुला कर TMC उत्तरी दीनाजपुर में 50 फीसदी मुस्लिमों मतदाताओं को आकर्षित करना चाहती है. तृणमूल हमसे डरी हुई है और ऐसे में वह यहां विदेशी कलाकारों को बुला रही है.’


Also Read: फतेहपुर सीकरी: बसपा प्रत्याशी ने राजबब्बर को बताया ‘नचनियां’, बोले- जहां मिलेगा दौड़ा-दौड़ाकर जूतों से मारूंगा


देश और दुनिया की खबरों के लिए हमेंफेसबुकपर ज्वॉइन करेंआप हमेंट्विटरपर भी फॉलो कर सकते हैं. )


622 total views, 4 views today

Related news

स्मृति ईरानी का अमेठी दौरा आज, जिले को देंगीं ‘डिजिटल विलेज’ के साथ ये बड़ी सौगातें

BT Bureau

अवैध खनन मामला: ED ने अखिलेश यादव पर दर्ज किया मनी लांड्रिंग का केस

Jitendra Nishad

बीजेपी विधायक बोले – राहुल गांधी को सोचना चाहिए उनके बाप-दादा चोर थे

Jitendra Nishad

Leave a Comment