Politics

जब वोटर ने सावित्री बाई फुले से पूछा- अपनी सीट पर किसी ग़रीब दलित को देंगी मौक़ा, तब सांसद की बोलती हुई बंद, Audio वायरल

उत्तर प्रदेश के बहराइच लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी की सांसद सावित्री बाई फुले ने पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है. इस्तीफ़ा देने के बाद उन्होंने बीजेपी पर दलित उत्पीड़न जैसे कई गंभीर आरोप लगाये हैं. इसी बीच सोशल मीडिया पर सावित्री बाई और उन्हीं के एक वोटर का ऑडियो वायरल हो रहा है. ऑडियो में वोटर के सवालों पर सांसद की बोलती बंद होती सुनाई दे रही है, लोग इस ऑडियो को जमकर फॉरवर्ड कर रहे हैं.

 

जानें क्या है इस ऑडियो में

ऑडियो में एक शख्स सांसद सावित्री बाई फुले को कॉल करता है. शख्स अपना नाम सर्वेश पांडेय और खुद को उनका वोटर बताता है. वोटर बातचीत के दौरान उनसे पूछता है कि आप किसी एक जाति की सांसद हैं या जनता की? जवाब में सांसद दलित सम्मान से जोड़कर पूछती हैं कि आपको दलितों का सम्मान करना है या नहीं करना है? और सवाल से कट लेती हैं.

 

आगे वोटर सांसद से पूछता है कि क्या आप अभी भी दलित शोषित हैं? सवाल के जवाब में सांसद विक्टिम कार्ड खेलते हुए कहती हैं कि तुम लोग हमें हरिजन कहते हो. वोटर सांसद से पूछता कि अगर आप दलितों का हित चाहती हो तो क्या आप अपनी आरक्षित सीट से किसी गरीब दलित को चुनाव लड़ाओगी…वोटर के सवाल पर सांसद की बोलती बंद हो जाती है और खुद को दलित बताकर विक्टिम कार्ड खेलते हुए फोन कट कर देती हैं.

 

सुनिए वायरल ऑडियो

 

 

बता दें, सावित्री बाई फुले ब्राह्मणों के खिलाफ दिए गए बयानों से अक्सर चर्चा में रहती हैं. हाल ही में उन्होंने राम मंदिर निर्माण का सिर्फ यह कहकर विरोध किया था कि इससे 3 प्रतिशत ब्राह्मणों को फायदा पहुंचेगा. उन्होंने मंदिरों को देश के तीन प्रतिशत ब्राह्मणों के कमाई का धंधा करार दिया था. सावित्री बाई फुले भगवान राम को भी मनुवादी करार दे चुकी हैं. भगवान पर आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा था कि राम मनुवादी और शक्तिहीन थे. अगर शक्तिहीन न होते तो अब तक मंदिर बन गया होता. हनुमान दलित थे, इसीलिए उन्हें इंसान से बंदर बना दिया गया और मुंह पर कालिख पोती गई व पूंछ लगा दी गई थी.

 

Also Read: Audio: सामने आया बीजेपी विधायक मंजू त्यागी और इंस्पेक्टर दिवाकर का पार्ट-2, विधायिका बोलीं- टांगे फाड़कर फेंक देना

 

( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

सीतापुर: पुलवामा शहीदों के परिजनों को बीजेपी विधायक ने दिया एक महीने का वेतन

S N Tiwari

प्रियंका का मिशन यूपी, 3 दिन में 40 घंटे तक और 42 लोकसभा सीटों के लिए मैराथन बैठक

BT Bureau

भाजपा विधायक बोले- राष्ट्रपिता का दर्जा महात्मा गांधी को नहीं, भीम राव आंबेडकर को दिया जाना चाहिए था

S N Tiwari