Police & Forces Social Media

मेरठ: दारोगा ने फेसबुक प्रोफाइल पर लिखा ‘मैं भी चौकीदार’, SSP बोले- पार्टी का प्रचार नहीं कर सकता पुलिसकर्मी, बैठाई जांच

Sub inspector kailash chand meerut

उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले में एक पुलिसकर्मी द्वारा आचार संहिता का उल्लघंन करने का मामला सामने आया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के रंग रंगे मेरठ जिले में एसओ थाना मेडिकल कैलाश चंद ने अपने फेसबुक प्रोफाइल में लिखा कि मैं भी चौकीदार हूं। प्रधानमंत्री मोदी से एसओ कैलाश चंद का मोह उनकी कार्यशैली पर सवाल खड़े करता है।


एसएसपी नितिन तिवारी ने बैठा दी जांच

यही वजह है कि एसएसपी नितिन तिवारी ने एसओ के खिलाफ जांच बैठाकर एसपी सिटी को सौंप दी। दरअसल, एसओ मेडिकल कैलाश चंद की फेसबुक आईडी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उसका नारा ‘मै भी चौकीदार हूं’ लिखा देखकर हर कोई हैरान रह गया। जिसके बाद उनकी प्रोफाइल का स्क्रीनशॉट तेजी से सोशल साइट पर वायरल होने लगा। फेसबुक यूजर्स सवाल उठाने लगे है कि एसओ मेडिकल कैसे निष्पक्ष चुनाव करा सकते हैं?


Also Read: सेक्स रैकेट में दो बार पकड़ी जा चुकी हैं कांग्रेस में शामिल होने वाली अर्शी खान, पाक प्रेम को लेकर रहीं हैं विवादों में


चूंकि मामला आचार संहिता के उल्लंघन का बनता है। ऐसे में इसका पता लगते ही एसओ कैलाश चंद ने तुरंत डीपी बदल दी। एसओ मेडिकल कैलाश चंद का कहना कि मेरी डीपी पर ऐसा कोई फोटो नहीं लगा है। हो सकता कि बच्चों ने मोबाइल में छेड़छाड़ की हो और फोटो लग गया हो। मेरी गलत मानसिकता नहीं है।


Also Read: हरदोई: जुआ खेलने की सूचना पर पहुंचे पुलिसकर्मियों को जमकर पीटा, मोहम्मद शाहबाज समेत 3 गिरफ्तार


उधर, एसएसपी नितिन तिवारी का कहना है कि कोई भी पुलिस वाला या फिर सरकारी कर्मचारी किसी भी पार्टी का प्रचार नहीं कर सकता। एसओ मेडिकल ने ऐसा किया है तो उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। चुनाव आयोग को जानकारी दी जाएगी। मामले की जांच एसपी सिटी करेंगे।


( देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें फेसबुक पर ज्वॉइन करें, आप हमें ट्विटर पर भी फॉलो कर सकते हैं. )

Related news

अयोध्या: राम जन्मभूमि की सुरक्षा में तैनात सिपाही की मौत, नहीं पहुंचे आला अधिकारी

Jitendra Nishad

महिला IAS अफसर ने कहा- नोटों से हटाई जाए महात्मा गांधी की फोटो, गोडसे को दिया धन्यवाद

S N Tiwari

DGP ने जारी किया आदेश, सिपाहियों से 8 घंटे ही कराई जाए ड्यूटी

Jitendra Nishad